Logo
April 4 2020 11:07 AM

Kota infant death: कोटा में 33 दिन में 104 बच्चों की मौत, Mayawati ने की ये मांग

Posted at: Jan 3 , 2020 by Dilersamachar 5360

दिलेर समाचार, Rajasthan में Kota के जेके लोन अस्पताल में बच्चों की मौत का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। 33 दिन में अब तक यहां 104 मासूमों की सांसे थम चुकी हैं। वहीं पूरे मामले पर राजनीतिक चरम पर पहुंच गई है। चौतरफा हमले हुए Rajasthan के मुख्यमंत्री Ashok Gehlot ने बयान दिया कि बच्चों की मौत का यह आंकड़ा पांच साल में सबसे कम है और भाजपा इस पर राजनीति कर रही है। इस बीच, मायावती ने अशोक गहलोत सरकार को बर्खास्त करने की मांग की है। बसपा सुप्रीमो ने शुक्रवार को ट्वीट कर कहा, 'राजस्थान की कांग्रेसी सरकार के सीएम अशोक गहलोत का कोटा में मासूम बच्चों की हुई मौत पर अपनी कमियों को छिपाने के लिए दिया गया राजनैतिक बयान शर्मनाक है। ऐसे में कांग्रेस का लगभग 100 माओं की कोख उजड़ जाने पर केवल अपनी नाराजगी जताने से काम नहीं चलेगा, बल्कि इनको तुरन्त बर्खास्त करके वहां अपने सही व्यक्ति को सत्ता में बैठाना चाहिए'

2. ऐसे में कांग्रेस का लगभग 100 माओं की कोख उजड़ जाने पर केवल अपनी नाराजगी जताने से काम नहीं चलेगा बल्कि इनको तुरन्त बर्खास्त करके वहाँ अपने सही व्यक्ति को सत्ता में बैठाना चाहिये। तो यह बेहतर होगा। वरना वहाँ और भी माओं की कोख उजड़ सकती है।

इससे पहले गुरुवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और बसपा सुप्रीमो मायावती ने बच्चों की मौत को लेकर न केवल कांग्रेस पर निशाना साधा, बल्कि सीधे-सीधे प्रियंका गांधी वाड्रा को यह कहते हुए कठघरे में खड़ा किया कि उन्हें यूपी में राजनीति करने के बजाय कोटा जाकर पीड़ित माताओं को सांत्वना देनी चाहिए।

चौतरफा दबाव में आए गहलोत ने इन मौतों पर राजनीति नहीं करने की अपील की है। इस बीच, कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने राजस्थान में पार्टी प्रभारी अविनाश पांडे को तलब किया है। साथ ही मुख्यमंत्री गहलोत से भी जवाब मांगा है। राज्य सरकार ने इन मौतों के लिए ठंड, प्रीमेच्योर बर्थ और कम वजन जैसे कारणों को जिम्मेदार बताया है।

 

ये भी पढ़े: बिग बॉस 13 के घर से बेघर होने वाली हैं ये कंटेस्टेंट


Tags:

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED