Logo
September 27 2020 01:20 PM

इन खास टिप्स से आसानी से जानें कि आपका फोन हैक हो रहा है या नहीं

Posted at: Apr 11 , 2019 by Dilersamachar 10242

दिलेर समाचार, आपकी जेब में पड़े मोबाइल फोन में आपसे जुड़ी कई अहम और निजी जानकारियां होती हैं। दोस्तों की तस्वीरों से लेकर दफ्तर के जरूरी फोन नंबर या बैंक खातों की डिटेल। मोबाइल आज के युग में आपकी पॉकेट में पड़ा 'रॉकेट' होता है। अब सोचिए अगर आपको पता चले कि आपका फोन हैक हो गया है? आपका जवाब होगा कि जल्द से जल्द इसका समाधान निकाला जाएगा। लेकिन अगर आपका फ़ोन हैक भी हो जाए और आपको पता ही न चले, तब?

हम आपको यहां ऐसे ही 7 मौके बताते हैं, जब संभवत: कोई आपका फोन हैक करने की कोशिश कर सकता है। फिर चाहे वो इंसानी दिमाग हो या तकनीक।

फोन हैक होने के 7 संकेत और समाधान

1. फोन स्पीड

अगर आपका फोन सामान्य से भी कम स्पीड में चल रहा है तो ऐसा वायरस या किसी मलीसियस किस्म के प्रोग्राम की वजह से हो सकता है। मेलिसियस प्रोग्राम यानी ऐसे प्रोग्राम जो फोन की परफॉर्मेंस और यूज़र्स को नुकसान पहुंचा सकते हैं।

इस तरह के वायरस आपके फ़ोन की स्पीड और परफॉर्मेंस को सीधे तौर पर प्रभावित करते हैं। लेकिन ये भी ध्यान रखिए कि नियमित तौर पर फोन के ऑपरेटिंग सिस्टम के अपडेट होने की वजह से भी ऐसा हो सकता है। ऐप्पल ने हाल ही में पुराने वर्जन के आईफोन की स्पीड कम करने की बात को माना था। 90 करोड़ एंड्रॉएड फोन पर बग का खतरा!

2. फोन का काफी गरम होना

आपने गौर किया होगा कि अक्सर आपका फ़ोन कुछ ज़्यादा ही गरम हो जाता है। अमेरिकन इंटल टेक्नॉलजी के एक्सपर्ट इसकी वजह बताते हैं, ''संभव है कि आपके फोन में कोई मलीसियस ऐप्लीकेशन बैकग्राउंड में चल रहा हो।'' फोन के गरम होने की एक वजह उन ऐप्स को सही तरीके से नहीं बंद करना भी हो सकता है। मोबाइल फोन के रेडिएशन पर ऐसे रखिए नजर।

3. बैट्री लाइफ

फोन के लगातार गरम होने का असर बैट्री पर पड़ता है। इस वजह से बैट्री अपनी उम्र से कम ही चल पाती है लेकिन यहां जो वजह अहम है, वो है सिस्टम अपडेट। मोबाइल जोन वेबसाइट के मुताबिक, अगर अपडेट वाकई काफी नया या प्रभावशाली है तो ऐसा करने से हिचकना नहीं चाहिए।

4. अज्ञात मैसेज

कुछ मौकों पर फोन के हैक होने की जानकारी आपसे पहले आपके अपनों को मिल जाती है। शायद आपने ध्यान दिया हो कि कई बार आपके पास अंजान नंबर से मैसेज आते है या आपके फोन से अपने-आप चले जाते हैं।

ऐसी स्थिति में आपके दोस्तों और परिवार के लोगों को एसएमएस या वॉट्सऐप के जरिए ये मैसेज मिल जाते हैं। हालांकि इन मैसेजों को आपने नहीं भेजा होता है। तो अगली बार जब आपका कोई दोस्त कहे कि फलां मैसेज क्यों भेजा है और आपने वो मैसेज न भेजा हो तो इसे हैकर्स की करामात माना जा सकता है। ऐसी स्थिति में सिर्फ एक बटन पर भरोसा कीजिए, वो है डिलीट।

इस तरह के हमले ई-मेल के रास्ते भी आप तक पहुंचते हैं। ऐसे में पहली सलाह ये है कि इसे फ़टाक से बंद कीजिए और ऐसे किसी लिंक पर क्लिक मत कीजिए, जो ज्यादा लुभावने दिख रहे हों। अलग-अलग सिस्टम पर फोन लगाने से भी ये वायरस मोबाइल में दाखिल होते हैं।

5. किसी विंडो का खुलना

कई बार ऐसे वायरस भी होते हैं, जो अचानक आपके फोन में खुलकर आ जाते हैं। कभी ये विज्ञापन की शक्ल में होते हैं तो कभी ये आपको नई विंडो या टैब में ले जाते हैं। कंप्यूटर की भाषा में इसे पॉप-अप्स कहते हैं।

साइबर सिक्योरटी एक्सपर्ट जोसेफ़ स्टिनबर्ग कहते हैं, ''जैसे कंोप्यूटर में इंटरनेट की वजह से नए टैब्स खुल जाते हैं, ठीक ऐसे ही फोन में भी ये टैब खुलते हैं। इनसे बस सावधान रहते हुए दूर रहने की ज़रूरत है।''

6. नए ऐप

 

आप अपने फोन में ऐप कहां से डाउनलोड करते हैं और ये कैसी ऐप्स हैं, ये बहुत मायने रखता है। बहुत मौकों पर आपका इंटरनेट पैक इसलिए जल्दी ख़त्म होता है क्योंकि ये ऐप्स काफी इंटरनेट डाटा खींच रहे होते हैं।

स्टिनबर्ग कहते हैं, ''फोन को अपडेटेड रखना बहुत ज़रूरी होता है। लेकिन ऐप्स बनाने वाली कंपनी या सर्विस प्रोवाइडर का भरोसेमंद होना जरूरी है। अगर ऐसा नहीं है तो फर्जी ऐप्स से बचकर रहना चाहिए।''

जानकारों की सलाह है कि आप जो भी फोन ऐप डाउनलोड करना चाह रहे हैं उसे इंटरनेट पर पहले तनिक खोज लीजिए। भरोसा हो, तभी ऐप्स डाउनलोड कीजिए। वरना इसका नुकसान ये हो सकता है कि इन ऐप के जरिए हैकर्स आपका इंटरनेट इस्तेमाल करें। इसीलिए फ़ोन पर पैसों से जुड़े लेनदेन सोच समझकर करने चाहिए।

7. बैकग्राउंड की आवाज

इन मुसीबतों का समाधान क्या है?

इंटरनेट पर कुछ काम करते हुए कई बार अजीब सी आवाज़ आने लगती है। या इन वेब पेजों पर अनचाही और असामान्य चीजें दिखने लगती हैं। ऐसा इसलिए भी हो सकता है क्योंकि दूर कहीं बैठा एक हैकर आपकी डिवाइस को कंट्रोल कर रहा होता है।

नतीजा ये होता है कि आपका फोन अजब-गजब तरीके से काम करने लगता है। सबसे डराने वाली बात ये है कि अगर आप किसी से फोन पर बात कर रहे हैं और पीछे से अजब आवाज आ रही है तो संभव है कि कोई इसे रिकॉर्ड कर रहा हो। इस दौरान अगर बीप या ऐसी ही आवाजे लगातार आ रही हैं तो कॉल रिकॉर्ड होने की संभावनाएं सबसे ज्यादा होती हैं।

इन मुसीबतों का समाधान क्या है?

भरोसेमंद कंपनी का एक एंटी-वायरस फोन में रखिए

जिन ऐप्स को आपने इंस्टॉल न किया हो, उन्हें डिलीट कीजिए

मुफ्त के वाई-फाई के चक्कर में हर जगह फोन मत जोड़िए

फ़ोन का ऐसा पासवर्ड रखिए, जिसका कोई अंदाजा न लगा सके

पॉप-अप्स पर भूलकर क्लिक मत कीजिए

डिवाइस को अपडेट रखिए, मगर संभलकर

कितना इंटरनेट डाटा खर्च हो रहा है, इस पर नजर रखिए

मोबाइल फ़ोन के रेडिएशन पर ऐसे रखिए नजर

ये भी पढ़े: PM से उनके घर पर भी जाकर कर सकते हैं बहस: राहुल गांधी


Tags:

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED