Logo
April 25 2019 05:41 AM

भगोड़े माल्या की अब खैर नहीं, ब्रिटेन की हाईकोर्ट ने लिया ये फैसला

Posted at: Apr 8 , 2019 by Dilersamachar 5799

दिलेर समाचार, नई दिल्ली। भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या को ब्रिटेन की हाईकोर्ट  से तगड़ा झटका मिला है. कोर्ट ने उसके प्रत्यर्पण रोकने वाली याचिका खारिज कर दी है. फरवरी महीने में जब वेस्टमिंस्टर कोर्ट ने माल्या के प्रत्यर्पण की मंजूरी दे दी थी तो, उस फैसले को ब्रिटेन की गृह मंत्रालय से मंजूरी मिल गई थी. गृह मंत्रालय से प्रत्यर्पण की मंजूरी मिलने के बाद माल्या ने उसे हाईकोर्ट में चैलेंज किया था. अब जब हाईकोर्ट ने भी फैसले को बरकरार रखा तो उसके पास सुप्रीम कोर्ट का का रास्ता बचता है.

अब माल्या के पास क्या विकल्प हैं?

1. माल्या के पास अब एकमात्र सुप्रीम कोर्ट जाने का रास्ता बाकी है. इस प्रक्रिया में कम से कम 6 सप्ताह का वक्त लगेगा.

2. माल्या पर मनी लॉन्ड्रिंग और FEMA के उल्लंघन का आरोप है. वह 2016 में भी भारत से फरार होकर लंदन चला गया था. उस पर बैंकों के करीब 14000 करोड़ रुपये का बकाया है.

3. कानूनी एक्सपर्ट के मुताबिक, सुप्रीम कोर्ट में यह मामला लंबा चल सकता है.

4. अभियोजन पक्ष अगर चाहता है कि सुप्रीम कोर्ट मामले की जल्द से जल्द सुनवाई करे तो उसे कोर्ट को बताना होगा कि मामले की तत्काल सुनवाई क्यों की जाए.

5. कानूनी जानकारों का कहना है कि अभी तक की जीत बहुत ज्यादा उत्साहवर्धक नहीं है. क्योंकि, निचली अदालत (वेस्टमिंस्टर कोर्ट) के फैसले के बाद गृह मंत्रालय के पास इसकी मंजूरी के अलावा कोई ऑप्शन नहीं था.

6. हालांकि, हाईकोर्ट का फैसला बेहद महत्वपूर्ण है. क्योंकि, कोर्ट को बस ये देखना था कि निचली अदालत का फैसला सही था या नहीं. इसका मतलब वेस्टमिंस्टर कोर्ट का प्रत्यर्पण की मंजूरी देने का फैसला सही था. यह  फैसला माल्या की चैन लूटने के लिए काफी है.

7. माल्या लगातार खुद को बेगुनाह बतलाता रहा है. उसका तो ये भी कहना है कि उसने कोई कर्ज नहीं लिया है. कर्ज किंगफिशर एयरलाइंस के ऊपर थी. मैं तो प्रमोटर होने के नाते केवल गारंटर था.

8. पिछले दिनों माल्या ने ट्वीट कर कहा था कि मेरे ऊपर जितने कर्ज हैं, उससे ज्यादा की वसूली की जा चुकी है. उसने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के एक इंटरव्यू का जिक्र किया और कहा कि वे खुद स्वीकार कर रहे हैं कि भारतीय जांच एजेंसियों ने कर्ज से ज्यादा की वसूली कर ली है. ऐसे में मुझे बेवजह निशाना क्यों बनाया जा रहा है.

9. माल्या ने यह भी कहा था कि मेरी जो संपत्ति बेची जा रही है, उसके बेचकर कर्ज चुकाने का प्रस्ताव मैंने तो पहले ही मद्रास हाईकोर्ट के सामने रखा था.

10.पिछले दिनों माल्या ने कोर्ट में बताया था कि वह भारतीय बैंकों को संतुष्ट करने के लिए अपनी लग्जरी वाली लाइफ छोड़ने के लिए तैयार है. माल्या पर भारतीय बैंकों के करीब 1.14 अरब पाउंड बकाया हैं. कोर्ट के आदेश के अनुसार हर सप्ताह वह 18,325.31 पाउंड खर्च कर सकता है. पिछले सप्ताह ब्रिटेन की कोर्ट में सुनवाई के दौरान माल्या ने इस राशि को घटाकर 29,500 पाउंड मासिक करने की पेशकश की थी.

ये भी पढ़े: वोटिंग से पहले पकड़ा गया एक बड़ी पार्टी के दफ्तर में जा रहे थे करोड़ों का कैश


Tags:

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

STAY CONNECTED