Logo
August 7 2020 03:24 PM

चैत्र नवरात्र के लिए सज गए मां के दरबार, विशेष पूजा अर्चना की भी तैयारी

Posted at: Mar 16 , 2018 by Dilersamachar 5330

दिलेर समाचार, कांगड़ा,  चैत्र नवरात्र के लिए मां बज्रेश्वरी व मां ज्वालामुखी का दरबार भक्तों के लिए सजने लगा है। चैत्र नवरात्र के दौरान श्रद्धालुओं को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध करवाने की तैयारी प्रशासन कर रहा है। मंदिर में होने वाली विशेष पूजा अर्चना की भी तैयारी की गई है।

दोनों शक्तिपीठ रंगबिरंगी लाइटों से भक्तों के लिए सजेंगे। बज्रेश्वरी माता मंदिर में नवरात्र के दौरान सप्तमी, अष्टमी व नौवीं को मंदिर के कपाट तड़केतीन बजे खुलेंगे जबकि अन्य दिनों में मंदिर सुबह पांच बजे खुलेगा और साढ़े नौ बजे बंद होगा।

 

श्रद्धालुओं की भीड़ अधिक होगी तो मंदिर को बंद करने का समय और भी बढ़ाया जा सकता है लेकिन अभी तक के प्रबंध मुताबिक मंदिर को साढ़े नौ बजे तक श्रद्धालुओं के लिए खुला रखा जाएगा। ज्वालामुखी मंदिर नवरात्र में सुबह पांच बजे दर्शनों के लिए खोला जाएगा तथा रात्रि साढ़े दस बजे बंद होगा। सप्तमी, अष्टमी व नौंवी को मंदिर 24 घण्टे दर्शनों को खुला रहेगा। 

श्री ज्वालामुखी में पांच बार होगी आरती 

मां बज्रेश्वरी मंदिर में चैत्र नवरात्र की सुबह की आरती छह बजे होगी। इसके बाद आरती दोपहर 12 बजे होगी और उसके उपरांत शाम की आरती साढ़े सात बजे होगी। मां की इन विशेष आरतियों का लाभ भक्त ले सकते हैं। मंदिर में होने वाली आरती व दर्शन के लिए एक बड़ी एलसीडी मंदिर परिसर में स्थापित की गई है।

ज्वालामुखी मंदिर में मां की दिन में पांच बार आरती होगी।

पांच बार लगेगा भोग

मां बज्रेश्वरी को चैत्र नवरात्रों के दौरान तड़के मंगल भोग लगेगा। इसके बाद छह बजे आरती के बाद भोग लगेगा। दोपहर को 12 बजे भोग के बाद शाम की आरती के बाद साढ़े सात बजे व फिर नौ बजे मांग को भोग लगेगा। अलग-अलग पांच बार दिन में मां को विभिन्न व्यंजनों का भोग लगेगा। ज्वालामुखी मंदिर में भी मां को पांच बार भोज लगेगा।

 

बज्रेश्वरी मंदिर में 16 सीसीटीवी कैमरों से आने जाने वाले पर निगरानी रखी जाएगी वहीं, वर्तमान समय में मंदिर में 17 सुरक्षा जवान सेवाएं दे रहे हैं। नवरात्र के लिए 50 गृहरक्षक और मांगे गए हैं। ज्वालामुखी मंदिर में 310 सुरक्षा जवान मंदिर व शहर की सुरक्षा व्यस्था संभालेंगे। 48 सीसीटीवी कैमरों से असामाजिक तत्वों पर नजर रखी जाएगी और कंट्रोल रूम मंदिर अधिकारी के कमरे को बनाया गया है। वहीं, बज्रेश्वरी मंदिर में वर्तमान समय में अस्पताल में 20 सफाई कर्मचारी सेवाएं दे रहे हैं, जबकि 35 और सफाई कर्मचारी आउटसोर्स किए जा रहे हैं ताकि साफ सफाई का माहौल रहे। स्वच्छता को ध्यान में रखते हुए गुप्त गंगा व बनेर खड्ड के आस पास अस्थायी शौचालयों की व्यवस्था रहेगी।

ज्वालामुखी में सफाई व्यवस्था के विशेष ध्यान के लिए 38 कर्मी लगाए जाएंगे। ज्वालामुखी में दाखिल नहीं होंगे बड़े वाहन कांगड़ा में निशुल्क मुद्रिका बस सेवा कांगड़ा तहसील चौक से बाईपास होती हुई तहसील चौक तक चलाई जाएगी। यह सेवा चैत्र नवरात्र के दौरान दिनभर चालू रहेगी। बाईपास पर वाहनों के खड़े होने की व्यवस्था की गई है। जहां पर बड़े वाहन खड़े हो सकेंगे। इसके अलावा यात्री सदन में भी पार्किंग का प्रबंध श्रद्धालुओं के लिए किया गया है। ज्वालामुखी में बड़े वाहन एंट्री नही करेंगे। उनके लिये देहरा व कांगड़ा रोड पर पार्र्किंग की व्यवस्था की गई है। 

चैत्र नवरात्र के लिए तैयारियां पूरी हैं। मंदिर को रंगबिरंगी लाइटों से सजाया जाएगा। यात्रियों की सुरक्षा, स्वास्थ्य व लंगर की विशेष व्यवस्था रहेगी। 

सुरेंद्र धीमान, मंदिर अधिकारी बज्रेश्वरी कांगड़ा

नवरात्र के लिए तैयारियां पूरी हैं। मां के भक्तों के लिए यहां पर कोई कमी नहीं होगी। हर तरह की व्यवस्था की है।

 

ये भी पढ़े: इन 5 स्मार्टफोन ने बीते दिनों खूब खींचा लोगों का ध्यान


Tags:

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED