Logo
July 25 2021 02:40 AM

Bhang during Holi: होली पर भांग पीने की सोच रहे हैं, तो इस खबर को न करें इग्नोर!

Posted at: Mar 27 , 2021 by Dilersamachar 12354

दिलेर समाचार, नई दिल्ली: भारत में महाशिवरात्रि और होली के मौके पर भांग का सेवन किया जाता है. होली पर तो ठंडई में भांग मिलाकर पीने का खूब चलन है. लेकिन क्या ऐसा करना आपकी सेहत के लिए फायदेमंद है? भांग के बीज को हेम्प सीड (Hemp) कहा जाता है भांग को उसके पौधे की पत्तियों से तैयार किया जाता है. ऐसी कई आयुर्वेदिक दवाइयां भी हैं जिसे बनाने में भी भांग का इस्तेमाल किया जाता है. बहुत अधिक मात्रा में भांग का सेवन करने से नशा हो सकता है और यह सेहत के लिए नुकसानदेह भी है, लेकिन सही मात्रा और सही तरीके से लेने पर भांग के कुछ फायदे भी हो सकते हैं.

भांग को उसके साइकोएक्टिव इफेक्ट के लिए जाना जाता है. यह आपके मस्तिष्क और नर्वस सिस्टम पर असर डालता है. भांग के पौधे को Cannabis sativa कहा जाता है जिसमें कैनाबिनॉयड्स नाम का केमिकल कम्पाउंड होता है जो याद्दाश्त बेहतर करने, इम्यूनिटी बढ़ाने, चीजों को सीखने आदि में मदद कर सकता है. इसके अलावा भांग के बीजों में एंटीऑक्सिडेंट्स, प्रोटीन, ओमेगा-3, फाइबर, ओमेगा-6 फैटी एसिड जैसे पोषक तत्व भी पाए जाते हैं जो शरीर के लिए जरूरी माने जाते हैं.

अमेरिका के कुछ हिस्सों में जी मिचलाने और उल्टी के इलाज के लिए भांग के इस्तेमाल को मंजूरी भी दी गई है. कैंसर के मरीजों में कीमोथेरेपी के दौरान अक्सर जी मिचलाने और उल्टी की समस्या देखने को मिलती है. ऐसे लोगों पर की गई रिसर्च में भांग फायदेमंद साबित हुई. हालांकि लंबे समय तक इसका इस्तेमाल करना चाहिए या नहीं इस बारे में डॉक्टर से सलाह लेना जरूरी है.

 कई स्टडीज में यह बात सामने आयी है कि अगर किसी व्यक्ति को लंबे समय से शरीर में किसी तरह के दर्द की समस्या हो (क्रॉनिक पेन) तो उसे भी दूर करने में मदद कर सकता है भांग. रूमेटाइड आर्थराइटिस और फाइब्रोमायल्जिया जैसी बीमारियों में लोगों को बहुत दर्द होता है. ऐसे लोग दवा के तौर पर भांग का सेवन कर सकते हैं.

 - भांग का इस्तेमाल कई मानसिक बीमारियों में भी किया जाता है. जिन लोगों को एकाग्रता की कमी होती है, उन्हें डॉक्टर सही मात्रा में भांग का इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं.

 - जिन लोगों को बार-बार पेशाब करने की बीमारी होती है, उन्हें भांग के इस्तेमाल की सलाह दी जाती है.

 - कान का दर्द होने पर भांग की पत्तियों के रस को कान में डालने से दर्द से राहत मिलती है.

 - जिन्हें ज़्यादा खांसी होती है, उन्हें भांग की पत्तियों को सुखा कर, पीपल की पत्ती, काली मिर्च और सोंठ मिलाकर सेवन करने की सलाह दी जाती है.

 भांग के नुकसान

-भांग का सेवन करते ही बहुत से लोगों में उन्माद महसूस होने लगता है लेकिन इसके अलावा भांग की वजह से बहुत से लोगों में पैनिक, डर या डिप्रेशन की समस्या भी हो सकती है.

-बहुत अधिक मात्रा में भांग पीने या खाने से साइकोसिस या पैरानोया जैसी बीमारियां हो सकती हैं, कुछ समय के लिए मेमोरी कम हो सकती है.

 -अगर बहुत ज्यादा मात्रा में भांग का सेवन किया जाए तो दिमाग ठीक से काम करना बंद कर देता है, चिंता बढ़ जाती है. कुछ लोग अजीब-अजीब सी हरकतें भी करने लगते हैं.

 -इतना ही नहीं कई बार भांग पीने या खाने की वजह से ब्लड प्रेशर बहुत बढ़ जाता है जिससे हार्ट अटैक की आशंका रहती है और सांस लेने की परेशानियां बढ़ सकती हैं.

 -प्रेग्नेंसी के दौरान अगर कोई महिला गलती से भी भांग का सेवन कर ले तो समय से पहले बच्चे का जन्म, जन्म के वक्त बच्चे का कम वजन और बच्चे के ब्रेन का सही तरीके से विकास न होने जैसी समस्याएं हो सकती हैं. 

 (नोट: किसी भी उपाय को करने से पहले हमेशा किसी विशेषज्ञ या चिकित्सक से परामर्श करें. दिलेर समाचार, इस जानकारी के लिए जिम्मेदारी का दावा नहीं करता है.).

 

ये भी पढ़े: Diet for Strong Bones: डाइट में जरूर शामिल करें ये सुपरफूड्स, बुढ़ापे में भी मिलेगा जवानी का अहसास


Tags:

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED