Logo
August 23 2019 06:54 PM

राहुल ने तोड़ी अपनी चुप्पी कहा- भारत का माहौल हो रहा है खराब

Posted at: Sep 12 , 2017 by Dilersamachar 5197

दिलेर समाचार,कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने अमेरिका के बर्कले स्थित कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी में भाषण दिया. अपने भाषण में राहुल गांधी ने भारत के इतिहास, विविधता, गरीबी, वैश्विक हिंसा और राजनीति पर बात की. साथ ही नरेंद्र मोदी सरकार पर जमकर हमले किए.

राहुल ने अपने भाषण में कहा कि देश का माहौल खराब है. पत्रकारों पर हिंसा हो रही है. मुसलमान बीफ के लिए सताए जा रहे हैं.

अहिंसा पर बात करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि दुनियाभर में अहिंसा की विचारधारा खतरे में है. लेकिन अहिंसा ही एक विचार है जो मानवता को आगे बढ़ा सकता है. उन्होंने कहा, "मैंने अपने पिता और दादी को हिंसा में खोया है. मैं हिंसा को नहीं समझूंगा तो कौन समझेगा."

उन्होंने कहा कि यूपीए सरकार के दूसरे टर्म में कांग्रेस अतिआत्मविश्वास में आ गई थी. पार्टी ने लोगों से संवाद करना बंद कर दिया था, इसलिए 2014 के चुनाव में पार्टी की हार हो गई.
राहुल गांधी ने कहा कि जब इंदिरा गांधी से पूछा गया कि भारत लेफ्ट की तरफ झुकेगा या राइट की तरफ तो उन्होंने कहा था कि भारत सीधा खड़ा रहेगा.

यहां पढ़ें भाषण की मुख्य बातें:
- पीएम मोदी एक बेहतरीन कम्युनिकेटर हैं. मुझसे बहुत अच्छे. उनकी मैसेजिंग स्किल काफी अच्छी है. वह एक ही भीड़ में तीन-चार अलग-अलग समूहों को अलग-अलग मैसेज देने की क्षमता रखते हैं.

- 2004 में जब यूपीए सरकार आई तो कश्मीर में आतंकवाद अपने चरम पर था. 2003 तक हमने आतंकवाद की कमर तोड़ दी थी. कश्मीर में शांति थी. पीडीपी ने युवाओं को राजनीति में लाने के लिए महत्वपूर्ण कदम उठाए. लेकिन जिस दिन पीएम मोदी ने उनके साथ गठबंधन किया उस दिन पीडीपी को खराब कर दिया और इस तरह उनके चलते कश्मीर में आतंकवाद फिर पनपने लगा. आपने हिंसा में बढ़ोत्तरी देखी है.

- बीजेपी की एक मशीनरी चल रही है जिसमें 1000 लोग कम्प्यूटर लेकर बैठे हैं और लोगों को मेरे बारे में बता रहे हैं. यह एक बड़ी मशीनरी है जो मुझे लेकर गलत बातें फैला रही है. इस मशीन का ऑपरेशन कोई और नहीं बल्कि खुद वह इंसान कर रहे हैं जो हमारा देश चलाते हैं.

- पीएम मोदी ने राइट टू इंफॉर्मेशन में बदलाव की सिफारिश की है. इसे दबाया जा रहा है. हम मुश्किल में फंसे क्योंकि हमने आरटीआई के तहत पारदर्शिता को बढ़ाया.

- हमारा पूरा देश ही ऐसे चलता है, मेरे पीछे मत पड़ो. अखिलेश यादव, स्टालिन और धूमल के बेटे यहां तक अभिषेक बच्चन भी वंशवाद का उदाहरण हैं.

- साल 2012 के आसपास कांग्रेस पार्टी में अहंकार आ गया था और हमने लोगों से संवाद करना बंद कर दिया था. इसी का खामियाजा हमें 2014 के चुनाव में भुगतना पड़ा.

ये भी पढ़े: वकील ने आसाराम को फर्जी बाबा बताने वालों को कहा 'कुत्ते भौंकते रहते हैं'


Tags:

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED