Logo
September 25 2021 02:37 AM

लोकसभा चुनाव : सीट शेयरिंग पर बोले सीएम नीतीश कुमार, कहा- सिर्फ दरभंगा के लिए दिया था जोर

Posted at: Apr 3 , 2019 by Dilersamachar 9752

दिलेर समाचार, पटना । लोकसभा चुनाव से ठीक पहले बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक निजी चैनल को दिए इंटरव्यू में कई खुलासे किए हैं. इस दौरान उन्होंने शाहनवाज हुसैन के उस बयान का भी जवाब दिया, जिसमें उन्होंने नीतीश कुमार और उनकी पार्टी जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) पर भागलपुर लोकसभा सीट छीनने का आरोप लगाया था. सीएम नीतीश ने नाराजगी व्यक्त करते हुए भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) से स्थिति स्पष्ट करने की मांग कर दी है.

नीतीश कुमार ने कहा, 'पहली बार 2005 में शाहनवाज हुसैन को भागलपुर उपचुनाव में मेरे ही कहने पर बीजेपी ने चुनाव लड़वाया था. उन्हें अपनी पार्टी के अध्यक्ष और प्रभारी से पूछना चाहिए कि उनका टिकट क्यों भागलपुर से काट दिया गया.'

सीएम नीतीश कुमार ने सीट शेयरिंग पर खुलासा करते हुए कहा, 'मैंने तो नहीं भागलपुर सीट बीजेपी से मांगा भी नहीं था. मैंने अगर किसी एक सीट के लिए जोर दिया था तो वह दरभंगा सीट है. जो कि नहीं मिली.' ज्ञात हो कि बिहार में जेडीयू और बीजेपी 17-17 सीटों पर चुनाव लड़ रही है. दरभंगा सीट बीजेपी के खाते में गई है. यहां से पहले नीतीश कुमार के करीबी संजय झा के जेडीयू से चुनाव लड़ने की बात चल रही थी. लेकिन अंतिम दौर में परिस्थिति बदल गई. संजय झा लगातार क्षेत्र में अपने काम और जनसंपर्क अभियान से चुनाव की तैयारी में जुटे थे.

जेडीयू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और चुनावी रणनीतिकार से हाल ही में राजनेता बने प्रशांत किशोर को जेडीयू के भीतर दरकिनार किए जाने की खबरों को खारिज करते हुए नीतीश कुमार ने कहा 'वह पार्टी की प्रचारक सूची में शामिल है. अभी उनके पिता जी की तबियत खराब है और वे उनकी देखभाल में लगे हैं.' पार्टी में प्रशांत की हैसियत दूसरे नंबर की होने के बारे में पूछने पर नीतीश ने कहा 'वे जदयू के उपाध्यक्ष हैं. संख्या विश्लेषण का विषय हो सकता है. उनके प्रति पार्टी के भीतर सम्मान का भाव है, लेकिन उनके मन में अगर कोई भ्रम हो तो यह एक अलग बात है. उन पर मुझे पूरा विश्वास और भरोसा है. मेरे प्रति भी वे स्नेह भाव रखते हैं लेकिन कभी कभी राजनीति में कई तरह की बातें होती हैं. अब तक वे राजनीतिक रणनीतिकार थे पर अब वे राजनीतिक कार्यकर्ता हैं. राजनीतिक कार्यकर्ता जमीन से जुड़े होते हैं.'

ये भी पढ़े: तेजप्रताप यादव को मिली जान से मारने की धमकी, जांच में जुटी पुलिस

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED