Logo
November 22 2019 08:18 AM

बरसात में जरूरी है बचाव

Posted at: Jul 12 , 2019 by Dilersamachar 5072

सीतेश कुमार द्विवेदी

वर्षाकाल के आगमन के साथ आसमान बादलों से भर जाता है और सूर्य बादलों की ओट में छिप जाता है। बारिश के कारण नालियां भर जाती हैं और जहां वहां गंदगी फैल जाती है। वातावरण में बैक्टीरिया, वायरस, मच्छर कीट पतंगे आदि बढ़ जाते हैं। पानी गंदा हो जाता है, फल सब्जियां खराब होने लगते हैं।

ये सब मनुष्य को नाना प्रकार से बीमार करते हैं। पीलिया, हैजा, खुजली, फोड़े-फुंसियां, पेचिश, अतिसार, डायरिया, सर्दी, खांसी, जुकाम, उल्टी, टाइफाइड, फीवर, मलेरिया निमोनिया आदि जैसी बीमारियां होने लगती हैं।

इस मौसम में रोग प्रतिरोधक क्षमता में कभी के कारण लोग जल्द बीमारी की चपेट में आ जाते हैं इसीलिए बरसात आते ही डाॅक्टरों के पास एवं अस्पतालों में मरीज बढ़ जाते हैं। ऐसे मौसम में कई बीमारियां होने की आशंका बढ़ जाती है। सावधानी रख इनसे बचाव ही बेहतर उपाय होता है। बरसात का मौसम आते ही सर्दी, जुकाम, खांसी जैसी साधारण बीमारी भी कभी-कभी बड़ा रूप ले लेती है। अतएव बच्चे बड़े सभी को ऐसे समय में सावधान रहना चाहिए।

प्रदूषित हो जाता है पानी

वर्षाकाल में पानी प्रदूषित हो जाता है। अधिकतर बीमारियां इसी के कारण फैलती हैं। पेट में दर्द, मरोड़, उल्टी, लूज मोशन, पीलिया, टाइफाइड, फीवर की शिकायत बढ़ जाती है। त्वचा गीली रहने से फोड़े फंुसियां, खुजली आदि की शिकायत होती है। त्वचा संक्रमित होने लगती है। बरसात के जमा पानी में मच्छर को पनपने का अवसर मिलता है। उनकी आबादी व प्रकोप बढ़ जाता है। ऐसे में पानी जमा होने न दें। यदि बाहर पानी जमा है तो उसमें मिट्टी का तेल एवं कीटनाशक डालें अन्यथा मलेरिया फैलने की संभावना बढ़ जाती है।

सक्रिय रहें, ताजा, सादा भोजन करें

इस मौसम में शारीरिक रुप से सक्रिय रहें। हल्का-फुल्का व्यायाम करंे। इससे ऊर्जावान बने रहेंगे एवं जोड़ों में दर्द की शिकायत नहीं होगी। बाहर खुले में रखे खाद्य पदार्थ बीमारियों का घर होते हैं अतः बाहरी वस्तु का सेवन न करें। सड़े गले फलों से बच्चें।

गर्म, ताजा, सादा भोजन सीमित मात्रा में करें। तली भुनी खट्टी, चटपटी चीजों से बचें। तेल वाली चीजें कम खाएं। पानी सदैव साफ हो। त्वचा सूखी रखें। ज्यादा पानी में भीगने से बचें। सब्जी एवं फल पर्याप्त धोकर उपयोग करें। बरसात की बीमारियों से बचें। कोई परेशानी हो तो डाॅक्टर से तत्काल मिलें। बीमार होने से बचें।

ये भी पढ़े: 68 पौधे लगाकर मनाया केंद्रीय रक्षा मंत्री का 68वा जन्मदिन


Tags:

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED