Logo
January 24 2020 08:02 AM

नेमार-म्बापे को मजबूरन बेचना पड़ सकता है पेरिस सेंट जर्मेन को बेचना

Posted at: Dec 25 , 2018 by Dilersamachar 15318
दिलेर समाचार, क्लब पर खामियों को सुधारने के लिए एफएफपी का 170 मिलियन पाउंड (करीब 13 अरब 55करोड़ 35 लाख रुपये) का वित्तीय भार है। दिग्गज आई लीग क्लब ने रिकॉर्ड राशि के साथ इन दोनों को अपने साथ जोड़ा था।

ये भी पढ़े: पीबीएल : मारिन और लक्ष्य जीते पर टीम पुणे हारी

पीएसजी को अब अपनी बेलैंस शीट दुरुस्त करने के लिए न चाहते हुए भी इन दोनों स्टार खिलाड़ियों में से एक को बेचना होगा। यूईएफए ने मैगा मनी करार को लेकर पीएसजी के खिलाफ जांच शुरू कर दी है। जांच में अगर क्लब दोषी पाया जाता है तो उसे चैंपियंस लीग से निलंबित भी किया जा सकता है। हालांकि क्लब ऐसा होने की स्थिति मेें खेल पंचाट में जाने पर विचार कर रहा है। 
 

रिकॉर्ड करार के साथ खरीदा था नेमार को
पीएसजी ने पिछले साल अगस्त में ब्राजीली स्टार नेमार को बार्सिलोना से रिकॉर्ड राशि के साथ खरीदा था। पीएसजी ने उन्हें 198 मिलियन पाउंड (करीब 1600 अरब रुपये) में खरीदा था और वह दुनिया के सबसे महंगे फुटबॉलर बने थे। 
 

ये भी पढ़े: लाखों के कपड़े पहनकर मलाइका ने की ऑटो रिक्शा सवारी

म्बापे भी कम नहीं
फीफा विश्व कप में फ्रांस की जीत के हीरो रहे म्बापे को दुनिया के दूसरे सबसे महंगे फुटबॉलर हैं। उन्हें मोनाक्कोे से 158 पाउंड   (करीब 1400 अरब रुपये) में खरीदा गया था। 
 

क्या है फाइनेंशियल फेयर प्ले
यूईएफए फाइनेंशियल फेयर प्ले रेग्युलेशन की स्थापना पेशेवर फुटबॉल क्लबों को सफलता की खोज में कमाई करने से ज्यादा खर्च करने और वित्तीय समस्याओं में ऐसा करने में रोकने के लिए की गई थी, जो उनके दीर्घकालिक अस्तित्व को खतरे में डाल सकती थी। 

 


Tags:

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED