Logo
September 27 2020 02:00 PM

ट्रंप की धमकी से नहीं डरा नॉर्थ कोरिया का तानाशाह किम जोंग कहा 'ये धमकी कुत्ते के भौंकने से ज्यादा कुछ नहीं'

Posted at: Sep 21 , 2017 by Dilersamachar 9335

दिलेर समाचार,उत्तर कोरिया लगातार युद्ध के लिए माहौल बना रहा है.  उत्तर कोरिया ने एक बार फिर अमेरिका को ललकारा है. कल अमेरिका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने उत्तर कोरिया को बर्बाद करने की धमकी दी थी.  इस पर उत्तर कोरिया का जवाब आया है. उत्तर कोरिया के विदेश मंत्री ने ट्रंप की धमकी को कुत्ते के भौंकने जैसा बताया है.
उत्तर कोरिया के विदेश मंत्री रि योंग हो ने कहा है, ‘’अमेरिका की धमकी कुत्ते के भौंकने की आवाज से ज्यादा कुछ नहीं है. अगर ट्रंप सोचते हैं कि वो कुत्ते के भौंकने की आवाज से हमें डरा देंगे तो ये उनकी गलतफहमी है.’’उन्होंने कहा कि उत्तर कोरिया अमेरिका की धमकी से डरने वाला नहीं है.
डॉनल्ड ट्रंप ने क्या कहा था ?
अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने संयुक्त राष्ट्र में उत्तर कोरिया के खिलाफ बहुत कड़ी भाषा का इस्तेमाल किया था. उन्होंने उत्तर कोरिया को पूरी तरह से नष्ट कर देने की चेतावनी दी और वहां के शासको को अपराधियों का गिरोह बताया.
क्या उत्तर कोरिया और अमेरिका में जंग छिड़ने वाली है ?
उत्तर कोरिया की वजह से दुनिया एक और जंग की दहलीज़ पर खडी है. दुनिया का माहौल इस वक्त बेहद तनावपूर्ण है, ना तो उत्तर कोरिया का तानाशाह किम जोंग ही मान रहा है और ना ही अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप की हमला करने की धमकियां ही थम रही हैं. संयुक्त राष्ट्र में ट्रंप ने तो उत्तर कोरिया को पूरी तरह नष्ट करने की चेतावनी दे दी. लेकिन सवाल ये है कि क्या ट्रंप वाकई उत्तर कोरिया पर हमले का आदेश दे सकते हैं?
हिलेरी क्लिंटन ने ट्रंप के बयान को बताया खतरनाक
ये सवाल इसलिए उठ रहा है, क्योंकि संयुक्त राष्ट्र में दिए गए उनके भाषण का उन्हीं के देश में विरोध हो रहा है. राष्ट्रपति चुनाव में उनकी विरोधी उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन ने उनके बयान को बेहद खतरनाक करार देते हुए कहा है कि ये बहुत खतरनाक था, ये ऐसा संदेश नहीं था जो दुनिया के एक महान राष्ट्र के नेता को देना चाहिए था.
उधर ट्रंप ने उत्तर कोरिया को धमकी दी. इधर उत्तर कोरिया से करीब 2 हजार किलोमीटर दूर रूस और चीन ने युद्धाभ्यास शुरू कर दिया. ऐसा लग रहा है मानों दोनों देशों की नौसेनाएं एक साथ युद्ध की तैयारियों में लग गयी हैं.
अमेरिका की सेकेंड आर्मर्ड ब्रिगेड ने द.कोरिया की आर्मी के साथ किया युद्धाभ्यास
रूस और चीन के इस युद्धाभ्यास की खास बात ये है कि रूस के करीब जिस ओखोत्सक सागर में दोनों युद्धाभ्यास कर रहे हैं वो उत्तर कोरिया से सिर्फ दो हजार किमी ही दूर है.
संयुक्त राष्ट्र में साउथ चाइना सी पर दिए ट्रंप के भाषण पर चीन ने अपनी नाराजगी जता दी है, इधर दक्षिण कोरियाई सेना ने अमेरिकी सैनिकों के साथ मिलकर युद्धाभ्यास किया है, इस युद्धाभ्यास में अमेरिका की सेकेंड आर्मर्ड ब्रिगेड ने दक्षिण कोरिया की आर्मी के साथ मिलकर भाग लिया.

ये भी पढ़े: दूसरी शादी करने के लिए धर्म परिवर्तन करना अवैध: इलाहाबाद हाईकोर्ट

 


Tags:

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED