Logo
September 21 2019 06:49 PM

DM से मांगा 7 'मुर्दा' लोगों ने इंसाफ, कहा- 'साहब पेंशन बंद हो गई है'

Posted at: Sep 12 , 2019 by Dilersamachar 5394

दिलेर समाचार, बदायूं: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के बदायूं (Badaun) से सरकारी कर्मचारियों की एक बड़ी लापरवाही सामने आई है. यहां ग्राम पंचायत सचिव ने पेंशन योजना के तहत पेंशन पा रहे 7 लोगों को सत्यापन में मृत घोषित कर दिया. सातों लोग अपने जिंदा होने का दावा करते हुए डीएम से शिकायत की है. मामले में हुई लापरवाही को देखते हुए डीएम ने ग्राम पंचायत सचिव पर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं.

मामला सदर तहसील इलाके के ब्लॉक सालारपुर के गांव के हुसैनपुर करौतिया का है. यहां के रहने वाले निशारहुसैन, अफसर, अलाउद्दीन, चम्पा, मिराजन, अकीला, अफसर को ग्राम पंचायत सचिव नवीन कुमार माहेश्वरी ने मृत घोषित कर दिया. इस सभी का उम्र 60 साल से ज्यादा की है और ये पेंशन योजना के लाभार्थी थे.

इन लोगों को इनके मृत होने का पता तब चला, जब वह बैंक में पेंशन का पैसा निकालने पहुंचे, तो उन्हें पता चला कि विकास भवन स्थित समाज कल्याण विभाग की ओर से पैसा उनके खाते में ही नहीं आया है.

मामले की जानकारी के बाद ये सभी पूर्व प्रधान शहंशाह आलम के पास पहुंचे. पूर्व प्रधान शहंशाह आलम ने विकास भवन जाकर देखा तो सातों लोग कागजों में मृत पाए गए, जिस पर सभी पीड़ित अपनी शिकायत लेकर डीएम के पास पहुंचे. डीएम ने मामले के संगीनता को देखकर तुरंत कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं.

आपको बता दे की मामले में डीएम ने संज्ञान लेते हुए समाज कल्याण विभाग के अधिकारियों से पूछताछ की तो कागजों में सातों लोगों के मरने होने की पुष्टि हुई. इस पर डीएम ने ग्राम पंचायत सचिव पर सख्ती कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं. डीएम का कहना है कि यह बहुत घोर लापरवाही है. इसे किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

ये भी पढ़े: चंद्रयान-2 मिशन के वक्त पीएम मोदी की इसरो में मौजूदगी को एचडी कुमारस्वामी ने बताया ‘अशुभ’


Tags:

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED