Logo
June 3 2020 09:57 AM

उच्चतम न्यायालय :लोया मामले में अदालत की टिप्पणी याचिकाकर्ताओं के खिलाफ

Posted at: Sep 27 , 2018 by Dilersamachar 5240

दिलेर समाचार,उच्चतम न्यायालय ने बुधवार को यह स्पष्ट कर दिया कि केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो के विशेष न्यायाधीश न्यायमूर्ति बी एच लोया की मौत की स्वतंत्र जांच की मांग करने वाली विभिन्न याचिकाओं को खारिज करने के फैसले में उसकी प्रतिकूल टिप्पणियां याचिकाकर्ताओं के खिलाफ थीं न कि अधिवक्ताओं के खिलाफ ।

लोया मामले में पैरवी करने वाली वरिष्ठ अधिवक्ता इंदिरा जयसिंह ने उच्चतम न्यायालय के 19 अप्रैल के फैसले में उनके खिलाफ कुछ प्रतिकूल टिप्पणियों को हटाने की मांग की थी ।

प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा की अगुवाई वाली पीठ ने कहा कि आवेदन (जयसिंह का) इस आधार पर किया गया कि अदालत द्वारा याचिकाकर्ताओं और हस्तक्षेप करने वालों को लेकर दी गई प्रतिकूल टिप्पणी आवेदनकर्ता पर व्यक्तिगत रूप से किये गए।

उच्चतम न्यायालय ने 19 अप्रैल को लोया मामले में कई याचिकाओं को खारिज करते हुए यह फैसला दिया था कि सोहराबुद्दीन शेख फर्जी मुठभेड़ मामले की सुनवाई कर रहे न्यायाधीश का निधन प्राकृतिक कारणों से एक दिसंबर 2014 को नागपुर में हुआ था । वह वहां अपने एक सहयोगी की बेटी की शादी में हिस्सा लेने गए थे ।

ये भी पढ़े: अदालत में कभी नहीं कहा कि राष्ट्रपति की हत्या साजिश के बारे भारतीय नागरिक जानता था : श्रीलंका पुलिस


Tags:

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED