Logo
May 21 2024 03:22 PM

मैं बहुत एक्सपेरिमेंटल हूं - जैकलीन फर्नांडिस

Posted at: Mar 31 , 2018 by Dilersamachar 9854

तसुभाष शिरढोनकर

दिलेर समाचार, जैकलीन फर्नांडिस बॉलीवुड की उन चुनिंदा एक्ट्रेस में से एक हैं जो अपने काम और किरदार को सर्वोत्तम बनाने के लिए बाकायदा प्रशिक्षण प्राप्त करने में यकीन रखती हैं।

पिछले साल की महाफ्लॉप ’अ जेंटलमैन’ के लिए जैकलीन ने पोल डांस का प्रशिक्षण लिया तो ’रेस 3’ के मारधाड़ वाले दृश्यों के लिए ट्रेनर कुलदीप शशि से मार्शल आर्टस के साथ साथ उन्होंने हॉर्स राइडिंग भी सीखी। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार जैकलीन ने चंद दिनों की ट्रेनिंग में ही अपनेे शरीर को एथलीट जैसा बना लिया।

2014 में प्रदर्शित ’किक’ के बाद निर्माता साजिद नडियाडवाला और सलमान खान के साथ जैकलीन फर्नांडिस के काफी अच्छे रिलेशन स्थापित हो गये। जैकलीन को इस कैम्प का हिस्सा माना जाने लगा। इन रिलेशन्स के चलते जैकलीन ने साजिद नाडियाडवाला की अहमद खान द्वारा निर्देशित टाइगर श्रॉफ और दिशा पटानी स्टॉरर ’बागी 2’ में एक स्पेशल आयटम किया है।

’किक’ (2014) के बाद दूसरी बार जैकलीन ’रेस 3’ में सलमान खान के साथ नजर आएंगी। रेमो डिसूजा निर्देशित यह फिल्म 15 जून को रिलीज होगी। इसके अलावा वह सुशांत सिंह के अपोजिट, करण जौहर के धर्मा प्रोडक्शन की तरूण मनसुखानी निर्देशित ’ड्राइव’ कर रही हैं। 07 सितंबर को रिलीज होने वाली इस फिल्म में वह एक पुलिसवाली के किरदार में नजर आएंगी।

जैकलीन को आज बॉलीवुड में कामयाबी और दर्शकों की स्वीकार्यता दोनों हासिल हैं। वह न सिर्फ एक बेहतरीन कलाकार के तौर पर उभर कर आई हैं बल्कि अपने मानवीय विचारों के लिए भी जानी जाती हैं। प्रस्तुत हैं, उनके साथ की गई बातचीत के मुख्य अंशः

’रेस 3’ और ’ड्राइव’ के अतिरिक्त इस वक्त आपके पास कौन कौन से प्रोजेक्ट्स हैं ?

मेरे पास इस वक्त दो बड़े प्रोडक्शन हाउस की पांच फिल्मों के ऑफर हैं। मैं इन पर सीरियसली विचार कर रही हूं। जैसे ही फायनल होगा, इनके संबंध में विस्तार से बताऊंगी। दो हॉलीवुड फिल्मों के भी ऑफर आये हैं लेकिन फिलहाल मेरी हॉलीवुड की फिल्मों में कतई दिलचस्पी नहीं है। मैं यहीं मुंबई में रहकर सिर्फ बॉलीवुड की फिल्में करना चाहती हूं।

’किक’ (2014) के बाद आपकी फिल्मों को कुछ खास कामयाबी नहीं मिल सकी। अब आप फिर एक बार सलमान खान के साथ आ रही हैं। आपको ’रेस 3’ से किस तरह की उम्मीदें हैं ?

यह कहना गलत होगा कि मुझे या मेरी फिल्मों को ’किक’ (2014) के बाद कामयाबी नहीं मिली। दरअसल उसके बाद फिल्म मेकर्स का जो भरोसा मुझ पर कायम हुआ, वह लगातार बढ़ता जा रहा है। ’ब्रदर्स’,’ढिशुम’ और ’जुड़वां 2’ ने बॉक्स ऑफिस पर काफी अच्छा प्रदर्शन किया था। जहां तक ’रेस 3’ की बात है, मैं फिल्म और अपने किरदार को लेकर बेहद उत्साहित हूं। इसमें मैंने पूरी तैयारी के साथ एक्शन किया है। किरदार भी बिलकुल अलग तरह का है। इन सारी वजहों से मैं फिल्म की रिलीज का बेकरारी से इंतजार कर रही हूं।

सलमान खान और अक्षय कुमार जैसे सीनियर्स के साथ साथ आप  नई पीढ़ी के वरूण धवन, सुशांत और सिद्धार्थ के साथ काम कर चुकी हैं। इन अलग अलग पीढि़यों के कलाकारों में आप किस तरह का फर्क महसूस करती हैं?

मैं खुशनसीब हूं कि मैंने दोनों जेनरेशंस के एक्टर्स के साथ काम किया है लेकिन मुझे दोनों जेनरेशन के एक्टर्स के बीच किसी तरह का फर्क महसूस नहीं हुआ। दोनों लगभग एक जैसे ही हैं। जब पुरानों को देखती हूं तो लगता है कि उनके पास नये कलाकारों के मुकाबले ज्यादा इनर्जी है लेकिन नये अपने काम को ज्यादा व्यवस्थित हैं। खासकर अक्षय और वरूण में मुझे काफी समानताएं नजर आती हैं। दोनों सेट पर ढेर सारी एनर्जी के साथ आते हैं। सलमान और अक्षय जैसे कलाकार अब तक एक मुकाम पर बने हुए हैं और ऐसा सिर्फ उनके पैशन के कारण है। नए एक्टर्स भी पेशनेट हैं और उनमें भी अच्छी एनर्जी है।

आपको एक फैशनेबल एक्ट्रेस माना जाता है। आपकी निजी जिंदगी में फैशन का कितना महत्त्व है ?

मेरे लिए फैशन बहुत जरूरी है। फैशन में एक अलग किस्म का जॉब मिलता है जिसे एंजॉय करती हूं। मैं बहुत एक्सपेरीमेंटल हूं। फैशन को लेकर इतना ध्यान रखती हूं । मेरे अंदर फैशन कूट कूट कर भरा है। यह सब किसी और के लिए नहीं बल्कि खुद के लिए करती हूं।

क्या अपनी जिंदगी के सबसे बुरे अनुभवों को लोगों के साथ शेयर करना पसंद करेंगी ?

गनीमत है कि अब तक मेरी जिंदगी में ऐसा कुछ भी नहीं हुआ है जिसे मैं अपने सबसे बुरे अनुभव के रूप में याद रख सकूं। छोटे मोटे अप एंड डाउन्स तो आते ही रहते हैं लेकिन मैं सबके प्रति पॉजिटिव अप्रोच रखती हूं। मैं उन अनुभवों को बिलकुल याद रखना नहीं चाहती जो बुरे हों। कुछ एक याद भी हों तो उन्हें मैं दूसरों के साथ शेयर तो बिलकुल नहीं करना चाहूंगी।

आप अपनी पॉजिटिविटी के लिए पहचानी जाती हैं। आप कभी स्ट्रेस में नजर नहीं आतीं ?

मेरी सबसे बड़ी खासियत यही है कि बड़ी से बड़ी परेशानी में खुद को, मैं बड़ी आसानी के साथ संभाल लेती हूं। जब यह दुनिया और दुनिया में रहने वाले हम सभी फनी हैं तो फिर किसी चीज की क्या इंपोर्टेंस रह जाती है।

आप अब तक 5 करोड़ के पास ही अटकी हुई हैं जबकि दीपिका, कंगना और प्रियंका जैसी एक्ट्रेस 10 करोड़ से ज्यादा की प्राइज़ तक जा पहंुची हैं। दूसरी एक्ट्रेसों के मुकाबले आपकी प्राइज़ में जो यह बड़ा अंतर है, उसके बारे में क्या कहना चाहेंगी ?

वे सभी मुझसे सीनियर हैं। वो ढेर सारा काम कर चुकी हैं। उन सभी के पास मेरे मुकाबले ज्यादा एक्सपीरियंस हैं। कहने में मुझे किसी तरह की हिचकिचाहट नहीं है कि मेरे मुकाबले उनकी डिमांड ज्यादा है और जिसकी जितनी डिमांड होगी, उसका उतना ही प्राइज भी होगा। मुझे नहीं लगता कि इसमें कोई खास बात है। मुझे सिर्फ मेल एक्टर्स के मुकाबले फीमेल एक्ट्रेस को मिलने वाली कम प्राइज पर एतराज है। हम एक्ट्रेसों के बीच प्राइज का जो यह अंतर है, उसे मैं स्वाभाविक प्रक्रिया मानती हूं।

बॉलीवुड में स्टार किड्स को जो स्पेशल ट्रीटमेंट दिया जाता है, उसे लेकर कभी मन में दुखः होता है ?

मुझे लगता है कि शुरूआत में बेशक स्टार किड्स को कई सहूलियतें रहती हों लेकिन आखिर में कदर सिर्फ कामयाब और काबिल व्यक्ति की ही होती है। यदि आप नाकाम हैं और किसी बड़े प्रोडयसर, डायरेक्टर या स्टार के बेटे या बेटी हैं तो भी यह इंडस्ट्री आपको बाहर खदेड़ने से नहीं चूकेगी। 

अक्सर देखा गया है कि फिल्म इंडस्ट्री में कामयाबी मिलते ही कलाकार अपनी पुरानी लकीर से इधर उधर होना नहीं चाहता। नया सीखने और नये प्रयोग करने से अक्सर वह बचता रहता है। आपको नया सीखते रहने और नया करने में कितनी दिलचस्पी है ?

हमें सब कुछ मालूम है, वाला भाव किसी के लिए ठीक नहीं होता। जिस दिन आपने मान लिया कि आपको सब कुछ आता है उसी दिन से आपका विकास रूक जायेगा। अपने काम और जीवन के बारे में हमें प्रतिदिन कुछ न कुछ नया सीखने को मिलता है। हमारे पास जीवन है, समय है, सीखने के साधन हैं और अवसर मिल रहा है, तो जरूर सीखते रहना चाहिए।

ये भी पढ़े: भिलाई : एलियन मिलने की अफवाह, लोगों की भीड़ उमड़ी

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED