Logo
January 15 2021 09:10 PM

Mumbai Rain: समुद्र में हाईटाइड, उठ रही हैं ऊंची ऊंची लहरें

Posted at: Aug 6 , 2020 by Dilersamachar 9198

दिलेर समाचार, मुंबई. मुंबई (Mumbai Rains) में पिछले कुछ दिनों से हो रही भारी बारिश से जनजीवन अस्‍त-व्‍यस्‍त हो गया है. लोगों का बारिश के कारण बुरा हाल है. सड़के डूबी हैं, लोकल ट्रेनें बंद हैं. बुधवार को 107 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से तेज हवाएं चलीं. इसके साथ ही भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने कहा है कि मुंबई और उसके आसपास के इलाकों में गुरुवार सुबह तक भारी बारिश जारी रहेगी. वहीं समुद्र में दोपहर को हाईटाइड आया. इस दौरान 4.33 मीटर ऊंची लहरें उठ रही हैं.वहींं बारिश के कारण काेल्‍हापुर में बाढ़ से 34 सड़कें बंद हो गई हैं. इनमें 9 राज्‍य हाईवे भी हैं.

हाई टाइड के चलते समुद्र में ऊंची-ऊंची खतरनाक लहरें उठनी शुरू हो गई हैं. हाई टाइड के साथ तेज हवाएं और रिमझिम बारिश हो रही है. हाईटाइड के चलते समुद्र में जबरदस्त हलचल है और उस ऊंची-ऊंची खतरनाक लहरें उठ रही हैं.

पुणे भी हल्की बारिश जारीमुंबई के अलावा पुणे के भी कुछ हिस्सों में गुरुवार सुबह से हल्की-हल्की बारिश हो रही है. भारतीय मौसम विभाग ने पुणे में पूरे दिन बादल छाए रहने और हल्की बारिश होने का अनुमान जताया है.

वहीं बारिश के कारण उपजी किसी भी स्थिति से निपटने के लिए महाराष्‍ट्र में एनडीआरएफ की 16 टीमें तैनात की गई हैं. इनमें से 5 मुंबई में तैनात हैं. इसके अलावा 4 टीमें कोल्‍हापुर, 2 टीमें सांगली और 1-1 टीम सतारा, ठाणे, पालघर, नागपुर और रायगढ़ में तैनात की गई हैं.

बुधवार को भारी बारिश के कारण रायगढ़ जिले में जवाहरलाल नेहरू पोर्ट ट्रस्ट में तैनात उच्च क्षमता वाली तीन क्रेन तेज हवाओं के कारण उलट गयी, लेकिन इस हादसे में कोई हताहत नहीं हुआ.

आईएमडी के अनुसार सुबह 8.30 बजे से शाम 5.30 बजे तक मुंबई में भारी बारिश (20 सेमी से भी ज्यादा) हुई. कोलाबा में 22.9 सेमी, सांताक्रूज़ में 8.8 सेमी बारिश दर्ज की गई. हवा की रफ्तार 70 किमी प्रति घंटे तक पहुंच गई और कोलाबा में शाम करीब पांच बजे 107 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चली.मुंबई के मरीन ड्राइव इलाके में मौजूद इस्लाम जिमखाना, पारसी जिमखाना का ग्राउंड नदी में तब्दील हो चुका है. साथ ही मरीन ड्राइव स्टेशन जाने वाले रास्ते पर भी पानी भरा हुआ है. यह सभी मंजर कल मुम्बई में पैदा हुए हालात को बता रहे हैं. दोनों जिमखाना का ग्राउंड नदी में तब्दील हो चुका है और कमर तक पानी भरा हुआ है. इतना ही नहीं, पानी जिमखाना के अंदर तक पहुंच चुका है. पानी मे बैरिकेडिंग, पेड़ बड़ी संख्या में गिरे हुए हैं.बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) ने बताया कि दक्षिणी मुंबई के कुछ इलाकों में अब भी जलभराव की स्थिति है, जबकि शहर और उपनगर के अन्य हिस्सों में जलभराव कम हुआ है.

विशेष बुलेटिन के अनुसार मुंबई और कोंकण तट से सटे इलाकों में सुबह तक 70 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने का अनुमान है. उसके बाद हवा की गति में धीरे-धीरे कमी आने की संभावना है.महाराष्ट्र के मंत्री आदित्य ठाकरे ने भी लोगों से घर में रहने की अपील की है. उन्होंने ट्वीट में कहा, 'सभी लोग घर में ही रहें. मंबई तेज हवाओं और भारी बारिश का सामना कर रही है, जैसा की हम सब देख रहे हैं. मैं सभी लोगों से, खासकर पत्रकारों से जो इस घटना को कवर कर रहे हैं, उनसे अपील करता हूं कि जहां हैं, वहीं पर सुरक्षित रहें.'

बुधवार को लगातार भारी बारिश और तेज हवाओं के कारण मुंबई और पड़ोसी ठाणे व पालघर जिलों में जनजीवन प्रभावित हुआ. भारी बारिश के कारण उपनगरीय ट्रेन और बस सेवाएं भी बाधित हुईं. राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) और रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) ने यहां भारी बारिश के चलते रेल पटरियों पर पानी भर जाने के बाद दो लोकल ट्रेनों में फंसे 290 यात्रियों को सुरिक्षत तरीके से बाहर निकाल लिया.

इस बीच, सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक राज्य के सामाजिक न्याय मंत्री धनंजय मुंडे सहित दर्जनों अन्य लोग यहां ईस्टर्न फ्रीवे पर ट्रैफिक में करीब साढ़े तीन घंटे फंस गए. वह यहां यशवंतराव चव्हाण केंद्र में राकांपा नेताओं की एक बैठक में शरीक होने जा रहे थे. मुंडे के करीबी सूत्रों ने बताया, 'भारी बारिश होने के कारण मंत्री का वाहन फ्री वे पर ट्रैफिक जाम में फंस गया. वह वहां से बैठक में करीब साढे तीन घंटे बाद पहुंच सके.'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से बात की और मुंबई और आसपास के इलाकों में भारी बारिश के चलते उत्पन्न स्थिति पर चर्चा की और उन्हें हरसंभव मदद का आश्वासन दिया. प्रधानमंत्री कार्यालय ने एक ट्वीट में कहा, 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से मुंबई और आसपास के इलाकों में भारी बारिश के चलते उत्पन्न स्थिति पर बात की.' इसके मुताबिक प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्री को हरसंभव मदद का आश्वासन दिया.

 

ये भी पढ़े: Live: नई शिक्षा नीति को लेकर बोले पीएम मोदी, कहा-सिर्फ कागज नहीं जमीन पर भी उतरेगी नई शिक्षा नीति


Tags:

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED