Logo
May 23 2018 04:58 AM

76 फीसदी लोगों ने दुष्कर्म दोषियों को मौत की सजा पर जताई सहमती

Posted at: Apr 24 , 2018 by Dilersamachar 5032

दिलेर समाचार, नई दिल्ली। दुष्कर्म के दोषियों के लिए मौत की सजा को लेकर हुए एक सर्वे में 76 फीसद लोगों ने इस सजा को जायज ठहराया है. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा बच्चों से दुष्कर्म के दोषियों के लिए मौत की सजा का प्रावधान करने वाले अध्यादेश पर मुहर लगने के एक दिन बाद 'लोकलसर्किल' ने एक सर्वे किया. इस सर्वे में 40 हजार से लोगों ने हिस्सा लिया. जिसमें से 76 फीसदी लोगों ने कहा कि बच्चों से दुष्कर्म करने वालों को मौत की सजा मिलनी चाहिए. वहीं 18 फीसदी लोगों ने दुष्कर्म दोषियों को बिना पैरोल के जीवन भर उम्रकैद की सजा देने पर सहमति जताई, जबकि 3 फीसदी लोगों ने कहा कि सात साल जेल की सजा (जैसा अभी कानून है) होनी चाहिए.

 

 

दूसरे सर्वे में 89 फीसदी लोगों ने अपने-अपने राज्यों में एक ऐसा कानून पारित करने की इच्छा जताई जिसमें छह महीने के भीतर मौत की सजा सुनाई जाए. आपको बता दें कि, मध्य प्रदेश, राजस्थान, हरियाणा और अरुणाचल प्रदेश बाल दुष्कर्म के लिए मौत की सजा वाला कानून पहले ही पारित कर चुके हैं. यौन उत्पीड़न के मामलों को दर्ज करने के लिए अधिक महिला अधिकारियों को जोड़ने वाले एक अन्य सर्वे में पाया गया कि 78 फीसदी नागरिक प्रत्येक जिला स्तर पुलिस थाने में कम से कम एक महिला अधिकारी तैनात करने के समर्थन में हैं.

ये भी पढ़े: दंगल फिल्म की तरह गोल्डकोस्ट में भी बेटी को लड़ते नहीं देख पाए महावीर फोगाट


Tags:

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

STAY CONNECTED