Logo
August 7 2020 03:44 PM

Covid19: क्या तबलीगियों ने धारावी को किया कोरोना के हवाले?

Posted at: Apr 21 , 2020 by Dilersamachar 5571

दिलेर समाचार, मुंबई: देश मे कोरोना (Coronavirus) संक्रमण बढ़ाने में दिल्ली के तबलीगी जमात (Tablighi Jamaat) के मरकज का नाम तेजी से उछल रहा है. हालांकि महाराष्ट्र (Maharashtra) सरकार ने दावा किया है कि केंद्र सरकार ने जमात से जुड़े जितने भी लोगों की फेहरिस्त राज्य सरकार को सौंपी थी सबको ट्रेस कर क्वारंटीन किया जा चुका है. कइयों को क्वारंटीन पीरियड खत्म होने के बाद घर भी भेजा जा चुका है. आपको बता दें कि महाराष्ट्र में जमात से जुडे़ कुल 50 लोग कोरोना संक्रमित हैं.

मुंबई (Mumbai) का धारावी (Dharavi) इलाका कोरोना संक्रमण का सबसे बड़ा हॉट स्पाट बनकर उभरा है. सवा सौ के पार कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या अकेले धारावी में हो गई है.

एक शख्स से संक्रमित हुआ धारावी!

प्रशासन को संदेह है कि मुंबई के धारावी में सबसे पहला कोरोना पाजिटिव शख्स गार्मेंट फैक्ट्री का मालिक था. उसके खाली घर में निजामुद्दीन मरकज में भाग लेने वाले 10 लोग रहे थे. ये लोग केरल जाने से पहले 22 मार्च से 24 मार्च तक उसके घर में रहे थे. केरल जाने से पहले चार लोग उससे मिलने भी आए थे. शायद उन्हीं के संपर्क में आने से 56 साल के इस शख्स को कोरोना हुआ था. एक अप्रैल को उसकी मौत हो गई थी. इस गार्मेंट फैक्ट्री मालिक के संपर्क में कई लोग आए थे. इस तरह कह सकते हैं कि कोरोना धारावी में फैला.

मुस्लिम स्कॉलर की अपील

मुस्लिम स्कॉलर जफर सारेशवाला कहते हैं कि तबलीगियों को चाहिए कि प्रशासन की बात मानें और टेस्ट में सहयोग करें. इसी में सभी की भलाई है. उधर तबलीगी जमात अपने ऊपर लग रहे आरोपों को सिरे से खारिज कर रही है और कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए सरकार को अपनी पूरी मदद का दावा कर रही है. मुंबई तबलीगी जमात के सदस्य मौलाना मोहम्मद शकील का आरोप है कि हमे कोरोना कोरोना कहकर पुकारा जाने लगा है. ये गलत है. हम पर लगे सभी आरोप बेबुनियाद हैं.

महाराष्ट्र में तबलीगी जमात से जुड़े कोरोना के मामले

गौरतलब है कि तबलीगी जमात के दिल्ली स्थित मरकज में शामिल 755 लोगों को महाराष्ट्र के अलग-अलग इलाकों मे क्वारंटीन किया गया है. उनकी कोरोना वायरस की जांच भी की जा चुकी है. उसमें से ज्यादातर स्वस्थ हैं. कुल 50 कोविड 19 संक्रमित पाए गए हैं. इनमें यवतमाल के 7,  लातूर के 8, बुलढाणा के 6, मुंबई के 14, और पुणे, पिम्परी चिंचवड़, नागपुर,अहमदनगर और 2-2 लोग कोराना जांच मे पॉजिटिव मिले हैं. जबकि नागपुर, रत्नागिरी, हिंगोली, जलगांव, उस्मानाद, कोल्हापुर, वाशिम जिलों में 1-1 पॉजीटीव मरीज मिले हैं. इसके अलावा इन लोगों के संपर्क मे आए 7 लोग कोरोना संक्रमित पाए जा चुके हैं.

आरोप-प्रत्यारोपों का दौर जारी

उधर, महाराष्ट्र में विपक्षी दलों का दावा है कि तबलीगी जमात से जुडे़ मामलों मे सरकार ढिलाई बरत रही है. विपक्ष का आरोप है कि बड़ी तादाद में तबलीगी जमात से जुडे़ लोगों को अभी तक क्वारंटीन नहीं किया जा सका है. एक अनुमान के मुताबिक मुंबई में करीब 50 लोग ऐसे हैं जो मरकज गए थे और अभी तक सामने नहीं आए हैं.

लगातार बढ़ रही कोरोना मरीजों की संख्या

इन सभी आरोप प्रत्यारोपों के बीच महाराष्ट्र में कोरोना मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. महाराष्ट्र में कोरोना मरीजों की संख्या 4203 तक पहुंच गई है. राज्य में कोरोना वायरस से मरने वालों का आंकड़ा 232 हो गया है. इलाज के बाद 572 लोगों को छुट्टी दे दी गई है. एक दिन में महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के 466 नए मामले सामने आए हैं, वहीं, वायरस के कारण 9 लोगों की मौत हुई है.

ये भी पढ़े: कच्चे तेल की कीमत 0 डॉलर से भी कम होने पर भी इसलिए नहीं मिलेगा Free पेट्रोल


Tags:

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED