Logo
March 30 2020 02:31 AM

बड़ा रहस्य : इसलिए केवल दाढ़ी रखते हैं मुस्लिम मूछ नहीं

Posted at: Aug 2 , 2017 by Dilersamachar 7640

 दिलेर समाचार, हर व्यक्ति के दिमाग में हर धर्म को लेकर एक तस्वीर बनी रहती है। जैसे कि अगर किसी व्यक्ति ने पगड़ी पहनी है तो वह पंजाबी होगा या अगर किसी ने धोती पहनी है तो वह हिंदू ही होगा और अगर किसी ने टोपी पहनी है तो वह मुसलमान ही होगा। हम व्यक्ति को देखते ही सबसे पहले उसका धर्म पहचान लेते हैं और उसी को दिमाग में रख ना चाहते हुए भी व्यक्ति का आकलन करने लगते हैं। यह कुछ नहीं केवल हमारे दिमाग का फितूर है।

हर चीज के पीछे एक कारण होता है। वैसे ही इस्लाम में केवल दाढ़ी रखने के पीछे भी एक कारण है।

आज हम आपको वही बताएंगे कि क्यों मुस्लिम केवल दाढ़ी रखते हैं, मूछ नहीं

वैसे तो कहते हैं कि हिंदू धर्म ही सबसे पुराना और सनातन धर्म है। हिंदू धर्म में अनेक ग्रंथ और पुराण है जो विज्ञान से लेकर भविष्य में होने वाली घटनाओं को भी बतलाती हैं। ऐसा ही एक हिंदू ग्रंथ है भविष्य पुराण, जिस में इस्लाम का आना, उसका कारण और उससे जुड़ी घटनाओं का उल्लेख मिलता है।

इस पुराण में लगभग 50,000 श्लोक थे लेकिन इस पुराण को मुगल शासनकाल मे जला दिया गया, जब यह पुराण तक्षशिला विश्वविद्यालय में रखी गई थी जिसके कारण इस पुराण के कुछ अध्याय जल गए और केवल 129 अध्याय, लगभग 14000 श्लोक ही बचे।

इस पुरान में इस बात का भी वर्णन था कि राजा हर्षवर्धन, अलाउद्दीन, तुगलक, तैमूर, बाबर और अकबर जैसे लोग आएंगे।

इसी पुरान में ईसा मसीह के जन्म का भी वर्णन मिलता है।

इन सब के आने से पूर्व ही भारत के एक शक्तिशाली राजा, जिनका नाम था राजा भोज जिन्हे यह आभास हो गया था कि भारत की शक्ति कमजोर पड़ रही है। इससे पहले कि वह कमजोर हो जाएं उन्हें दुनिया में अपना वर्चस्व कायम करना होगा। उन्होंने अपनी 10,000 सेना को साथ लेकर अनेक विद्वानों और कालिदास जैसे बुद्धिजीवी राजा के साथ आगे बढ़े।

उन्होंने कश्मीर में शठ राजाओं को हराकर सिंधु नदी पार करके गंधार में अपना वर्चस्व कायम किया और राजा भोज की सेना ईरान और अरब होते हुए मक्का पहुंची । वहां के गुरु स्थल में जैसे ही वह पहुंचे तो उन्होंने वहां पर एक शिवलिंग देख । राजा भोज ने उस शिवलिंग की पूजा की थी । राजा भोज को वह स्थान अच्छा लगा ।

राजा भोज शिव जी के बहुत बड़े भक्त थे । उस रात जब राजा भोज और उनकी सेना वहां सो रहे थे तो उनको स्वपन में भगवान शिव आए । भगवान शिव ने राजा भोज को मक्केश्वर (जिसे आज मक्का कहा जाता है) की जगह उज्जैन मे स्थित महाकालेश्वर जाने को कहा । भगवान शिव के दर्शन पाते ही राजा भोज को मक्केश्वर में हो रही घटनाओं का आभास हुआ ।

उन्हें पता चला कि मक्केश्वर में राक्षस त्रिपुरासुर, जिसका भगवान शिव ने वध किया था, को मानने वाले व्यक्तियों को असुर राज बाली का संरक्षण प्राप्त हो रहा है । जिसकी नकारात्मक ऊर्जा उस समुदाय का प्रमुख महा-मद — मद से भरा हुआ व्यक्ति जिसे आज मोहम्मद कहते हैं — के रूप में उन लोगों का नेतृत्व कर रही है। उस समय महा-मद ने अरब में उत्पात मचा रखा था।

 राजा भोज भगवान शिव का आदेश समझकर जब महाकालेश्वर जाने लगे तो वहां महा-मद पहुंच गए, उन्होंने राजा भोज से कुछ ऐसा कहा:

“महादेव ने त्रिपुरासुर का वध चाहे कर दिया हो, लेकिन मैं उसके मकसद को आगे अवश्य बढ़ाऊंगा। महादेव से प्राप्त की हुई यह शक्तियां उन्हीं के विरोध में प्रयोग करूंगा और एक ऐसे वर्ग की स्थापना करूंगा जो अपनी क्रूरता के लिए जाना जाएगा, जिनका केवल एक ही मकसद होगा: त्रिदेवों का नाश करना और उनको पूछने वालों का सर्वनाश करना त्रिदेव हमारे लिए शैतान होंगे और उनको मैं ऐसे तैयार करूंगा कि वह इस्त्री लोभ में भी ना आए। अब तुम्हारे शिव की उल्टी परिक्रमा हुआ करेगी, जो उनके भक्तों को याद दिलाता रहेगा कि उनका विपरीत समय आरंभ हो चुका है। ना ही उनको तिलक होगा, ना ही इनको मूछे होंगी और जो भी तुम्हें प्रिय होगा उसका नाश कर हमारा वर्ग उसे खाया करेगा़े। जल्द ही मैं तुम्हारे स्थान में आऊंगा, जो स्थान शिव को बेहद प्रिय है मैं वहीं से यह सब आरंभ करूंगा, और मैं तुम्हें वचन देता हूं जब मैं वहां आऊंगा तभी अपनी मूछों के बाल वहां काटूंगा और अपने उद्देश्य को आरंभ करूंगा।”

कश्मीर में स्थित हजरत बल मस्जिद में आज भी मोहम्मद के मूछों के बालों को सुरक्षित रखा गया है जिसे मोई-ए-मुकद्दस के नाम से जाना जाता है। इन बालों को एक बक्से में रखा गया हैजिसे साल में एक या दो बार खोला जाता है, जिससे कि बाकी मुसलमान उसके दर्शन कर सकें।

हो सकता है आपको भविष्य पुराण वाली बात पर विश्वास ना हो रहा हो और कुछ तो लोगों को ऐसा लग रहा होगा यह तो केवल एक बकवास है जैसे कि उन्होंने भविष्यपुराण पढ़ रखी हो। पिज़्ज़ा, बर्गर खाने वालों को सात्विक भोजन का अंदाज़ा कम ही लगता है।

ये भी पढ़े: इस वजह से नीतीश कुमार ने दिया CM पद से इस्तीफा और टूट गया महागठबंधन


Tags:

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED