Logo
October 15 2018 06:16 PM

भारी तबाही की आशंका के मद्देनजर प्रशासन ने तीन लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया

Posted at: Oct 11 , 2018 by Dilersamachar 5100

दिलेर समाचार, नई दिल्ली: बंगाल की खाड़ी के ऊपर बुधवार को चक्रवाती तूफान ‘तितली’ (Cyclone Titli) के बेहद प्रचंड रूप लेने और ओडिशा तट की ओर आगे बढ़ने के बीच राज्य सरकार ने पांच तटीय जिलों के निचले क्षेत्रों से तीन लाख से लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया है. पूरी तरह चौकस ओडिशा सरकार ने इस आपदा का सामना करने के लिए अपनी पूरी मशीनरी झोंक दी है. यह तूफान गुरुवार तड़के गोपालपुर के समीप पहुंच सकता है. मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने तूफान (Titli Cyclone) से निपटने के लिए बचाव कार्यों का जायजा लिया. इस दौरान उन्होंने कहा कि इस भयंकर चक्रवात के मद्देनजर हमने पहले ही तीन लाख लोगों को वहां से खाली करा दिया है, जबकि और लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा सकता है. तैयारी की पुष्टि करने के लिए बुधवार रात विशेष राहत आयुक्त कार्यालय का दौरा करने के बाद पटनायक ने कहा कि चक्रवात कल सुबह पांच बजे पहुंच सकता है.

उन्होंने कहा कि गंजाम, खुर्दा, पुरी, जगतिसिंहपुर और केंद्रपाड़ा जैसे इलाकों में रहने वाले लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है. वहीं मुख्य सचिव ए पी पाधी ने कैबिनेट सचिव पी के सिन्हा को वीडियो कान्फ्रेंस के माध्यम से बताया कि राज्य ने स्थिति से निबटने के लिए सभी एहतियाती कदम उठाए हैं. राष्ट्रीय आपदा मोचन बल की 15 टीमों में 13 ओडिशा आपदा मोचन बल के साथ संकट संभावित क्षेत्रों में तैनात की गयी हैं. गौरतलब है कि मौसम विभाग ने कहा कि 140 से 150 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार वाली हवाएं ओडिशा और आंध्र प्रदेश के तटों पर 165 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार पकड़ सकती हैं और इनके साथ बारिश होगी.


मौसम विभाग के समुद्र में ऊंची लहरें उठने के पूर्वानुमान के मद्देनजर नवीन पटनायक ने हालात का जायजा लिया. उन्होंने अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने को भी कहा कि चक्रवात के चलते किसी भी व्यक्ति की जान नहीं जाए और लोगों के लिए चक्रवात आश्रय स्थलों को तैयार रखने को भी कहा. पटनायक ने राज्य में भारी से अत्यंत भारी बारिश के पूर्वानुमान के चलते अगले दो दिन तक सभी स्कूल-कॉलेजों और आंगनवाड़ी केंद्रों को बंद रखने का आदेश दिया.  गुरुवार को होने वाले कॉलेज छात्रसंघ चुनाव भी स्थगित कर दिए गए हैं. मुख्य सचिव ने एक सवाल के जवाब में कहा कि हमने अभी तक सेना की मदद नहीं मांगी है. अगर जरूरत पड़ी तो हम सहायता मांगेंगे.

तटीय ओडिशा के कुछ इलाकों में बुधवार को बारिश हुई. मौसम विभाग ने गुरुवार तक कई इलाकों में ‘‘भारी से बहुत भारी वर्षा’’ और कुछ इलाकों में ‘‘अत्यधिक भारी बारिश’’ का अनुमान जताया है. मौसम विभाग ने बताया कि गंजाम, गजपति, पुरी, जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा, खुर्दा, नयागढ़, कटक, जाजपुर, भद्रक और बालासोर जैसे जिलों में गुरुवार तक भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना है. इसे देखते हुए आम लोगों को सतर्क रहने की भी हिदायत दी गई है

ये भी पढ़े: इलेक्ट्रॉनिक्स नीति मसौदे में 2025 तक 400 अरब डॉलर के विनिर्माण उद्योग का लक्ष्य


Tags:

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

STAY CONNECTED