Logo
October 17 2019 10:35 AM

पिता ने कहा गाय का दूध चाहिए तो मेडल लाकर दो

Posted at: Aug 14 , 2019 by Dilersamachar 6962
एस्टोनिया : दूध पीना सेहत और खास तौर से हड्ड‍ियों के लिए फायदेमंद होता है, यह बात दीपक पुनिया के पिता अच्छी तरह जानते है | वर्ष 2016 जूनियर वर्ल्ड चैंपियनशिप मे दीपक खाली हाथ लौटे, तो उनके पिता ने उनका पसंदीदा गाय का दूध उनको नहीं दिया | उदास दीपक ने तब अपने पिता से वादा किया कि वह विश्व कैडेट चैंपियनशिप में वो खाली हाथ नहीं लौटेंगे | बदले में इनाम में गाय का दूध उन्हे देंगे | दीपक के पिता दूध बेचने का व्‍यवसाय करते हैं | फिर उसी वर्ष दीपक जार्जिया में आयोजित हुई विश्व कैडेट कुश्ती चैंपियनशिप में 85 किग्रा कैटेगरी में गोल्‍ड मेडल जीतकर देश का नाम रोशन किया था | भारत लोटते ही पिता ने अपना वचन निभाया और बेटे की इक्छा पूरी करते हुए अपने हाथो से गाय का दूध पिलाया | उस दूध की प्यास दीपक को इस तरह लगी की उन्होने 12 से 18 अगस्त 2019 तक एस्टोनिया की राजधानी ताल्लिन मे चल रही जूनियर विश्व कुश्ती चैंपियनशिप मे पदक जीत लिया |

एस्टोनिया की राजधानी ताल्लिन के टोंडिरबा जाहल स्टेडियम मे चल रही जूनियर विश्व कुश्ती चैंपियनशिप मे पदक का रंग बदलने के उद्देश्य से, भारतीय पहलवान दीपक पुनिया ने आज बुधवार को पुरुषों के 86 किलोग्राम फ्रीस्टाइल वर्ग के फाइनल में लड़ेंगे । चैंपियनशिप के पहले तीन मुकाबलों में शानदार जीत दर्ज करने के बाद फाइनल में भारतीय का सामना रूस के अलिक शेजुखोव से होगा । इससे पहले दीपक ने प्री-क्वार्टर फाइनल राउंड में हंगरी के मिलान कोरस्कॉग के खिलाफ 10-1 से जीतने के बाद, अगले दौर में कनाडा के हंटर ली को 5-1 से पछाड़ दिया । उसके बाद सेमीफाइनल मे जॉर्जिया के मिरियानी मैशुराडेज़ पर 3-2 की जीत ने दीपक को चैंपियनशिप के फाइनल मे पाहुचा दिया । एक अन्य भारतीय पहलवान विकी (92 किग्रा) रीपचेज राउंड में हिस्सा लिया और अभी भी कांस्य पदक जीतने की उम्मीद बनाये रखा है । कांस्य पदक के लिए विक्की मंगोलिया के बाटमग्नाई एनकेथुवशिन
से भिड़ेंगे | इससे पहले विक्की क्वाटर फाइनल में अमेरिका के लुकास जॉन डेविसन से 7 - 1 अंक से पराजी हो गए थे |

आखिरी चैंपियनशिप में रजत जीतने से पहले, दीपक ने 2016 में वापस कैडेट विश्व चैंपियनशिप में भी खिताब हासिल किया था और सीनियर वर्ग में, वह कजाकिस्तान में विश्व चैंपियनशिप 2019 के लिए भारतीय दल का भी हिस्सा होंगे जो एक 2020 ओलंपिक क्वालीफिकेशन चैंपियनशिप है । बाकी सभी भारतीय फ्री स्टाइल के पहलवान विजय पाटिल और आकाश अंतिल ने अपने कांस्य पदक के प्ले-ऑफ मुकाबलों में क्रमशः 57 किग्रा मखसूद वेसलोव में 97 किग्रा भार वर्ग में हार का सामना किया है । रविन्द्र (61 किग्रा), परवीन मलिक (74 किग्रा) रीपचेज राउंड में हार कर बहार हो गए |

ये भी पढ़े: 73वां स्वतंत्रता दिवस : गूगल के डूडल पर नजर आई भारतीय संस्कृति


Tags:

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED