Logo
September 30 2020 07:16 AM

साबित करने के लिए महिला सरपंच को करवानी होगी डीएनए जांच

Posted at: Mar 15 , 2018 by Dilersamachar 9634

दिलेर समाचार, राजकोट: गुजरात के अमरेली जिले में एक महिला सरपंच को जिला प्रशासन ने आदेश दिया है कि यह साबित करने के लिए डीएनए जांच कराए कि वह अपनी कथित तीसरी संतान की मां नहीं है.

एक अधिकारी ने बताया कि तोरी गांव की सरपंच ज्योति राठौड़ तीन बच्चों की मां होने की वजह से अयोग्य ठहराई जा सकती हैं. पंचायती राज अधनियम के तहत किसी महिला या पुरुष सरंपच के दो से अधिक बच्चे नहीं हो सकते.
बल्लभभाई राठौड़ ने दिसंबर, 2016 में ज्योति के निर्वाचन को चुनौती दी. आरोप है कि ज्योति के तीन बच्चे हैं, लेकिन चुनावी हलफनामे में उन्होंने अपने तीसरे बच्चे की जानकारी छिपाई. उनकी तीसरी संतान लड़की है.

ये भी पढ़े: एक बार फिर मौका नहीं चूके शत्रुघ्न सिन्हा, उपचुनाव में बीजेपी की हार पर दी यह चेतावनी


Tags:

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED