Logo
October 26 2020 12:57 AM

MP Election 2018: पहली बार रिकॉर्ड तोड़ेंगे पोस्टल बैलेट

Posted at: Nov 14 , 2018 by Dilersamachar 10159

दिलेर समाचार, ग्वालियर। विधानसभा चुनाव-2018 में इस बार पोस्टल बैलेट रिकॉर्ड तोड़ेंगे। प्रदेश में पहली बार अभियान बतौर पोस्टल बैलेट को भारत निर्वाचन आयोग के निर्देश पर शुरू किया गया है। आयोग का मकसद है कि इस बार मतदान प्रतिशत ज्यादा से ज्यादा बढ़ाया जाए।

प्रदेशभर के जिला बल, होमगार्ड और बटालियन के जवान-अफसरों का वोटिंग प्रतिशत बहुत ही कम रहता है। चुनाव ड्यूटी के कारण जिले-प्रदेश से बाहर भेज दिया जाता है। इस बार निर्वाचन आयोग ने एसएएफ आईजी योगेश देशमुख को पोस्टल बैलेट का प्रदेश का नोडल अधिकारी बनाया है।

अब तक प्रदेश के 70 हजार जवान पोस्टल बैलेट के लिए ट्रैक कर लिए गए हैं। बटालियनों में आयोग की इस स्पेशल ड्राइव का खास असर दिखेगा, क्योंकि अभी तक पूरी-पूरी बटालियन जो वोट नहीं डाल पाती थीं, वह अब जरूर भाग लेंगी।

भारत निर्वाचन आयोग की इस स्पेशल ड्राइव में प्रदेश के जिलों में जिला बल, एसएएफ और होमगार्ड के जवानों को शामिल किया गया है। यह तीन विंग ऐसी हैं जो चुनाव डयूटी में इनकी कंपनियों बाहर भेजी जाती हैं। इस कारण जवानों का चुनाव डयूटी में वोट डाल पाना संभव नहीं हो पाता है। आमतौर पर जवान लंबे समय से मतदान में भाग ही नहीं ले पाते हैं।

आईजी और एसपी को पत्र लिखे-पोस्टल बैलेट से कोई चूक न हो

निर्वाचन आयोग के निर्देश पर इस बार पोस्टल बैलेट के नोडल अधिकारी आईजी एसएएफ योगेश देशमुख ने प्रदेशभर के रेंज व जिलों के आईजी व एसपी को पत्र जारी किए हैं। इसमें लिखा गया है आयोग के वोटिंग प्रतिशत बढ़ाने के मकसद के लिए फोर्स को अधिक से अधिक तौर पर पोस्टल बैलेट में शामिल करना है। ग्वालियर जिले में 14 बटालियन, 13 बटालियन, सेकंड बटालियन, जिला बल और होमगार्ड के जवानों को मतदान में शामिल करने के लिए पोस्टल बैलेट भराए जाएंगे। इसके लिए जवानों को सूचीबद्व करने की कार्रवाई कर ली गई है।

1 लाख से ज्यादा जवान बढ़ाएंगे वोटिंग प्रतिशत

प्रदेश में अब तक 70 हजार जवानों को ट्रैक कर लिया गया है। यह अभियान अभी जारी है जिसमें यह आंकडा एक लाख या इससे ज्यादा तक होने की पूरी उम्मीद है। प्रदेशभर में जवानों का बड़ा आंकड़ा वोटिंग प्रतिशत को बढ़ाएगा, इसमें कोई संदेह नहीं है।

ग्वालियर में 14 बटालियन में अधिकारी और कर्मचारी मिलाकर कुल 1300 लोग पहली बार ही वोट देंगे। इन सभी कर्मचारियों के पोस्टल बैलेट भरवाए जाएंगे। 14 बटालियन कमांडेंट एमएल छारी ने बताया कि इस बार उनकी बटालियन के शत-प्रतिशत अधिकारी और कर्मचारी वोट डालेंगे। इससे पहले कभी जवान वोट ही नहीं डाल पाते थे क्योंकि उनकी डयूटी चुनाव में बाहर लग जाती है।

ये भी पढ़े: राफेल डील: कीमत पर बहस तभी, जब कोर्ट उसे सार्वजनिक करने का फैसला करेगी - CJI


Tags:

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED