Logo
October 15 2018 05:59 PM

मन में शांति लाता है मां दुर्गा का दूसरा रूप, जानिए ब्रह्मचारिणी के बारे में सबकुछ

Posted at: Oct 11 , 2018 by Dilersamachar 5099

दिलेर समाचार, नई दिल्ली: Navratri 2018: नवरात्रि के दूसरे दिन मां दुर्गा (Maa Durga) के रूप ब्रह्मचारिणी (Brahmacharini) की पूजा की जाती है. मान्यता के अनुसार इन्हें तप की देवी कहा जाता है. क्योंकि इन्होंने भगवान शिव को पति के रूप में पाने के लिए कठोर तपस्या की थी. वह सालों तक भूखे प्यासे रहकर शिव को प्राप्त करने के लिए इच्छा पर अडिग रहीं. इसीलिए इन्हें तपश्चारिणी के नाम से भी जाना जाता है. ब्रह्मचारिणी या तपश्चारिणी माता का यही रूप कठोर परिश्रम की सीख देता है, कि किसी भी चीज़ को पाने के लिए तप करना चाहिए. बिना कठिन तप के कुछ भी प्राप्त नहीं हो सकता.


जानिए ब्रह्मचारिणी माता की कहानी
माता ब्रह्मचारिणी पर्वतराज हिमालय की पुत्री हैं. देवर्षि नारद जी के कहने पर उन्होंने भगवान शंकर की पत्नी बनने के लिए तपस्या की. इन्हें ब्रह्मा जी ने मन चाहा वरदान भी दिया. इसी तपस्या की वजह से इनका नाम ब्रह्मचारिणी पड़ा. इसके अलावा मान्यता है कि माता के इस रूप की पूजा करने से मन स्थिर रहता है और इच्छाएं पूरी होती हैं. 



माता ब्रह्मचारिणी को ऐसे पहचानें
मां दुर्गा के दूसरे रूप ब्रह्मचारिणी माता के एक हाथ में जप की माला और दूसरे में कमंडल रहता है. वह किसी वाहन पर सवार नहीं होती बल्कि पैदल धरती पर खड़ी रहती हैं. सिर पर मूकुट के अलावा इनका श्रृंगार कमल के फूलों से होता है. हाथों के कंगन, गले का हार, कानों के कुंडल और बाजूबंद सभी कुछ कमल के फूलों का होता है.

 



ऐसे करें मां ब्रह्मचारिणी की पूजा
जय अंबे ब्रह्माचारिणी माता 
जय चतुरानन प्रिय सुख दाता 
ब्रह्मा जी के मन भाती हो 
ज्ञान सभी को सिखलाती हो
ब्रह्मा मंत्र है जाप तुम्हारा 
जिसको जपे सकल संसारा 
जय गायत्री वेद की माता
जो मन निस दिन तुम्हें ध्याता 
कमी कोई रहने न पाए
कोई भी दुख सहने न पाए
उसकी विरति रहे ठिकाने 
जो ​तेरी महिमा को जाने
रुद्राक्ष की माला ले कर
जपे जो मंत्र श्रद्धा दे कर 
आलस छोड़ करे गुणगाना 
मां तुम उसको सुख पहुंचाना
ब्रह्माचारिणी तेरो नाम
पूर्ण करो सब मेरे काम
भक्त तेरे चरणों का पुजारी 
रखना लाज मेरी महतारी

 

ये भी पढ़े: मुस्लिम महिलाएं कर पाएंगी मस्जिदों में प्रवेश? हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर


Tags:

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

STAY CONNECTED