Logo
October 21 2020 10:05 PM

साल के अंत तक रफ्तार पकड़ेगी आनंद विहार टर्मिनल के पुनर्विकास की योजना

Posted at: Oct 17 , 2020 by Dilersamachar 9191

दिलेर समाचार, पूर्वी दिल्ली। आनंद विहार रेलवे टर्मिनल को हवाई अड्डे की तर्ज पर पुनर्विकसित करने की योजना जल्द आगे बढ़ेगी। भारतीय रेलवे स्टेशन विकास निगम (आइआरएसडीसी) निजी सहभागिता से इसे पुनर्विकसित के लिए एजेंसियों के प्रस्ताव आमंत्रित करने की प्रक्रिया दिसंबर तक शुरू होगी। आइआरएसडीसी के सीईओ एसके लोहिया ने बताया कि अभी इस टर्मिनल में प्रवेश और निकासी के लिए एक रास्ता है। पुनर्विकास योजना में प्रवेश और निकासी के रास्ते को अलग किया जाएगा। सामान्य प्रतीक्षालय बनाया जाएगा। एक होटल भी बनाया जाएगा। उसे तीन सितारा बनाया जाए या बजट होटल तैयार किया जाए, इस पर मंथन करना बाकी है। यहां की जरूरत के हिसाब से तय किया जाएगा। उन्होंने बताया कि कोरोना संक्रमण के कारण लाॅकडाउन होने की वजह से इस योजना पर काम नहीं हो सका था। अब स्थिति सामन्य हो गई हैं

240 करोड़ रूपए आएगी लागत: रेलवे टर्मिनल को पुनर्विकसित करने पर करीब 240 करोड़ रूपए की लागत आएगी। आइआरएसडीसी के सीईओ ने बताया कि इसके लिए सरकार पर आर्थिक बोझ नहीं डाला जाएगा। पुनर्विकास की योजना का खाका और शर्तें आइआरएसडीसी की होंगी। उस पर निजी एजेंसी अपने संसाधन और आर्थिक योगदान से स्टेशन का विस्तार करेगी। लागत वसूली के लिए उसे स्टेशन बिल्डिंग में कई तरह की व्यावसायिक गतिविधियों की अनुमति दी जाएगी। उन्होंने बताया कि निर्माण शुरू होने की तिथि से तीन साल में काम पूरा किया जाएगा।

यार्ड की तरफ होगा पुनर्विकास: रेलवे टर्मिनल का पुनर्विकास यार्ड की तरफ खाली जगह पर किया जाएगा। इस बार बहुमंजिला इमारत बनाई जाएगीए जिससे रेलवे टर्मिनल पर यात्राी सुविधाओं के लिए पर्याप्त जगह दी जा सके। इसके अलावा व्यावसायिक    गतिविधियों को सुचारू रूप से चलाया जा सके। कितनी मंजिला इमारत बनेगी, यह नक्शा बनने के बाद तय होगा।

ये भी पढ़े: COVID-19 in India: कोरोना मामलों को लेकर आई अच्छी खबर, अब 8 लाख से कम बचे हैं एक्टिव केस


Tags:

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED