Logo
September 22 2021 08:14 PM

सीमा पर पूर्वस्थिति बदलने की चीन की ना'पाक' कोशिश से बना टकराव का माहौल- सेना प्रमुख

Posted at: Feb 13 , 2021 by Dilersamachar 9267

दिलेर समाचार, नई दिल्ली। सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवाने ने शुक्रवार को कहा कि भारत के पड़ोस में चीन के बढ़ते प्रभाव और विवादित सीमाओं पर पूर्वस्थिति बदलने की उसकी एकतरफा कोशिश ने टकराव और आपसी अविश्वास का माहौल बनाया है। एक सेमिनार को संबोधित करते हुए जनरल नरवाने ने कहा कि चीन और अमेरिका के बीच प्रतिद्वंद्विता ने क्षेत्रीय असंतुलन और अस्थायित्व का निर्माण किया है। उन्होंने कहा कि हिंद प्रशांत क्षेत्र में चीन की आक्रामकता, कमजोर देशों के प्रति उसकी शत्रुता और बेल्ट एंड रोड इनीशिएटिव जैसी योजनाओं के जरिये क्षेत्रीय निर्भरता की स्थिति निर्मित करने के उसके अभियान ने क्षेत्रीय सुरक्षा माहौल को प्रभावित किया है।

सेना प्रमुख ने यह टिप्पणी ऐसे समय की है जब पूर्वी लद्दाख में भारत-चीन की सेनाओं को पीछे हटाने की प्रक्रिया जारी है। क्षेत्र में भू-राजनीतिक घटनाक्रमों का जिक्र करते हुए जनरल नरवाने ने नेपाल में चीन के बढ़ते निवेश और वहां जारी राजनीतिक अस्थिरता के दौर की भी बात की।अपने संबोधन में सेना प्रमुख ने चीन के प्रभाव को संतुलित करने के उपायों के एक हिस्से के रूप में पूर्वोत्तर क्षेत्र की क्षमताओं का इस्तेमाल करने की जरूरत पर बल दिया।

उन्होंने कहा कि वादे निभाने की विफलता और समय पर कार्य पूरे नहीं करने से क्षेत्रीय कनेक्टिविटी सुधारने के प्रयासों में मुश्किलें पैदा हुईं। कलादान मल्टीमाडल ट्रांसपोर्ट प्रोजेक्ट और ट्राइलेटरल हाईवे दोनों ने लागत और समयावधि की सीमाओं को पार किया।आंतरिक मोर्चे के जिक्र पर जनरल नरवाने ने कहा कि बुनियादी ढांचे के विकास में कई चुनौतियां आती रही हैं। कई एजेंसियों की संलिप्तता, धन के विभिन्न स्त्रोत और पर्यावरण कारक बड़ी बाधाएं हैं।

ये भी पढ़े: Weather Updates: दिल्ली-NCR में घना कोहरा, जानें अपने राज्य का हाल

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED