Logo
November 18 2019 02:05 AM

Devendra Fadnavis Resigns: सीएम फडणवीस ने दिया इस्तीफा, बोले- '50-50 फॉर्मूले पर शिवसेना से कभी बात नहीं हुई'

Posted at: Nov 8 , 2019 by Dilersamachar 5571

दिलेर समाचार, महाराष्ट्र में सियासी घटनाक्रम तेजी से बदल रहा है। मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने राज्यपाल से मिलने के बाद अपना इस्तीफा सौंप दिया है। इसके बाद उन्होंने मीडिया को संबोधित किया और बताया कि राज्यपाल ने इस्तीफा स्वीकार कर लिया है। फडणवीस ने कहा कि भाजपा की शिवसेना के साथ 50-50 यानी ढाई-ढाई साल सीएम पद पर कभी कोई बात नहीं हुई। शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के साथ मेरे अच्छे संबंध हैं, पांच साल में हमने कई मुद्दों पर बात हुई, लेकिन नतीजे आने के बाद मैंने उन्हें कई बार फोन किए, लेकिन उन्होंने फोन नहीं उठाए। मुझे लगता है कि नतीजों के बाद ही शिवसेना तय कर चुकी थी कि वह राकांपा और कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बनाएगी। सरकार न बनना जनादेश का अपमान है। इसके लिए हम माफी मांगते हैं। लेकिन विश्वास दिलाते हैं कि प्रदेश में अगली सरकार भाजपा के नेतृत्व में बनेगी।

फडणवीस के इस बयान के बाद सवाल उठ रहे हैं कि क्या भाजपा और शिवसेना के बीच गठबंधन खत्म हो गया है। फडणवीस के मुताबिक, 'सरकार बनाने को लेकर चर्चा भाजपा ने नहीं रोकी है, शिवसेना ही बात करना नहीं चाहती है। अब उन्होंने हमसे बात बंद करके, राकांपा से बात कर रहे हैं। मैं उद्धव ठाकरे पर कोई टिप्पणी नहीं करूंगा, लेकिन मुझे लगता है कि उनके आसपास के लोग और उनके सलाहकार ठीक नहीं है।'

'शिवसेना ने हमारे साथ रहते कई बार आपत्तिजनक टिप्पणियां की हैं। सामना में कई गलत बातें लिखी गईं। सामने को हम एक अखबार मानते रहे। हमारे नेताओं और मोदीजी के खिलाफ आपत्तिनजक टिप्पणी की गई। जब भी ऐसा हुआ, मैंने उद्धव से बात की। तब उद्धव कहते थे कि वे पॉलिसी के खिलाफ टिप्पणी कर रहे हैं, लेकिन हम दुखी इस बात से हैं कि शिवसेना ने हमारे नेताओं पर निजी हमले किए।'

फडणवीस ने पीएम मोदी, अपनी पार्टी, राष्ट्रीय अध्यक्ष और सभी कार्यकर्ताओं का धन्यवाद किया। साथ ही गठबंधन के नेताओं का भी धन्यवाद दिया। इसके साथ ही महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगने की आशंका बढ़ गई है, क्योंकि अभी तक साफ नहीं हो पाया है कि प्रदेश में भाजपा और शिवसेना मिलकर कैसे सरकार बनाएंगे।

फडणवीस ने कहा कि जनता ने उन्हें 5 साल सेवा का अवसर दिया। इन पांच सालों में उन्होंने कई संकटों का सामना किया। 5 में से 4 साल महाराष्ट्र में अकाल रहा। उनकी सरकार ने महाराष्ट्र में बहुत काम किया। खासतौर पर इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए। इस तरह फडणवीस ने अपने काम गिनाते हुए कहा कि पार्टी को इसका फायदा लोकसभा चुनावों में मिला।

ये भी पढ़े: अयोध्या में 10 ड्रोन से निगरानी, हेलिकॉप्टर तैनात


Tags:

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED