Logo
October 17 2021 12:02 PM

कोबरा से डसवाकर दहेज के लालची पति ने पत्नी को मार डाला

Posted at: Oct 11 , 2021 by Dilersamachar 9384

दिलेर समाचार, तिरुवनंतपुरम. केरल (Kerala) का एक कोर्ट आज एक ऐसे मामले में फैसला सुनाएगा, जिसमें पति पर पत्‍नी को सांप से डसवाकर (Snakebite Murder) मारने का आरोप है. सूरज नाम के व्‍यक्ति पर आरोप है कि उसने अपनी 25 साल की पत्‍नी उथरा को दहेज के लिए सांप से डसवाकर मार डाला. कोल्‍लम का सेशंस कोर्ट सोमवार को इस मामले में फैसला सुनाएगा.

केस के मुताबिक उथरा कोल्‍लम से 40 किमी दूर अपने मायके में रह रही थी. उसे सोते समय कोबरा ने कथित तौर पर डस लिया था, जिससे उसकी मौत हो गई थी. यह घटना 7 मई 2020 की है. उसकी शादी को 2 साल का समय हुआ था और उसका एक साल बच्‍चा भी है.

अभियोजन पक्ष ने उथरा के पति सूरज एस कुमार पर आरोप लगाया है कि उसने ही कमरे में कोबरा को छोड़कर पत्‍नी को जानबूझकर उससे डसवाया ताकि वह मर जाए. यह भी आरोप लगाए गए हैं कि उसने इस पूरी साजिश को रचने से पहले पत्‍नी को नींद की गोलियां भी दी थीं. जांच में यह भी सामने आया है कि पिछले साल 2 मार्च को भी सूरज ने पत्‍नी को मारने के मकसद से घर में कोबरा छोड़ा था.

2 मार्च 2020 को पथानामथिट्टा में अदूर के पास पराकोडे में अपने पति के घर पर सांप के डसने के बाद उथरा का पथानामथिट्टा जिले के तिरुवल्ला के एक निजी मेडिकल कॉलेज में 16 दिनों तक इलाज चला था. रसेल वाइपर स्‍नेक के डसने से वह पूरी तरह से बीमार हो गई थी. वह 52 दिन बिस्‍तर पर ही रही थी. इसके बाद उसकी प्‍लास्टिक सर्जरी भी करनी पड़ी थी.

उथरा की मां का कहना है कि उनकी बेटी और सूरज रात के खाने के बाद सोने चले गए थे. सूरत देर से सोकर उठता था. लेकिन अगले दिन वह जल्‍दी उठ गया था और बाहर चला गया था. हालाकि उथरा समय पर सोकर नहीं उठी थी. उसकी मां कमरे में गई तो उथरा को बेहोश पाया. बाद में कमरे की तलाशी ली गई तो वहां कोबरा मिला, जिसे मार दिया गया.

सूरज को दहेज भी दिया गया था. इसमें 10 लाख रुपये नकद, प्रॉपर्टी, नई कार और सोना शामिल था. दो साल के वैवाहिक जीवन में असफल रहने के बाद उसने अधिक दहेज मांगने का प्रयास किया था.

उथरा की मौत पर उसके परिवार द्वारा उठाए गए संदेह के आधार पर सूरज को 24 मई को गिरफ्तार किया गया था. 12 जुलाई को सूरज ने सार्वजनिक रूप से स्वीकार किया था कि उसने कोल्लम के परिपल्ली के एक सांप पकड़ने वाले चावरुकावु सुरेश कुमार से दो बार 10,000 रुपये में दो सांप खरीदे थे.

पूर्व ग्रामीण एसपी एस हरिशंकर के नेतृत्व में जांच दल ने उथरा और सांप के शव के परीक्षण की ऑटोप्‍सी जैसे वैज्ञानिक साक्ष्य कोर्ट को सौंपे थे. एक नवंबर को दाखिल चार्जशीट के मुताबिक सूरज ने दो बार उथरा को डसवाने के लिए जहरीले सांपों को छोड़ कर मारने की कोशिश की थी.

हालांकि जिस सपेरे ने सूरज को जहरीले सांप सौंपे थे, वह इस मामले में आरोपी था, लेकिन 1 दिसंबर को शुरू हुए मुकदमे में वह सरकारी गवाह बन गया. सुनवाई के दौरान उसने अदालत को बताया कि उसने बिना मकसद जाने सूरज को सौंप दिया था. सूरज पर पत्‍नी की हत्‍या का आरोप और उसके माता-पिता और बहन पर घरेलू हिंसा का आरोप लगाया गया था. उथरा के माता-पिता विजयसेनन और मणिमेगालाई समेत कई लोग हत्या के मामले में फैसले का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं.

ये भी पढ़े: महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख के परिसरों में सीबीआई ने की छापेमारी

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED