Logo
August 7 2020 03:10 PM

ऐसे समझें शनि देव के प्रकोप की साढ़ेसाती के बारे में...

Posted at: Jul 4 , 2020 by Dilersamachar 5128

दिलेर समाचार, शनि आने पर शुरुआती ढाई साल में सिर पर रहते हैं, इसके बाद के ढ़ाई साल में वे पेट पर व आखिरी ढाई सालों में वे पैरों पर अपना खास असर दिखाते हैं।

साढ़ेसाती का मतलब है कि एक जातक की कुंडली में साढ़े सात साल तक शनि का प्रभाव रहना, और यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में ऐसा होता है। तो शनि की साढ़ेसाती के बुरे प्रभाव से बचने के लिए आप कुछ आसान उपाय कर सकते हैं, ताकि शनि की बुरी दृष्टि से आपको बचे रहने में मदद मिल सके।

शनि की साढ़ेसाती से बचाव -

1. मंगलवार का उपाय...

माना जाता है कि शनि कभी भी हनुमान जी के भक्तों को परेशान नहीं करता, वहीं सप्ताह के दिनों में मंगलवार के कारक देव श्री हनुमान माने जाते हैं। ऐसे में मंगलवार का व्रत करने से, मंगलवार के दिन हनुमान मंदिर जाने से, मंगलवार को सुंदरकांड का पाठ करने से, हनुमान मंदिर में मंगलवार के दिन दिया जलाने से, शनि की साढ़ेसाती के बुरे प्रभाव से बचने में मदद मिलती है। मंगलवार के साथ शनिवार को भी सुंदरकांड और हनुमान चालीसा का पाठ करना फायदेमंद माना जाता है।

2. गुरुवार को यह करें

गुरुवार के दिन चने की दाल और गुड़ या फिर ताजे आटे के पेड़े पर हल्दी लगाकर गाय को खिलाने से भी शनि दोष को शांत करने में मदद मिलती है।

शनिवार के दिन करें यह उपाय

शनिवार के दिन एक बर्तन में पानी लेकर उसमें जल डालें और उसके बाद उसमें थोड़ी चीनी और काला तिल मिलाकर पीपल की जड़ में अर्पित करें उसके बाद पीपल के पेड़ की तीन परिक्रमा लगाएं ऐसा करने से शनि प्रसन्न होते हैं।

इसके अलावा शनिवार के दिन उड़द दाल की खिचड़ी बनाकर खाएं ऐसा करने से भी शनि दोष के कारण प्राप्त होने वाले कष्ट में कमी आती है और शनि दोष से राहत पाने में मदद मिलती है। शनिवार के दिन पीपल पर दिया जलाने से भी शनि दोष को कम करने में मदद मिलती है।

वहीं शनिवार के दिन तेल का पराठा बनाकर उस पर कोई मीठा पदार्थ रखकर गाय के बछड़े को खिलाने से भी शनिदेव प्रसन्न होते हैं।

शनि मंत्रों का जाप...

शनिवार और मंगलवार के दिन हनुमान जी व शनि के मंत्रों का उच्चारण करें, ऐसा करने से भी शनि की साढ़ेसाती के बुरे प्रभाव से बचे रहने में मदद मिलती है।

शिव की पूजा...

जानकारों का कहना है कि भगवान शिव की पूजा करने से भी शनि की साढ़ेसाती के प्रभाव को खत्म करने में मदद मिलती है। यदि आप पर शनि की साढ़ेसाती है तो इसके लिए आप शनिवार के दिन शिव चालीसा का पाठ करें, महामृत्युंजय मंत्र का जाप करें, मान्यता के अनुसार ऐसा करने से शनि दोष शीघ्र ही दूर हो जाता है।

ये करें दान...

शनिवार के दिन काला कपडा, काले तिल, काली दाल, लोहे के सामान, कम्बल आदि का दान करें। ऐसा करने से शनि की साढ़ेसाती के प्रभाव को कम करने में मदद मिलती है।

शनि मंदिर अवश्य जाएं

शनिवार को शनि मंदिर जरूर जाएं और सरसों के तेल और काले तिल से शनि देव की पूजा करें, साथ ही सिंदूरी हनुमान जी की भी पूजा करें, माना जाता है कि ऐसा करने से भी शनि की साढ़ेसाती के कारण होने होने वाले बुरे प्रभाव को कम करने में मदद मिलती है।

बुरे कर्म न करें

किसी के बारे में बुरा न बोलें, बुरा न सोचें, किसी का बुरा न करें, ऐसा कोई काम न करें जिससे किसी का बुरा हो, सबके लिए अच्छा करें, जरूरतमंद की मदद करें। ऐसा करने से भी शनि की अच्छी दृष्टि आप पर बनी रहती है और शनि की बुरी दृष्टि से आपको बचे रहने में मदद मिलती है।

ये भी पढ़े: अगर आपके साथ घट रही है ये अनहोनी, तो समझ लीजिए कि शुरू होने वाले हैं आपके बुरे दिन!


Tags:

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED