Logo
January 28 2023 04:18 AM

पहलवानी के साथ साथ वाद-विवाद प्रतियोगिता में भी अव्वल रहे पहलवान कृपाशंकर

Posted at: Feb 9 , 2020 by Dilersamachar 19167
दिलेर समाचार, उदयपुर : यात्रियों की नजर में भारतीय रेलवे की इमेज सुधारना व सुविधा बेहतर करना भारतीय रेल मंत्रालय की प्राथमिकता है ।  इसके लिए रेलवे के फ्रंट लाइन मुलाजिमों को ट्रेनिंग देने का भी कार्य किया जाता है । रेलवे बोर्ड की तरफ से कस्टमर केयर एंड सॉफ्ट स्किल ट्रेनिंग प्रोग्राम भी तैयार किया गया है । इसी संबंध में क्षेत्रीय रेल प्रशिक्षण संस्थान, उदयपुर में 2020 सत्र के दौरान कस्टमर केयर 'सेमिनार' मे डिवेड भाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया गया । जिसमें इंदौर के अर्जुन पुरस्कार विजेता व प्रसिद्ध फिल्म दंगल के लिए मिस्टर परफेक्शनिस्ट आमिर खान के साथ ही महिला अभिनेत्रियों को कुश्ती के गुर सिखाने वाले पहलवान कृपाशंकर बिश्नोई ने जीत दर्ज की है | कृपाशंकर वर्तमान मे इंदौर स्टेशन पर मुख्य टिकट निरक्षक के पद पर पदस्थ है | उन्होने उक्त प्रतियोगिता मे दूसरा स्थान प्राप्त किया | फिलहाल कृपाशंकर बिश्नोई को वाणिज्य विभाग लेवल 3 के पद का प्रारंभिक / पदौन्नति सत्र के लिए रतलाम मण्डल ने चुना है | वह रेल प्रशिक्षण संस्थान उदयपुर मे सीसी/टीसी का प्रशिक्षण सत्र 2 जनवरी से 17 फरवरी 2020 तक  के लिए चयनित किए गए है जहा उन्होने कुश्ती के साथ-साथ पढ़ाई व डिवेड प्रतियोगिताओ में भी अव्वल रहे है |
 
इस उपलब्धि पर प्रतियोगिता के जज व निर्णायक श्री उमराव मीना ने भी कृपाशंकर के कार्य की प्रशंसा करते हुये कहा की कृपाशंकर पहलवान होने के साथ साथ इतना अच्छा भाषण देगे इसकी कल्पना हमे पहले से ही थी क्यूकी खिलाड़ी खेलने के साथ - साथ दैनिक व्यवहार के स्तर को भी काफी उचा उठा लेता है | हर व्यक्ति को खेल मे भी भाग लेना चाहिए क्यूकी खेलने से सर्वांगीण विकास होता है खिलाड़ियो मे चतुराई के साथ साथ अच्छी प्रवीणता भी होती है आज देखने को मिला | इस अवसर पर कृपाशंकर ने बताया की कस्टमर एंड सॉफ्ट स्किल ट्रेनिंग प्रोग्राम में पूरे साल मुलाजिमों के लिए कार्यशाला आयोजित की जाती । कार्यशाला में फ्रंट लाइन कर्मचारियों जिसमें टीटीई, टीसी, सिटियाई, बुकिंग क्लर्क, पार्सल कर्मचारियों को रेल यात्रियों से अच्छे तरीके से व्यवहार करने के टिप्स दिए जाते है । किस तरह परेशान यात्रियों का सहयोग करे । कैसे उनकी समस्याओं को सुनकर उनका समाधान करें व अगर मौके पर कर्मचारी समाधान नहीं कर पाते हैं तो किस तरह से उनकी भावनाओं को समझते हुए उनकी पूरी बात सुनेंगे । कार्यक्रम के अंत मे विजेता-उपविजेता को मुख्य प्रशिक्षक रामेश्वर जी ने शील्ड व प्रमाण पत्र प्रदान किया।

ये भी पढ़े: दिल्ली के गार्गी कॉलेज में छात्राओं के साथ छेड़छाड़, प्रिंसिपल ने छात्राओं पर ही उठाए सवाल

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED