Logo
June 26 2022 05:22 PM

श्रीलंका सरकार ने आर्थिक आंकड़ों से किया खिलवाड़

Posted at: Jun 6 , 2022 by Dilersamachar 9068

दिलेर समाचार, कोलंबो. श्रीलंका सरकार ने आर्थिक आंकड़ों को बढ़ा-चढ़ा कर दिखाने की कोशिश की. अब देश इसकी महंगी कीमत चुका रहा है. विशेषज्ञों का आरोप है कि आर्थिक आंकड़ों से खिलवाड़ श्रीलंका की मौजूदा मुसीबत का एक बड़ा कारण है.

श्रीलंका सरकार ने आर्थिक आंकड़ों की गणना के लिए आधार वर्ष को 2010 से बढ़ा कर 2015 करने का फैसला किया था. सिर्फ इस फैसले की वजह से 2021 श्रीलंका के सकल घरेलू उत्पाद का आकार 876 अरब रुपये ज्यादा दिखाया. इससे जीडीपी की तुलना में कर्ज और राजकोषीय घाटे का अनुपात कम हो गया. श्रीलंका की अर्थव्यवस्था के इस पहलू के बारे में एक विश्लेषण वेबसाइट इकॉनमीनेक्स्ट.कॉम ने प्रकाशित किया है.

इस विश्लेषण के मुताबिक, नए सीरीज के आंकड़ों में मुद्रास्फीति दर को एडजस्ट करने के बाद श्रीलंका श्रीलंका की जीडीपी 13 खरब 10 अरब रुपये बताई गई. अगर पुरानी सीरीज से गणना होती, तो सकल घरेलू उत्पाद 9 खरब 88 अरब रुपये सामने आता. सकल घरेलू उत्पाद का मूल्य ज्यादा होने पर स्वाभाविक रूप से सरकार पर मौजूद ऋण घट गया. पहले सरकारी कर्ज जीडीपी के 104.6 प्रतिशत के बराबर था. नई सीरीज में यह 99.5 प्रतिशत दिखा.

ये भी पढ़े: सुप्रीम कोर्ट परिसर के अंदर स्थित बैंक में लगी आग

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED