Logo
April 17 2024 04:42 AM

आईपीओ के रास्ते एयर इंडिया में विनिवेश की तैयारी

Posted at: Jun 14 , 2018 by Dilersamachar 10043

दिलेर समाचार, कर्ज में डूबी सरकारी विमानन कंपनी एयर इंडिया के लिए खरीदार आकर्षित करने में विफल रहने के बाद सरकार अन्य विकल्पों पर विचार कर रही है। सूत्रों के मुताबिक, सरकार आईपीओ के रास्ते भी कंपनी का विनिवेश कर सकती है। इससे सरकार को राजस्व भी मिल जाएगा और कंपनी पर नियंत्रण भी बना रहेगा।

एयर इंडिया में 76 फीसद हिस्सेदारी के विनिवेश के लिए पहले दौर की बोली में सरकार को निराशा हाथ लगी थी। बोली के लिए तय 31 मई की आखिरी तारीख तक सरकार को कोई प्रस्ताव नहीं मिला। माना जा रहा है कि कंपनी में सरकार की 24 फीसद हिस्सेदारी बनी रहने और 27,000 कर्मचारियों को समाहित करने जैसी शर्तों के चलते खरीदारों ने इससे दूरी बनाए रखी।

सूत्रों का कहना है कि सरकार खरीदारों को आकर्षित करने के लिए शर्तों में बदलाव पर भी विचार कर रही है। सात जून को नागरिक उड्डयन मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा था कि एयर इंडिया की विनिवेश प्रक्रिया से जुड़ा अगला फैसला मंत्रिसमूह करेगा। नियमों के ढील देने के सवाल को भी उन्होंने टाल दिया था। प्रभु के मुताबिक, एयर इंडिया के समक्ष कई विकल्प हैं। मंत्रिसमूह उन सभी विकल्पों पर विचार करके परिस्थिति के अनुरूप सर्वश्रेष्ठ विकल्प पर फैसला करेगा।

विनिवेश के जरिये सरकार ने कंपनी का नियंत्रण निजी हाथों में सौंपने की बात कही है। एयर इंडिया के कई कर्मचारी यूनियन विनिवेश का विरोध कर रहे हैं। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े संगठन स्वदेशी जागरण मंच ने कंपनी का आईपीओ लाने की वकालत की है। बोली विफल रहने के बाद मंच के सह संयोजक अश्वनी महाजन ने कहा था कि एयर इंडिया को बचाने और बेहतर ढंग से चलाने की जरूरत है।

भारत-22 ईटीएफ की दूसरी किस्त 19 जून को

भारत-22 ईटीएफ (एक्सचेंज ट्रेडेड फंड) की दूसरी किस्त 19 जून को लांच की जाएगी। इससे सरकार को 8,400 करोड़ रुपये तक मिलने की उम्मीद है। ईटीएफ को एंकर निवेशकों के लिए 19 जून और अन्य संस्थागत व खुदरा निवेशकों के लिए अगले दिन खोला किया जाएगा। ईटीएफ फॉलो ऑन ऑफर 22 जून तक रहेगा। निवेशकों को इश्यू प्राइस पर 2.5 फीसद की छूट मिलेगी।

ये भी पढ़े: रात के समय डिनर में न शामिल करें ये चीज, देता है मोटापे को दावत

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED