Logo
June 26 2022 04:17 PM

Kota Live: कोटा में बच्चों की मौत का आंकड़ा 107 पहुंचा

Posted at: Jan 4 , 2020 by Dilersamachar 9365

दिलेर समाचार, राजस्थान में Kota के जेजे लोन हॉस्पिटल में बच्चों की मौत का आंकड़ा 107 पहुंच गया है। इस बीच, प्रदेश के बूंदी से ऐसी ही खबर आ रही है। जानकारी के मुताबिक, यहां के सरकारी अस्पताल में 10 बच्चों की मौत हो चुकी है और प्रशासन मामले को दबाने का काम कर रहा है। एक महीन में 10 बच्चों की मौत का मामला सामने आने के बाद कलेक्टर ने जांच के आदेश जारी किए हैं। शनिवार को लोकसभा स्पीकर और Kota से सांसद ओम बिरला ने पीड़ित परिवारों से मुलाकात की। इस बीच, केंद्र सरकार की एक टीम भी वहां पहुंच गई है। दूसरी ओर, प्रदेश के डिप्टी सीएम सचिन पायलट आज जेजे लोन हॉस्पिटल का दौरा करेंगे और सोनिया गांधी को रिपोर्ट सौपेंगे।
106 बच्चों की मौत का ठिकाना कोटा का जेके लोन अस्पताल खुद ही बीमार है। अस्पताल में आवश्यक और जीवनरक्षक श्रेणी में आने वाले कई नेबुलाइजर, वॉर्मर और वेंटिलेटर सहित 60 प्रतिशत उपकरण काम नहीं कर रहे हैं। अस्पताल के 50 वॉर्मर हैं, लेकिन 35 लंबे समय से खराब पड़े थे, जब मौतों की संख्या बढ़ी तो गुरुवार से इन्हें सुधारने का काम शुरू हुआ। पीलिया, सांस में तकलीफ, निमोनिया से पीड़ित बच्चों को वॉर्मर में रखा जाता है, लेकिन यहां कम होने के कारण एक-एक वॉर्मर में दो-दो बच्चों को रखा गया है।
तीन वार्डो में 174 बेड पर 267 बच्चे भर्ती हैं। इनमें ICU के 53 बेड पर 73 और PICU वार्ड के 12 बेड पर 25 बच्चों का इलाज किया जा रहा है। कुछ बच्चों को कंबल बिछाकर लोहे की बेंच पर जगह दी गई है।
बुधवार तक कुछ बच्चों को जमीन पर लिटाया गया था, लेकिन जैसे ही मौतों को लेकर सरकार की भद्द पिटी उन्हें दूसरी जगह शिफ्ट किया गया। एक ही बेड पर एक से ज्यादा बीमार हों तो एक दूसरे को संक्रमण का खतरा बना रहता है। मौत के कारणों में संक्रमण भी माना गया है।
हॉस्पिटल में सेंट्रल ऑक्सीजन लाइन नहीं होने के कारण सिलेंडरों से ऑक्सीजन सप्लाई होती है। इन अव्यवस्थाओं के बारे में एक अभागे माता पिता ने बताया कि स्टाफ उनसे ही कहता था कि ऑक्सीजन सप्लाई जारी है कि नहीं चेक कर लें।

ये भी पढ़े: आयुष्मान भारत योजना में फर्जीवाड़ा करने पर बाहर हुए 171 अस्पताल पैनल

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED