Logo
July 4 2020 02:38 AM

विस्फोटक नहीं था यूपी विधानसभा में मिला पाउडर, अब SFL के डायरेक्टर पर होगी कार्रवाई!

Posted at: Aug 3 , 2017 by Dilersamachar 7312
दिलेर समाचार,यूपी विधानसभा में पिछले महीने मिले पाउडर को खतरनाक विस्फोटक बताने के लिए जिम्मेदार अफसर पर गाज गिर सकती है. राज्य के डीजीपी सुलखान सिंह ने झूठी रिपोर्ट देने वाली स्टेट फॉरेंसिक लैब के डायरेक्टर एसबी उपाध्याय को सस्पेंड करने की सिफारिश की है. अब इस पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को फ़ैसला करना है.

ये भी पढ़े: पटना के IGIMS डिक्लेरेशन फॉर्म पर विवाद..डिकलरेशन फॉर्म में कर्मचारियों से पूछा गया वर्जिनिटी का सवाल

यूपी विधानसभा में 12 जुलाई को खतरनाक विस्फोटक मिलने की खबर ने खलबली मचा दी थी.मामला इतना संगीन था कि इसकीजांच NIA को सौंप दी गई. खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मामले की गंभीरता को देखते हुए उस पर विधानसभा में बयान दिया था.

विधानसभा में जिस PETN विस्फोटक के मिलने की खबर आई,वो इतना खतरनाक माना जाता है कि रक्षा विशेषज्ञ भी चिंतित हो गए थे. लेकिन देश भर में सनसनी फैलाने वाली ये जानकारी बाद में गलत निकली.

ये भी पढ़े: हर हिंदू चाहता है पाकिस्तान के इस मंदिर के दर्शन

आगरा की लैब में हुई जांच में खुलासा हुआ कि यूपी विधानसभा में मिला पाउडर विस्फोटक नहीं था. सरकार को गुमराह करनेवाली ये रिपोर्ट देने के लिए दोषी अफसर के खिलाफ अब योगी सरकार कार्रवाई कर सकती है.

एबीपी न्यूज को पता चला है कि यूपी के डीजीपी सुलखान सिंह ने स्टेट फॉरेंसिक लैब के डायरेक्टर एसबी उपाध्याय के निलंबन की सिफारिश की है. हालांकि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अब तक इस पर फैसला नहीं लिया हैलेकिन गलत रिपोर्ट की वजह से जिस तरह सरकार की किरकिरी हुई थीउसे देखते हुए दोषी अफसर पर कार्रवाई न किए जाने की कोई वजह नहीं है.


Tags:

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED