Logo
March 19 2019 01:03 AM

देश में पहली बार दर्ज हुआ चौंकाने वाला केस!

Posted at: Jan 7 , 2019 by Dilersamachar 5484

दिलेर समाचार, बिलासपुर । देश में संभवत: पहली बार छत्तीसगढ़ पुलिस ने मानव रोगक्षम अल्पता विषाणु और अर्जित रोगक्षम अल्पता संरक्षण निवारण व नियंत्रण अधिनियम की धारा 37 के तहत आपराधिक प्रकरण दर्ज किया है। बिलासपुर के सिविल लाइन थाने में दर्ज यह मामला जन्मजात एचआईवी पीड़ित युवती का तिरस्कार कर उसका नाम सार्वजनिक करने और निजी संस्थान से काम से निकालने का है। इस धारा का उल्लेख नेशनल क्राइम रिकार्ड ब्यूरो(एनसीआरबी) में भी नहीं है। ऐसे में इस प्रकरण को एनसीआरबी के रिकार्ड में जोड़ने के लिए ई-मेल से जानकारी भेजी गई है।

सिविल लाइन थाना में स्थित एक कैफे में काम करने वाली युवती जन्मजात एचआईवी पीड़ित है। इसकी जानकारी मोहल्ले के एक जनप्रतिनिधि को हुई। उसने महिला बाल विकास विभाग को इसकी सूचना दी। साथ ही उसे मोहल्ले से ले जाने के लिए बाध्य किया।

अधिकारियों ने उसे कुम्हारपारा स्थित स्वाधार केंद्र भेज दिया लेकिन, स्वधार केंद्र में युवती के साथ दुर्व्यवहार हुआ। उसका बिस्तर, कपड़ा व सामान अलग कर दिया गया। इससे युवती की हालत बिगड़ने लगी। इसके साथ ही कैफे में भी उसके एचआईवी पीड़ित होने की जानकारी दे दी गई।

इसके चलते उसे काम से निकाल दिया गया। इसकी भनक स्थानीय अधिवक्ता व समाजसेवी को हुई, तब उन्होंने मामले की शिकायत महिला बाल विकास विभाग के साथ ही पुलिस से की। महिला बाल विकास विभाग 

ये भी पढ़े: कंफर्म : अर्जुन कपूर को डेट कर रही हैं मलाइका


Tags:

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

STAY CONNECTED