Logo
August 21 2018 03:43 AM

मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने IIT दिल्ली, IIT बॉम्बे और IISC बेंगलुरु समेत 6 संस्थानों को मिला 'उत्कृष्ट संस्थान' का दर्जा

Posted at: Jul 10 , 2018 by Dilersamachar 5492
दिलेर समाचार, नई दिल्ली: मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने आज 6 यूनिवर्सिटियों को उत्‍कृष्‍ट संस्थान का दर्जा देने की घोषणा की. इनमें सार्वजनिक क्षेत्र के संस्थानों में आईआईटी दिल्ली, आईआईटी बॉम्बे और आईआईएससी बेंगलुरु शामिल हैं. मंत्रालय ने निजी क्षेत्र से मनिपाल एकेडमी ऑफ हायर एजुकेशन, बिट्स पिलानी और जियो इंस्टीट्यूट को भी उत्कृष्ट संस्थान का दर्जा प्रदान किया. मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने इस अवसर पर कहा कि देश के लिए उत्‍कृष्‍ट संस्थान (इंस्टीट्यूट आफ एमिनेंस) काफी महत्वपूर्ण है. हमारे देश में 800 यूनिवर्सिटियां हैं लेकिन एक भी यूनिवर्सिटी वर्ल्ड टॉप 100 या वर्ल्ड टॉप 200 की लिस्ट में शामिल नहीं है. आज के फैसले से इसे हासिल करने में मदद मिलेगी.
 उन्होंने कहा कि इससे इन संस्थानों के स्तर एवं गुणवत्ता को तेजी से बेहतर बनाने में मदद मिलेगी और पाठ्यक्रमों को भी जोड़ा जा सकेगा. इसके अलावा विश्व स्तरीय संस्थान बनाने की दिशा में जो कुछ भी जरूरी होगा, किया जा सकेगा. जावड़ेकर ने कहा कि रैंकिंग को बेहतर बनाने के लिए टिकाऊ योजना, पूरी तरह से स्वतंत्रता और सार्वजनिक क्षेत्र के संस्थानों को सार्वजनिक आर्थिक मदद की जरूरत होती है. उन्होंने कहा कि मोदी सरकार की प्रतिबद्धता हस्तक्षेप नहीं करने और संस्थानों को अपने अनुरूप आगे बढ़ने की अनुमति प्रदान करना है.
उन्होंने कहा कि इस दिशा में नरेन्द्र मोदी सरकार की ओर से एक और मील का पत्थर स्थापित करने वाली पहल की गई. विशेषज्ञ समिति की ओर से उत्कृष्ट संस्थानों का चयन किया गया है और आज हम 6 यूनिवर्सिटियों की लिस्ट जारी कर रहे हैं जिसमें 3 सार्वजनिक क्षेत्र के और 3 निजी क्षेत्र के संस्थान शामिल हैं. उन्होंने कहा कि इससे संस्थान अपना निर्णय ले सकेंगे. इससे यह सुनिश्चित होगा कि किसी भी स्टूडेंट को शिक्षा के अवसर और स्कॉलरशिप, ब्याज में छूट, फीस में छूट जैसी सुविधाओं से वंचित नहीं किया जा सके.
 
जावड़ेकर ने आईआईटी दिल्ली, आईआईटी बॉम्बे और आईआईएससी बेंगलुरु के साथ मनिपाल एकेडमी ऑफ हायर एजुकेशन, बिट्स पिलानी और जियो इंस्टीट्यूट को उत्कृष्ट संस्थान का दर्जा मिलने पर बधाई दी. उन्होंने उम्मीद जताई कि आने वाले समय में और संस्थानों को उत्कृष्ट संस्थान के रूप में मान्यता मिल सकेगी. जावड़ेकर ने कहा कि देश के आईआईटी में लड़कियों की हिस्सेदारी 14 फीसदी हो गई है और दो साल पहले की तुलना में यह 8 फीसदी बढ़ी है. मंत्री ने आईआईएससी बेंगलुरु को गौरव का विषय बताया और कहा कि इस संस्थान में बेहतर बनने की संभावना है.
 यह संस्थान सार्वजनिक क्षेत्र का संस्थान है, इसे ऑटोनॉमस बना दिया गया है, ताकि यह वास्तव में विश्व स्तरीय संस्थान बन सके. आईआईटी दिल्ली और आईआईटी बॉम्बे को बधाई देते हुए जावड़ेकर ने कहा कि इन दोनों उत्कृष्ट संस्थानों को सरकार आर्थिक मदद देगी, क्योंकि सार्वजनिक क्षेत्र के जिन संस्थानों को उत्कृष्ट संस्थान का दर्जा प्रदान किया गया है, उन्हें अगले पांच वर्षो के दौरान 1000 करोड़ रूपये का सरकारी अनुदान मिलेगा.

ये भी पढ़े: शेयर बाजार में बढ़ती तेजी से, सेंसेक्स ने 36000 और निफ्टी ने 10900 का आंकड़ा पार किया


Tags:

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

STAY CONNECTED