Logo
December 9 2019 07:13 PM

चेले विराट कोहली की विफलता का कोच राजकुमार ने कुछ 'ऐसे' किया बचाव

Posted at: Jul 30 , 2018 by Dilersamachar 5854

दिलेर समाचार,नई दिल्ली: भारतीय कप्तान विराट कोहली के कोच राजकुमार शर्मा ने अपने चेले के साल 2014 में इंग्लैंड दौरे में किए गए प्रदर्शन का बचाव किया है. कोहली तब बल्ले से इतने नाकाम रहे थे कि तब का यह प्रदर्शन अभी भी क्रिकेटप्रेमियों के जहन में बसा हुआ है. शर्मा के अनुसार पिछले चार साल में बहुत कुछ बदल चुका है और विराट कोहली क्रिकेट जगत में बल्लेबाजी के बादशाह बन चुके हैं. यही वजह है कि उनके बचपन के कोच राजकुमार शर्मा को लगता है कि इंग्लैंड के खिलाफ एक अगस्त से शुरू होने वाली पांच टेस्ट मैचों की सीरीज में भारतीय कप्तान के बल्ले को रोकना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन होगा. दरअसल कोहली के साल 2014 में  इंग्लैंड में प्रदर्शन उनके चाहने वालों को चिंतित किए हुए हैं


शर्मा ने कहा कि लोगों को लगता है कि विराट को कुछ साबित करना है लेकिन अब विराट को कुछ साबित नहीं करना है. वह चार साल पुराना वाक्या है और वह उसे भूल चुका है. उसके बाद उसने काफी कुछ हासिल किया है और वह पूरी तरह से बदला हुआ खिलाड़ी बन गया है. इंग्लैंड के उस दौरे के बाद कोहली ने दुनिया भर में अपनी बल्लेबाजी का डंका बजवाया. उन्होंने भारत के अलावा ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण अफ्रीका, वेस्टइंडीज और श्रीलंका में सैकड़े जड़े. असल में 2014 के इंग्लैंड दौरे के बाद कोहली ने जो 37 टेस्ट मैच खेले उनमें 64.89 की औसत से 3699 रन बनाए जिसमें 15 शतक शामिल हैं. 

कोहली को क्रिकेट का ककहरा सिखाने वाले द्रोणाचार्य पुरस्कार विजेता शर्मा ने कहा कि अब उन पर किसी तरह का दबाव नहीं है और उन्हें किसी को कुछ साबित भी नहीं करना है. वह बहुत सकारात्मक सोच के साथ इस सीरीज में उतर रहा है. एक  सीरीज किसी भी खिलाड़ी की खराब हो जाती है. उसके बाद तो विराट ने बहुत ही बेहतरीन प्रदर्शन किया है. वर्तमान सीरीज में कोहली और जेम्स एंडरसन के बीच दिलचस्प मुकाबला होने की संभावना है. इंग्लैंड के पिछले दौरे में एंडरसन ने चार बार कोहली को पवेलियन की राह दिखायी थी लेकिन इसके बाद 2016 में जब इंग्लैंड की टीम भारतीय दौरे पर आयी तो कोहली के सामने एंडरसन पूरी तरह से नाकाम रहे और भारतीय कप्तान को एक बार भी आउट नहीं कर पाए. 

शर्मा ने कहा कि कोहली अभी एंडरसन का सामना करने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं. जब एंडरसन भारतीय दौरे पर आए थे तो कोहली ने उनके खिलाफ बेहतरीन बल्लेबाजी की थी. उन्होंने मुंबई में दोहरा शतक भी बनाया था. मैं वह मैच देख रहा था और वह सहजता से एंडरसन का सामना कर रहे थे. निसंदेह एंडरसन बेहतरीन गेंदबाज है लेकिन विराट पर किसी तरह का दबाव नहीं है. वह एंडरसन के बारे में नहीं सोच रहे हैं
 कोहली ने इस सीरीज के पांच मैचों में 109.16 की औसत से 655 रन बनाए थे जिसमें दो शतक भी शामिल थे. शर्मा ने कहा कि कोहली पर एंडरसन का दबाव नहीं है. भारतीय टीम जब 2014 में इंग्लैंड दौरे पर गई तो कोहली ने पांच मैचों की दस पारियों में 13.40 की औसत से केवल 134 रन बनाए और उनका उच्चतम स्कोर 39 रन रहा. इंग्लैंड दौरे का जिक्र आने पर ही यह प्रदर्शन कोहली पर साया बन जाता है लेकिन शर्मा ने कहा कि यह स्टार बल्लेबाज उस दौरे को भूल चुका है.

ये भी पढ़े: योगी राज में बेखौफ लुटेरे, UP के सबसे सुरक्षित जगह राजभवन के पास गार्ड की हत्या, कैश वैन से 20 लाख की लूट


Tags:

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED