Logo
February 23 2020 10:22 PM

एक ने तो 5वीं बार कहा- अलविदा इन खिलाड़ियों ने क्रिकेट से लिया संन्यास

Posted at: Dec 31 , 2017 by Dilersamachar 5307

दिलेर समाचार,जो आता है वो जाता भी है और ऐसा ही कुछ हुआ हर बार की तरह साल 2017 में भी। 2017 में कई खिलाड़ियों ने इंटरनेशल क्रिकेट को अलविदा कहा। आइए जानते हैं ऐसे ही 5 अहम खिलाड़ियों के बारे में जिनके करियर का इस साल अंत हुआ... 
पाकिस्तान की दीवार माने जाने वाले यूनिस खान ने इस साल इंटरनेशल क्रिकेट को अलविदा कहकर करोड़ों पाकिस्तान फैंस को मायूस किया। अपने डेब्यू टेस्ट मैच में शतक लगाने वाले यूनिस के नाम 118 टेस्ट में 52.06 की औसत से 10, 099 रन हैं। टेस्ट में यूनिस के नाम 34 शतक, इसमें 5 दोहरे और एक तिहरा शतक भी शामिल है। 

टेस्ट के असाला यूनिस ने पाकिस्तान के लिए 265 वन-डे मैच भी खेले। वन-डे में यूनिस के नाम 31.24 के औसत से 7,249 रन हैं। इसमें उनके 7 शतक और 48 अर्धशतक शामिल हैं।

टेस्ट और वन-डे के अलावा यूनिस ने अपने मूल्क के लिए 83 टी20 मैचों में भी शिरकत की। यूनिस ने टी20 में 30.55  की औसत से 1,864 रन बनाए। टीम इंडिया के तेज गेंदबाज आशीष नेहरा ने भी इस साल इंटरनेशल क्रिकेट से संन्यास ले लिया। चोटों से भरे अपने करियर का अंत नेहरा ने दिल्ला के फिरोज शाह कोटला मैदान पर श्रीलंका के खिलाफ आखिरी टी20 मैच खेलकर किया। 

आशीष नेहरा ने अपने करियर में 17 टेस्ट मैच खेले और 3.25 की इकॉनोमी रेट से 44 विकेट अपने नाम किए। वहीं एकदिवसीय करियर में आशीष नेहरा ने 120 मुकाबले खेले। इसमें उन्होंने 5.2 की इकॉनोमी रेट से 157 विकेट झटके। क्रिकेट से अपने संन्यास के बाद आशीष नेहरा ने कमेंट्री में अपने करियर की शुरुआत कर दी है। कभी हार न मानने वाले पाकिस्तान के कप्तान मिस्बाह उल हक के तौर पर पाकिस्तान ने अपने दूसरे अहम खिलाड़ी को इस साल गंवा दिया। 2001 में अपना इंटरनेशल डेब्यू करने वाले मिस्बाह ने 75 टेस्ट मैच खेले। अपने टेस्ट करियर में मिस्बाह ने 46.42 के औसत से 5,222 रन बनाए, जिनमें 10 शतक भी शामिल हैं। 

वहीं, मिस्बाह ने 162 वन-डे मैच खेले। इनमें उन्होंने 43.40 की औसत से 5,122 रन बनाए। खास बात यह रही कि मिस्बाह वन-डे में एक भी शतक नहीं लगा सके। वन-डे में एक भी शतक न लगा पाने मिस्बाह के नाम टी20 में 107 रन नाबाद उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। उन्होंने 151 टी20 मुकाबलों में 33.41 के औसत से 3,308 रन बनाए। इस साल पाकिस्तान को तीसरा झटका दिग्गद ऑलराउंडर शाहिद अफ्रीदी के तौर पर लगा। हालांकि बूम-बूम अफरीदी इससे पहले भी पांच बार संन्यास ले चुके हैं और चार बार संन्यास की घोषणा के बाद टीम में वापसी कर चुके हैं। 

अफरीदी ने अपने टेस्ट करियर में 27 टेस्ट खेले जिनमें उन्होंने बैट्स से 36.51 के औसत से 1,716 रन बनाए, जिनमें उनके 5 शतक शामिल हैं। वहीं गेंद से उन्होंने 48 विकेट चटकाए। 

अफरीदी ने पाक की ओर से 398 मैच खेले और बैट्स से 23.57 के औसत से 8,064 रन बनाए। इनमें उनके नाम 6 शतक और 39 अर्धशतक भी शामिल हैं। साथ ही बॉल से अहम भूमिका निभाते हुए उन्होंने 34.51 के औसत से 395 विकेट हासिल किए। 

पाकिस्तान के अफरीदी ने 98 टी20 मुकाबलों में 18.01 के औसत से 1,405 रन बनाए। वहीं, गेंद से 24.35 के औसत से 97 बल्लेबाजों को अपना शिकार बनाया। इस पाकिस्तान को चौथा झटका सईद अजमल के तौर पर लगा। पाक के इस कमाल के दाएं हाथ के स्पिनर ने इस साल क्रिकेट के सभी फॉर्मेट्स से संन्यास ले लिया। अजमल ने पाकस्तान की और से 35 टेस्ट खेले और 28.10 के औसत से 178 विकेट झटके। इसके अलावा 113 वन-डे मैचों में 22.72 के औसत से 184 विकेट लिए वहीं, 64 टी20 मुकाबलों में 17.83 के औसत से 85 विकेट लेने में कामयाबी हासिल की।

ये भी पढ़े: चोट की वजह से कतर ओपन से बाहर हुए जोकोविच, ऑस्ट्रेलियन ओपन खेलने पर भी मंडराया खतरा


Tags:

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED