Logo
May 29 2020 08:52 AM

इस रिपोर्ट के अनुसार, पद का दुरुपयोग कर ट्रंप जीतना चाहते हैं अगला चुनाव

Posted at: Sep 27 , 2019 by Dilersamachar 5827

दिलेर समाचार, वाशिंगटन। अमेरिका में एक संसदीय समिति ने रिपब्लिकन पार्टी के नेता और राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बारे में एक व्हिसलब्लोअर की रिपोर्ट सार्वजनिक की है। इसमें ट्रंप पर आरोप लगाया गया है कि उन्होंने अपने निजी फायदे के लिए पद का दुरुपयोग कर रहे हैं। रिपोर्ट को लेकर पीछे कई हफ्ते विवाद रहा और इसी के बाद हाउस स्पीकर नैंसी पेलोसी ने राष्ट्रपति ट्रंप के खिलाफ औपचारिक महाभियोग जांच शुरू करने का आदेश दिया है।

अब डेमोक्रेटिक पार्टी के बहुमत वाले हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव की इंटेलिजेंस कमेटी ने रिपोर्ट को सार्वजनिक किया है। रिपोर्ट तैयार करने वाले व्हिसलब्लोअर की पहचान नहीं बताई गई है। मगर, इसमें कहा गया है कि साल 2020 का राष्ट्रपति चुनाव जीतने के लिए वह अपने पद का दुरुपयोग कर रहे हैं। उन्होंने यूक्रेन के राष्ट्रपति से इस संबंध में फोन पर बात की थी। रिपोर्ट में यह दावा भी किया गया है कि व्हाइट हाउस ने फोन पर हुई इस बातचीत को दबाने की कोशिश की थी।

कमेटी के चेयरमैन और डेमोक्रेटिक नेता एडम स्किफ ने कहा- उन्हें शिकायत मिली थी और उन्होंने इसे सार्वजनिक कर दिया है। रिपोर्ट में व्हिसलब्लोअर ने कहा है कि यह घटनाक्रम बहुत चिंताजनक है। यह पद का दुरुपयोग और कानून का उल्लंघन है। यह केवल वैचारिक मतभेद का मामला नहीं है। ट्रंप ने 25 जुलाई को यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की से फोन पर बात की थी। उन्होंने जेलेंस्की पर जो बिडेन और उनके बेटे के खिलाफ जांच करने का दबाव बनाया था।

इसमें उन्हें अमेरिका के अटॉर्नी जनरल विलियम बार और ट्रंप के निजी वकील रूडी गुइलियानी की मदद मिलने की बात भी कही गई थी। जो बिडेन डेमोक्रेटिक पार्टी की ओर से अगले राष्ट्रपति चुनाव के लिए अहम दावेदार हैं। बिडेन के बेटे हंटर ने यूक्रेन में एक गैस खनन कंपनी के लिए काम किया था। ट्रंप ने यूक्रेन के राष्ट्रपति को उस वक्त फोन किया था, जब उनके प्रशासन ने यूक्रेन को दी जाने वाली करीब 40 करोड़ डॉलर (करीब 2800 करोड़ रुपए) की मदद रोक दी थी।

बाद में यूक्रेन को यह मदद दे दी गई थी। रिपोर्ट में कहा गया है कि व्हाइट हाउस के छह से ज्यादा अधिकारियों ने इस मामले में संपर्क किया था। यूक्रेन पर दबाव डालने की इस कोशिश को अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए बड़ा खतरा बताया गया है। साथ ही इसे अमेरिकी चुनाव में विदेशी हस्तक्षेप की कोशिश भी माना गया है।

 

ये भी पढ़े: Google 21st Birthday: कुछ इस अंदाज में मना रहा है गूगल अपना 21वां जन्मदिन


Tags:

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED