Logo
December 7 2022 02:05 AM

गुरु प्रेमनाथ अखाड़े के शिष्य तो शिष्य कोच भी बनें पदक के दावेदार

Posted at: Nov 18 , 2017 by Dilersamachar 11298
दिलेर समाचार, 15 से 18 नवम्बर इंदौर के अभय प्रशाल स्टेडियम में आयोजित राष्ट्रीय सीनियर कुश्ती प्रतियागिता में गुरु प्रेमनाथ अखाड़े की दिव्या काकरान ने 68 किलो भारवर्ग में स्वर्ण पदक प्राप्त किया। 
और इससे भी ज्यादा हैरतअंगेज़ कारनामा कर दिखाया इस अखाड़े की कोच कामनी यादव जी ने जिन्होंने 72 किलो भारवर्ग में कांस्य पदक हासिल किया जबकि सेमीफाइनल कुश्ती के दौरान उनकी हाथ की ऊँगली में फ्रैक्चर हो गया, परंतु उन्होंने जिदारी का परिचय दिखाते हुए मुश्किल हालात से उबर कर कुश्ती में जीत दर्ज करते हुए, सेमीफाइनल में जगह बनाई, परन्तु सेमीफाइनल में भी मुसीबत ने पीछा नही छोड़ा, और उनके लिगामेंट में बहुत गंभीर चोट लगी जिसकी वजह से उनको कुश्ती बीच में छोड़नी पड़ी। लेकिन एक बार और उन्होंने अपनी हिम्मत का परिचय देते हुए कांस्य पदक की लड़ाई में उतरी और अपनी प्रतिद्वन्दी को चित करते हुए कांस्य पदक पर कब्ज़ा किया, उनकी इस हिम्मत और  कुश्ती के ज़ज़्बे को सलाम।
इस जीत को दिव्या और कामनी यादव ने गुरु प्रेमनाथ जी को समर्पित करी और कोच कामिनी यादव ने कहा कि में कोच बनने से पहले इस अखाड़े और गुरु प्रेमनाथ जी की शिष्या रहे चुकी हूं तथा ये मेरा सौभाग्य है कि कोच बन कर भी इसी अखाड़े में अपनी सेवा दे रही हूँ, इस अखाड़े में पदक भी दिया।

ये भी पढ़े: इस वजह से कास्टिंग काउच पर चुप्पी साधती है बॉलीवुड इंडस्ट्री

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED