Logo
August 7 2020 03:24 PM

प्रद्युम्न हत्याकांड में आरोपी के वकील का दावा, बेगुनाह है अशोक, उसे फंसाया गया

Posted at: Sep 15 , 2017 by Dilersamachar 5361

दिलेर समाचार,गुडगांव के रेयान इंटरनेशनल स्कूल की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही है. प्रद्युम्न हत्याकांड के आरोपी कंडक्टर अशोक के वकील ने दावा किया है कि इस हत्या के मामले में अशोक को फंसाया जा रहा है. इससे पहले भी अशोक की भूमिका को लेकर सवाल उठते रहे हैं. हालांकि ये भी कहा जा सकता है कि अशोक का वकील वही कर रहा है, जो बचाव पक्ष के वकील को करना चाहिए.

प्रद्युम्न की हत्या के बाद बस कंडक्टर अशोक ने पुलिस के सामने अपना गुनाह कबूल किया था. यहां तक उसने आजतक के कैमरे पर भी हत्या की बात कबूल की थी. लेकिन इस मामले में अब नया मोड़ आ गया है. दरअसल, अशोक के वकील मोहित वर्मा ने दावा किया है कि अशोक बेगुनाह है.
बस कंडक्टर अशोक के वकील मोहित वर्मा का कहना है कि अशोक को इस मामले में फंसाया गया है. पुलिस और स्कूल प्रबंधन ने अशोक पर दबाव बनाया और आरोप कबूल करवाने के लिए के पुलिस ने उसे बुरी तरह टार्चर किया. इस खुलासे ने एक बार फिर इस पूरे मामले पर सवालिया निशान लगा दिए हैं.

इससे पहले भी इस तरह की बात सामने आई थी कि हत्या के इस सनसनीखेज मामले में शायद अशोक को मोहरा बनाया जा रहा है. लेकिन तफ्तीश और सबूतों ने अशोक को ही इस मामले में आरोपी पाया. यहां तक कि स्कूल टॉयलेट के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरे में भी अशोक को ही आते और जाते देखा गया था.

हालांकि इस बात को इस तरह से भी देखा जा सकता है कि मोहित वर्मा आरोपी अशोक के वकील हैं और बचाव पक्ष के वकील का काम अपने मुवक्किल को आखिर तक बचाना होता है. लेकिन वकील के इस बयान से एक बार फिर इस मामले की जांच सवालों के घेरे में हैं.

इससे पहले ये भी खुलासा हुआ था कि प्रद्युम्न की हत्या से ठीक पहले आरोपी कंडक्टर अशोक स्कूल के टॉयलेट में हस्तमैथुन कर रहा था. तभी प्रद्युम्न वहां पहुंच गया और उसने अशोक को आपत्तिजनक हालत में देख लिया था. तभी अशोक ने उसे टॉयलेट में खींच लिया था, फिर वह बच्चे के साथ गलत काम करने की कोशिश कर रहा था.
मगर बच्चा शोर मचाने लगा. विरोध करने लगा. तभी घबराकर अशोक ने चाकू निकाला और बच्चे की गर्दन पर एक के बाद एक, दो वार किए. जिससे प्रद्युम्न की गर्दन से खून की धारा फूट पड़ी. इस दौरान खून की कुछ धब्बे अशोक के ऊपर भी आ गए. वह टॉयलेट से बाहर निकल गया था.

तकरीबन आधे घंटे तक आरोपी अशोक खून से सने कपड़ों में घूमता रहा. इस मामले के दूसरे गवाह सुभाष ने अशोक को कपड़े धोने से मना किया था. उसने अशोक से कहा था कि सबूतों से छेड़छाड़ न हो. लेकिन फिर भी अशोक ने अपने कपड़े धो दिए थे.

दूसरा गवाह सुभाष उसी बस का ड्राइवर है, जिस पर अशोक कंडक्टर था. उसने भी यह बात बताई कि उसने कंडक्टर अशोक को खून से सने कपड़ों में देखा था.

ये है पूरा मामला

बीते शुक्रवार गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में दूसरी क्लास में पढ़ने वाले 7 साल के मासूम प्रद्युम्न की गला रेतकर बेरहमी से हत्या कर दी गई थी. कत्ल का इल्जाम स्कूल बस के कंडक्टर अशोक पर लगा. पुलिस पूछताछ में अशोक ने अपना जुर्म कबूल कर लिया. अशोक ने पुलिस को बताया कि उसने प्रद्युम्न के साथ कुकर्म करने की कोशिश की थी. नाकाम होने पर पकड़े जाने के डर से उसने प्रद्युम्न की गला रेतकर हत्या कर दी.

ये भी पढ़े: ये सुपरस्टार एक्टर ट्रेनों में गाकर कमा चुका है पैसे


Tags:

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED