Logo
August 9 2020 12:03 PM

बाल कथा : चिडि़या झुंड के साथ ‘ट’ के आकार में क्यों उड़ती है

Posted at: Jul 2 , 2020 by Dilersamachar 5146

दिलेर समाचार, आकाश मिश्रा।

अक्सर आपने देखा होगा आसमान मे पक्षी ट-आकार मे उड़ते हुए दिखाई देते हैं। पक्षियों का समुह कुछ इस प्रकार से उड़ते हुए अपनी मंजिल तय करता है कि उड़ते समय उन सबकी आकृति ट के आकार की हो जाती है, ये प्रक्रिया सभी पक्षी नहीं करते। खासकर ऐसे पक्षी जो घुम्मकड़ या माइग्रेटरी बर्ड होते हैं वो करते हैं। माइग्रेटरी बर्ड मतलब ऐसे पक्षी जो भोजन, प्रजनन और अपनी जीवन की मूलभूत आवश्यक्ताओं के लिए एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाते हैं, ऐसे पक्षी को माइग्रेरटरी बर्ड कहते हैं। 

तो सवाल ये है कि आखिर ‘ट’ के आकार में ही क्यों उड़ती हैं चिडि़यां?

- ऊर्जा संरक्षण: हां, ऊर्जा का बचाव भी इस तरीके से उड़ने का एक महत्त्वपूर्ण कारण है क्योंकि पक्षियों का सबसे ज्यादा ऊर्जा का इस्तेमाल उड़ने में ही होता है इसलिए जब सबसे आगे वाला पक्षी अपने पंख को हिलाते हुए आगे की ओर बढ़ता है तो उसके ठीक पीछे के क्षेत्रा में हवा नीचे की ओर जाती है और उसके बगल वाली हवा ऊपर की ओर उठती है। ये बगल वाली ऊपर की ओर उठती हवा पीछे के पक्षी के लिए कम एनर्जी का इस्तेमाल के साथ उड़ने मंे सहायक होती है। इसी के चक्कर में पीछे वाला पक्षी अपने आगे वाले पक्षी से हल्का साइड में उड़ता है क्योंकि वहाँ वह ऊपर उठती हवा के मदद से कम एनर्जी में उड़ सकता है। ऐसे ही सब पक्षी एक दूसरे के पीछे हल्का साइड में रहकर ऊपर उठती हवा के माध्यम से कम एनर्जी का इस्तेमाल या ऊर्जा बचाते हुए उड़ते हैं और ट आकृति का निर्माण हो जाता है।

ये हम नहीं कह रहे। कई रिसर्च में ऐसा सामने आया है कि सबसे आगे वाला पक्षी अन्य पीछे पक्षियों की तुलना में ज्यादा ऊर्जा खर्च करता है और जल्दी थक जाता है क्योंकि ज्यादा ऊर्जा खर्च करता है और जल्दी थक जाता है। आप समझ गये होंगे!

तो सवाल ये कि आगे कौन पक्षी रहता है? 

इन माइग्रेटरी बर्ड में सबसे आगे रहने के लिए भी कोई फिक्स पक्षी नहीं होता है। उड़ते समय पक्षियों की पोजीशन बदलती रहती है जैसे यदि आगे का पक्षी उड़ते उड़ते थक जाता है तो उसकी जगह पर कोई उन्हीं के समूह का दूसरा पक्षी उसका स्थान ले लेता है! कुछ रिसर्च में यह भी देखा गया है! कि जो पक्षी बड़ा बुजुर्ग होता है मतलब जिनको रास्ते पता होते हैं, वही पक्षी आगे की कमान सम्भालते हैं।

- अपने दुश्मनों से बचने के लिए भी ट आकार फार्मूला अपनाते हैं - हां, इस कारण की इतनी वैधता तो नहीं है लेकिन कुछ जंतु व्यवहार की किताबों में इसका वर्णन है कि छोटे पक्षी के समूह के सभी पक्षी मिलकर एक बड़े ‘ट’ के आकार की आकृति या एक बड़े पक्षी की तरह आकृति बना लेते हैं जिससे वो अपने शिकारी को चकमा दे देते हैं और शिकारी पक्षी को लगता है कि यह एक बहुत बड़ा पक्षी है और शिकारी पक्षी दूर से ही डरकर भाग जाता है!

ये भी पढ़े: बाल कहानी : सबसे सुंदर कौन


Tags:

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED