Logo
August 7 2020 02:58 PM

अपने पेट को रखिए चुस्त-दुरूस्त

Posted at: Jul 5 , 2020 by Dilersamachar 5336

सोनी मल्होत्रा

पेट केवल भोजन के लिए नहीं होता बल्कि यह हमारे शरीर का अति महत्त्वपूर्ण भाग है परंतु जब इसी पेट पर चर्बी की परतें चढ़ने लगती हैं तो हम अनाकर्षक तो लगते ही हैं, साथ ही इससे हमारा स्वास्थ्य भी प्रभावित होता है। पेट की मांसपेशियों का मजबूत व स्वस्थ होना बहुत आवश्यक है।

पेट की मांसपेशियां मजबूत हों तो कई अन्य अंगों को क्षति नहीं पहुंचती। पेट की मांसपेशियां अगर कमजोर हैं तो पीठ की मांसपेशियों और रीढ़ पर ही शरीर का सारा बोझ पड़ता है। अपने पेट को पुष्ट बनाकर हम पीठ और रीढ़ की अनेक तकलीफों को दूर रख सकते हैं। पेट के ढीलेपन को दूर करने के लिए हमें नियमित व्यायाम करने चाहिए।

विशेषज्ञों के अनुसार पेट की मांसपेशियों को चुस्त दुरूस्त बनाने वाले व्यायाम पीठ को सुदृढ़ बनाते हैं। विशेषज्ञों के अनुसार पेट और पीठ के निचले हिस्से की मांसपेशियां आपस में मिल कर मांसपेशियों के एक स्तंभ का निर्माण करती हैैं जिन्हें रीढ़ के चारों ओर मजबूत स्थिति में होना चाहिए। पेट में चर्बी जमा होने पर असंतुलन अत्यधिक हो जाता है और रीढ़ पीछे की ओर झुकने लगती है, इसलिए व्यायाम के द्वारा आप न केवल अपने पेट को सपाट व सुंदर बना सकते हैं बल्कि सुदृढ़ एवं रोगमुक्त पीठ भी पा सकते हैं।

इन व्यायामों को करने से पूर्व आप अपने डॉक्टर से अवश्य सलाह लें। व्यायाम धीरे-धीरे शुरू करें। किसी भी व्यायाम को उतनी बार ही करें जिससे आपको कोई कष्ट न हो। आइए जानें कि इन व्यायामों को कैसे करना है।

त पीठ के बल लेट जाएं। घुटने, अंदर की तरफ मुड़े हुए हों। हाथों की उंगलियां कानों को स्पर्श करनी चाहिए। अब धीरे-धीरे ऊपरी धड़ को उठाएं जब तक कि कंधा फर्श से ऊपर न हो जाए। इस अवस्था में कुछ सेकंड रहें, फिर धड़ को नीचे लाएं व नीचे लाते वक्त सांस लें।

त फर्श पर पीठ के बल लेट जाएं। घुटने मुड़े हुए रहें। हाथों को मोड़ कर क्रास बनाते हुए एक हाथ से दूसरी बाजू को पकड़ें और दूसरे हाथ से विपरीत बाजू को। अब दाहिने कंधे को धीरे-धीरे बाएं घुटने की दिशा में उठाएं और इस अवस्था में कुछ सेकंड रहें। ऐसा ही बाएं कंधे से करें। 3-4 बार यह व्यायाम दोहराएं।

त पीठ के बल सीधे लेटिये। हाथांे ंको सीधा सिर के पीछे ले जाएं व फर्श से सटाएं। एक एक टांग को घुटने पर मोड़ कर सीने के पास तक ले जाएं। दूसरी टांग बिलकुल सीधी रखें। फिर यह क्रिया दूसरे पैर से करें। इस व्यायाम को 3-4 बार दोहराएं। यह व्यायाम साइकिल चलाने जैसा होगा।

त पीठ के बल लेट जाएं। अपने हाथ सिर की सीध में जमीन से सटा कर पीछे ले जाएं। अब अपनी दोनों टांगों को एक साथ जोड़ कर धीरे-धीरे ऊपर उठाएं। आपकी अवस्था ऐसी होनी चाहिए जैसे 90 प्रतिशत का कोण होता है। इस अवस्था में घुटने सीधे होने चाहिए। कुछ सेकंड के पश्चात टांगों को धीरे-धीरे नीचे लाएं। सीधे खड़े हो जाएं। दोनों टांगों को कंधे की चौड़ाई तक फैलाएं। अब बायां हाथ सिर के ऊपर से जाकर दाहिना कान छुएं।

आपका दायां हाथ थोड़ा नीचे पर सीधा होना चाहिए और आपका कमर से ऊपर का हिस्सा दाहिनी तरफ झुकेगा। इस अवस्था में आपके शरीर की बाए और खिंचाव पड़ना चाहिए। यह प्रक्रिया आप फिर दूसरी तरफ दोहराएं। दोहराने से पूर्व फिर एकदम बाएं सीधे खड़े होकर पुनः प्रारंभावस्था में आ जाएं।

त पांव को एक दूसरे से कंधों से थोड़े ज्यादा चौडे़ फैला कर खड़े हों। बांहों को भी फैलाएं। कुहनियां मुड़ें नहीं। अब पांव जमा कर सिर्फ शरीर के ऊपरी हिस्से को दाहिनी तरफ जितना घुमा सकते हैं घुमाएं। फिर धीरे-धीरे सामान्य स्थिति में लाएं। एक-दो सेकंड के पश्चात् यह प्रक्रिया बायीं तरफ घूम कर दोहराएं।

ये भी पढ़े: नेपाली कम्युनिस्ट पार्टी की आज होने वाली बैठक टली


Tags:

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED