Logo
January 23 2020 02:09 PM

गूगल मैप्स जल्दी लेकर आने वाला है ये बड़ा बदलाव

Posted at: Nov 6 , 2019 by Dilersamachar 7013

दिलेर समाचार, वॉशिंगटन। अक्सर लोग अपनी लोकेशन हिस्ट्री और सर्च की प्राइवेसी को लेकर परेशान रहते हैं। कई कंपनियां इस तरह के डाटा को थर्ड पार्टी को दे देती है। लिहाजा, गूगल का इनकॉग्निटो मोड अब एंड्रॉइड उपयोगकर्ता के लिए काफी फायदेमंद साबित होने जा रहा है। यह सिर्फ वेब ब्राउजिंग के लिए ही नहीं है। कंपनी के अनुसार, नेविगेशन ऐप गूगल मैप्स के अब एक निजी मोड पर काम करेगा, जिससे सर्च और लोकेशन हिस्ट्री का डेटा आपके गूगल एकाउंट से लिंक नहीं होता है। यह जानकारी AndroidPolice ने दी है, जिसमें कहा गया है कि कंपनी द्वारा एक समर्थित दस्तावेज में इस खासियत का पहला सबूत देखा गया था।
गूगल का इनकॉग्निटो फीचर डेटा कलेक्ट करने के कई बिंदुओं को बंद कर देगा, जिसमें सर्च हिस्ट्री और लोकेशन हिस्ट्री शामिल हैं। जबकि यूजर इस मोड को सक्रिय कर देगा, तो ऐप में किसी भी सेटिंग को पर्सनेलाइज कर किसी के डेटा का उपयोग नहीं करेगा। TechCrunch ने खुलासा किया कि इस फीचर को धीरे-धीरे रोल आउट किया जा रहा है, लिहाजा सभी एंड्रॉइड यूजर्स को तुरंत प्राइवेट मोड का इस्तेमाल करने की सुविधा नहीं होगी। अगले कुछ दिनों के दौरान यह ऑपरेटिंग सिस्टम पर सभी के इस्तेमाल करने के लिए तैयार हो जाएगा।
जो लोग गूगल की नई सुविधा का उपयोग करना चाहते हैं, वे दाएं कोने में स्थित अपने एकाउंट आइकन पर क्लिक करके मोड को सक्रिय कर सकते हैं और फिर उन्हों 'इनकॉग्निटो मोड चालू करें' (turn on Incognito mode) को दबाना होगा। एक इनकॉग्निटो मोड उन यूजर्स के लिए फायदेमंद होगा, जो कंपनी द्वारा संग्रहीत और ट्रैक की जा रही सूचनाओं के जरिये अपने टार्गेटेड एडवर्टीजमेंट के व्यवसाय को बढ़ाने की वजह से चिंतित हो गए हैं।

ये भी पढ़े: कांग्रेस नेता ने कहा- जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न अंग


Tags:

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED