Logo
April 25 2019 05:20 AM

राम जन्मभूमि विवाद पर बोले CM योगी: 24 घंटे में फैसला आ जाना चाहिए, 25वां घंटा लगना ही नहीं चाहिए

Posted at: Feb 12 , 2019 by Dilersamachar 5703

दिलेर समाचार, नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश विधानसभा में राज्यपाल के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव के चर्चा के जवाब देते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राम जन्मभूमि एक आस्था से जुड़ा विषय है और न्यायालय को भी जन आस्था का सम्मान करते हुए 24 घंटे के भीतर इसपर अपना फैसला सुना देना चाहिए. जहां तक जमीन के बंटवारे का प्रश्न है तो इलाहाबाद उच्च न्यायालय पहले ही कह चुकी है कि जहां रामलला जी विराजमान हैं, वही राम जन्मभूमि है.

राममंदिर मुद्दे पर योगी ने कहा कि आस्था का सम्मान होना ही चाहिए और न्यायालय को जन आस्था का सम्मान करना चाहिए . उन्होंने कहा कि जब इलाहाबाद उच्च न्यायालय की तीन सदस्यीय विशेष पीठ ने कहा है कि जहां रामलला विराजमान हैं, वहीं राम जन्मभूमि है तो विवाद वहीं समाप्त हो चुका है और बंटवारे का कहीं विवाद ही नहीं है. मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि विवाद में केवल यह तय होना था कि यह राम जन्मभूमि है या नहीं है और जब यह तय हो गया है तो फिर इस विवाद के समाधान में 24 घंटे से 25वां घंटा नहीं लगना चाहिए.   

श्रीराम जन्मभूमि एक आस्था से जुड़ा विषय है और मा0 न्यायालय को भी जन आस्था का सम्मान करते हुए 24 घंटे के भीतर इसपर अपना फैसला सुना देना चाहिए। जहां तक जमीन के बंटवारे का प्रश्न है तो इलाहाबाद उच्च न्यायालय पहले ही कह चुकी है कि जहां रामलला जी विराजमान हैं, वही श्रीराम जन्मभूमि है।

 

श्रीराम जन्मभूमि एक आस्था से जुड़ा विषय है और मा0 न्यायालय को भी जन आस्था का सम्मान करते हुए 24 घंटे के भीतर इसपर अपना फैसला सुना देना चाहिए। जहां तक जमीन के बंटवारे का प्रश्न है तो इलाहाबाद उच्च न्यायालय पहले ही कह चुकी है कि जहां रामलला जी विराजमान हैं, वही श्रीराम जन्मभूमि है। pic.twitter.com/Qugj3xp5oa

— Yogi Adityanath (@myogiadityanath) February 11, 2019

निराश्रित गोवंश के बारे में उन्होंने कहा, ‘पहले निराश्रित गोवंश चोरी कर अवैध बूचडखानों में पहुंचाये जाते थे और उन्हें वहां काटा जाता था . हमारी सरकार ने अवैध बूचड़खानों को रोका तो गोवंश खेतों या सडकों पर हैं. हम गोवंश के संरक्षण एवं संवर्धन की व्यवस्था कर रहे हैं . तीन लाख निराश्रित गोवंश को अलग अलग जिलों में आश्रयस्थलों में रखा गया है.' सपा—बसपा को आडे हाथ लेते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, ‘पिछली सरकारों ने प्रदेश में जिस प्रकार का कॉरिडोर बनाने का प्रयास किया था, वह भ्रष्टाचार और आराजकता का गलियारा था . प्रदेश का कोई ऐसा गुंडा, माफिया और समाजविरोधी तत्व नहीं था जो पिछली सरकारों का हमदर्द ना रहा हो .'.

उन्होंने कहा, ''हमने भी एक कॉरिडोर दिया है. सुरक्षा का, विकास का और 15 फरवरी को प्रधानमंत्री से झांसी में डिफेंस कॉरिडोर का भी शिलान्यास कराने जा रहे हैं.''    योगी ने कहा, ''आश्चर्य होता है कि विपक्ष को सरकार की उपलब्धियां और प्रदेश की जनता की खुशहाली अच्छी नहीं लगती है . यही कारण है कि किसी भी अच्छे कार्य को नैतिक समर्थन देने की बजाय उसका विरोध करना विपक्ष की आदत बन गयी है . ठीक ही कहा है कि चांदनी रात चोरों को अच्छी नहीं लगती है .''

उन्होंने कहा, ‘‘विपक्ष के लोग सदन से क्यों भागे हैं . उन्हें पता है कि जवाब देते समय हम जो रहस्योदघाटन करेंगे, उसका मुकाबला करने का नैतिक साहस उनमें नहीं है . ईश्वर से प्रार्थना करता हूं कि ऐसे लोग हमेशा ही सदन से बाहर रहें तो अच्छा है .'

ये भी पढ़े: आपकी रूह काप जाएगी अक्षय कुमार की फिल्म केसरी की झलक देखकर, Video देखिये


Tags:

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

STAY CONNECTED