Logo
January 21 2020 09:06 PM

ये है रेल हादसो का सच्चा और पूरा ब्योरा, जानकर दहल उठेगा आपका भी दिल

Posted at: Aug 30 , 2017 by Dilersamachar 5275

दिलेर समाचार, पिछले 10 दिनों में तीसरे रेल हादसे के सामने आने के बाद रेलवे की कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान लग रहे हैं. हालिया हादसा महाराष्‍ट्र में तितवाला के पास हुआ है. जिसमें नागपुर-मुंबई दूरंतो एक्‍सप्रेस के पांच डिब्‍बे पटरी से उतर गए. शुरुआती रिपोर्ट में ट्रेन के डिरेल होने का कारण लैंडस्‍लाइडिंग बताया जा रहा है. आपको बता दें कि मुंबई में हो रही भारी बारिश के कारण बचाव कार्य में भी परेशानी आ रही है. यहां हम आपको बात रहे हैं भारत में 1988 के बाद से हुए बड़े रेल हादसों का घटनाक्रम :-

19 अगस्‍त 2017 : उत्‍तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले के खतौली में हुए रेल हादसे में 24 लोगों की मौत हो गई जबकि करीब 100 यात्री घायल हुए. पुरी से हरिद्वार जाने वाली उत्कल एक्सप्रेस मुजफ्फरनगर के पास खतौली में दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी. रेलवे ने कार्रवाई करते हुए 4 इंजीनियर को निलंबित कर दिया था.

21 जनवरी, 2017 : आंध्र प्रदेश के विजयनगरम जिले में जगदलपुर-भुवनेश्वर हीराखंड एक्सप्रेस का इंजन और नौ डिब्बे पटरी से उतर जाने की वजह से कम से कम 39 लोगों की मौत हो गई और 69 घायल हो गए.

28 दिसंबर, 2016 : कानपुर देहात जिले के रूरा रेलवे स्टेशन के निकट एक पुल को पार करते हुए सियालदह-अजमेर एक्सप्रेस के 15 डिब्बे पटरी से उतर जाने की वजह से 62 यात्री घायल हो गए थे.

20 नवंबर, 2016 : उत्तर प्रदेश के कानपुर देहात जिले में पुखराया के निकट इंदौर-पटना एक्सप्रेस के 14 डिब्बों के पटरी से उतर जाने की वजह से 100 से ज्यादा यात्रियों की मौत हो गई जबकि 200 घायल हो गए.

10 जुलाई, 2011 : दिल्ली जाने वाली कालका मेल के 15 डिब्बे पटरी से उतर जाने की वजह से 70 यात्रियों की मौत हो गई और सैकड़ों घायल हो गए.

28 मई, 2010 : पश्चिम बंगाल के पश्चिमी मेदिनीपुर जिले में नक्सलियों द्वारा ज्ञानेश्वरी एक्सप्रेस को पटरी से उतार देने की घटना में कम से कम 148 लोगों की मौत हो गई थी.

नौ सितंबर, 2002 : बिहार के औरंगाबाद जिले में हावड़ा-दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस का एक डिब्बा धावी नदी में गिर जाने की वजह से 100 लोगों की मौत हो गई थी और 150 घायल हो गए थे.

दो अगस्त, 1999 : असम के गैसल में 2,500 यात्रियों को ले जा रही दो ट्रेनों के बीच हुई टक्कर में कम से कम 290 लोगों की मौत हो गई थी.

26 नवंबर, 1998 : पंजाब में खन्ना के निकट पटरी से उतरी फ्रंटियर मेल के डिब्बों से जम्मू तवी-सियालदह एक्सप्रेस की टक्कर में कम से कम 212 लोगों की मौत हो गई थी.

14 सितंबर, 1997 : मध्य प्रदेश के बिलासपुर जिले में अहमदाबाद-हावड़ा एक्सप्रेस के पांच डिब्बों के नदी में गिरने की वजह से 81 लोगों की मौत हो गई थी.

20 अगस्त, 1995 : उत्तर प्रदेश में फिरोजाबाद रेलवे स्टेशन के निकट पुरूषोत्तम एक्सप्रेस के कालिंदी एक्सप्रेस से टकरा जाने की वजह से 400 लोगों की मौत हो गई थी.

18 अप्रैल, 1988 : उत्तर प्रदेश में ललितपुर के निकट कर्नाटक एक्सप्रेस के पटरी से उतर जाने की वजह से कम से कम 75 लोगों की मौत हो गई थी.

8 जुलाई, 1988 : केरल में अष्टमुडी झील में आइलैंड एक्सप्रेस के गिर जाने की वजह से 107 लोगों की मौत हो गई.

ये भी पढ़े: देर रात को भोजन करना हो सकता है जानलेवा!


Tags:

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED