Logo
June 19 2021 05:57 PM

15 दिन में पैसे डबल करने के नाम पर 250 करोड़ की ठगी

Posted at: Jun 9 , 2021 by Dilersamachar 9430

दिलेर समाचार, देहरादून/नोएडा. उत्तराखंड एसटीएफ (Uttarakhand STF) ने एक बड़ी ठगी का खुलासा किया है. जबकि एसटीएफ ने 250 करोड़ रुपये (250 Crores Cheating) की ठगी के मामले में यूपी के नोएडा से एक आरोपी को गिरफ्तार किया है. हैरानी की बात यह है कि ये ठगी सिर्फ 4 महीने के अंतराल में की गई है. जबकि इस ठगी को चीन की स्टार्टअप योजना के तहत बने ऐप से अंजाम देने का खुलासा हुआ है.

बता दें कि चीन की स्टार्टअप योजना के तहत बने 'पावर बैंक ऐप' को अब तक भारत में करीब 50 लाख लोग डाउनलोड कर चुके हैं. जबकि इस ऐप के जरिये लोगों को 15 दिन में पैसे डबल होने का लालच दिया जाता था. इसी वजह से महज 4 महीने में ठगों ने 250 करोड़ का लोगों को चूना लगा दिया.

ठगी करने वालों द्वारा लोगों से पॉवर बैंक ऐप को डाउनलोड करने के लिए कहा जाता था. जब लोग इस ऐप को डाउनलोड कर लेते थे, तो उन्‍हें 15 दिन में पैसे डबल होने का लालच दिया जाता था. हैरानी की बात ये है कि यह धंधा करीब चार महीने से चल रहा था, लेकिन पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लगी. जबकि इस पूरे मामले का खुलासा उत्तराखंड के हरिद्वार के रहने वाले व्‍यक्ति की शिकायत के बाद हुआ है. शिकायतकर्ता ने पुलिस को सूचना दी कि एक 'पावर बैंक ऐप' में 15 दिन में पैसे डबल करने के लिए उसने दो बार में 93 हजार और 72 हजार जमा किए थे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ है. इसके साथ उसने ठगी की शिकायत पुलिस थाने की.

शिकायत मिलने के बाद पुलिस को छानबीन में पता चला कि पैसे अलग-अलग खातों में ट्रांसफर कराए गए हैं. इसके बाद जब वित्‍तीय लेने देन की जांच की तो 250 करोड़ रुपये की ठगी सामने आने से पुलिस के होश उड़ गए.

इस मामले को लेकर उत्तराखंड एसटीएफ एसएसपी अजय सिंह ने कहा कि पुलिस की जांच में ठगी करने वाले विदेशी निवेशकों द्वारा भारत के कारोबारियों को कमीशन का लालच देकर ऐप के जरिए लोगों को लोन देने की बात करते थे. इसके बाद इसमें बदलाव कर लोगों को 15 दिन में पैसे डबल करने का लालच देकर पैसे निवेश किए जाने लगे. जबकि भरोसा कायम करने के लिए पैसा एक ही खाते डलवाकर भारत के कुछ लोगों वापस भी किया गया.

ये भी पढ़े: डेल्टा, बीटा वेरिएंट के खिलाफ असरदार है कोवैक्सीन


Tags:

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED