Logo
August 7 2020 03:43 PM

गर्मियों में भी माश्चराइज़र बनाएगा आपकी बॉडी को आकर्शित

Posted at: Apr 26 , 2020 by Dilersamachar 7468

दिलेर समाचार, भाषणा बांसल। प्रायः महिलाएं सोचती हैं कि उन्हें माश्चराइजर केवल सर्दी के मौसम में ही प्रयोग करना चाहिए क्योंकि उन दिनों त्वचा अधिक रूखी होती है लेकिन सौंदर्य विशेषज्ञों के अनुसार गर्मी में भी त्वचा को नमी की उतनी ही आवश्यकता होती है। यदि आप चाहती हैं कि गर्मी के मौसम में आपकी त्वचा कोमल, मुलायम व तरोताजा रहे तो इसके लिए नियमित रूप से माश्चराइजर का प्रयोग करना आवश्यक है।

अगर आप प्रतिदिन मेकअप नहीं भी करती हैं, तब भी त्वचा की प्राकृतिक नमी को बरकरार रखने हेतु माश्चराइजर का प्रयोग अवश्य करें। रोजाना अपने चेहरे को कम से कम  चार-पांच बार धोएं परंतु इसके लिए ताजा पानी ही प्रयोग में लाएं, अधिक ठंडा पानी यानी फ्रिज का पानी नहीं। कई बार जब महिलाएं गर्मी में ऑफिस से थककर लौटती हैं तो चेहरे को ठंडक हेतु फ्रिज के पानी से इसे धोती हैं। ऐसा हरगिज न करंें क्योंकि इससे आपके चेहरे पर विपरीत प्रभाव पड़ सकता है।

गर्मी के मौसम में भी चेहरे को स्टीम (भाप) दे सकती हैं। यह चेहरे के रोमछिद्रों से गंदगी दूर करती है। स्टीम लेने के बाद चेहरे को टिशू पेपर से साफ करें और माश्चराइजर लगाएं।

यह त्वचा की देखभाल के लिए एक आवश्यक तत्व है। गर्मियों में भी त्वचा को इसकी काफी जरूरत होती है क्यांेकि इस मौसम में त्वचा का प्राकृतिक तेल पसीने द्वारा बाहर निकलता रहता है और त्वचा रूखी, उदासीन तथा मैली-मैली सी दिखाई देती है।

सदैव दूधयुक्त माश्चराइजर का ही प्रयोग करें क्योंकि यह त्वचा की मृत कोशिकाओं को दूर करता है। इसमें एसिडिक पीएच नामक तत्व मौजूद रहता है, जो त्वचा को पोषण देता है। साथ ही यह त्वचा में पानी का संतुलन भी बनाए रखता है।

जो महिलाएं गर्मी में माश्चराइजर के प्रयोग को महत्ता नहीं देतीं, उन्हें यह जान लेना चाहिए कि जब वे बार-बार अपना चेहरा धोती हैं तो त्वचा अपनी नमी खो देती है और त्वचा में प्राकृतिक तेल असंतुलित हो जाता है, साथ ही पानी की मात्रा भी कम हो जाती है, जिससे त्वचा अपना लचीलापन व कांति खोने लगती है। परिणामस्वरूप यह बेहद रूखी लगने लगती है।

अतः आप जब भी नहाएं या चेहरा धोएं, उसके तुरंत बाद वैसलीन या बॉडी लोशन अवश्य लगाएं जिसमंे विटामिन ई भरपूर मात्रा में हो। यह त्वचा में तेल व पानी का संतुलन बनाए रखेगा। साथ ही यह त्वचा को सेहतमंद भी बनाएगा व रक्तप्रवाह को भी सुचारू रूप से चलाने में सहायक सिद्ध होगा। वनस्पति तेल, सूखे मेवे, मक्खन, अखरोट तथा विभिन्न प्रकार के अनाज विटामिन के मुख्य स्रोत हैं।

त्वचा पर बॉडी लोशन का प्रयोग सूर्य व पानी के हानिकारक प्रभाव से इसकी रक्षा करता है। अतः यदि आप सदैव त्वचा को कोमल व मुलायम बनाए रखना चाहती हैं और किसी भी दुष्प्रभाव से बचाना चाहती हैं तो नियमित रूप से बॉडी लोशन का प्रयोग करें।

ध्यान दें कि माश्चराइजर को इस्तेमाल करने से पूर्व चेहरे को भली भांति साफ कर लें वरना चेहरे पर जमी मैल की चेहरे की भीतरी त्वचा के अंदर परतें बन जाएंगी जो बाद में मुंहासों को जन्म देंगी। चेहरे की सफाई हेतु एस्ट्रिजेंट, क्लींजिंग मिल्क, फेस वॉश साबुन का प्रयोग कर सकती हैं।

इसके अलावा प्राकृतिक चीजों जैसे कच्चे दूध व नींबू को मिलाकर क्लींजर बनाया जा सकता है। गुलाबजल व नींबू के रस को भी चेहरे की सफाई के लिए इस्तेमाल में लाया जा सकता है। अनन्नास का रस भी आपके चेहरे की सफाई के लिए अच्छा क्लींजर साबित हो सकता है।

चेहरे की भली भांति सफाई करने के बाद ही माश्चराइजर का प्रयोग करें। वैसे रात को सोते वक्त इसका प्रयोग काफी लाभप्रद होता है। चेहरे के अलावा हाथों व पैरों पर भी माश्चराइजर की मसाज करें। इससे उनकी कोमलता बरकरार होगी।

कुछ लोगों को गर्मियों में भी होंठ फटने की शिकायत रहती है उन्हें रात को सोते समय होंठों पर माश्चराइजर लगाना चाहिए। महिलाएं सूखे होंठों के लिए इसे लिपस्टिक लगाने से पूर्व भी इस्तेमाल कर सकती हैं, इससे होंठों की नमी बरकरार रहेगी व लिपस्टिक अधिक देर तक टिकी रहेगी। 

ये भी पढ़े: अब नाबालिगों को नहीं दी जाएगी सऊदी अरब में मौत की सजा


Tags:

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED