Logo
September 24 2021 03:43 AM

वैक्सीन का भी नहीं दिख रहा असर, 2 डोज लेने पर भी हो रही मौत- हाईकोर्ट

Posted at: Apr 12 , 2021 by Dilersamachar 9233

दिलेर समाचार, अहमदाबाद. गुजरात हाईकोर्ट (Gujarat High Court) में सोमवार को कोरोना वायरस (Coronavirus) की स्थिति को लेकर सुनवाई हो रही है. गुजरात सरकार (Gujarat) की ओर से एडवोकेट जनरल कमल त्रिवेदी अपनी बात रख रहे हैं. यह सुनवाई जस्टिस विक्रम नाथ और जस्टिस भार्गव कारिया की बेंच कर रही है. गुजरात राज्य के मुख्य सचिव अनिल मुकीम, स्वास्थ्य विभाग के गृह सचिव जयंती रवि और स्वास्थ्य सचिव जयप्रकाश शिवहरे सुनवाई में ऑनलाइन हिस्सा ले रहे हैं.

सुनवाई के दौरान कोर्ट ने कहा कि राज्य में अभी भी कई तहसील हैं, जहां टेस्ट ही नहीं हो रहे. टेस्ट जल्दी हो ऐसा कुछ करें. कोर्ट ने ये भी कहा कि सरकार कह रही है सब सलामत हैं लेकिन स्थिति भयावह है. चीफ जस्टिस ने कहा कि मेरे पास निजी जानकारी है कि अस्पताल एडमिशन देने से इंकार कर रहे हैं. चीफ जस्टिस ने यह भी कहा कि वैक्सीन के दो डोज लेने के बाद भी लोगों की मौत हो रही है.

चीफ जस्टिस ने कहा कि ऑफिस में स्टाफ 50 फीसदी किया जाए. कर्फ्यू टाइम में छूट दी जा रही है. नाइट कर्फ्यू भी ठीक से अमल नहीं हो रहा है. हाईकोर्ट ने कहा है कि चुनाव के वक्त बूथ स्‍तर पर मैनेजमेंट किया जाता है, वैसे ही कोरोना की स्थिति में बूथ स्‍तर पर मैनेजमेंट नहीं किया जा सकता है क्‍या.

हाईकोर्ट ने सुझाव दिया है कि जो कोविड-19 एसओपी का पालन नहीं कर रहे हैं उन्हें कोविड-सेंटर में भेज दें. सरकार की नीति से नाराज हाईकोर्ट ने यह भी कहा कि नीति में सुधार की जरूरत है. कोर्ट में एडवोकेट जनरल त्रिवेदी ने कहा रेमेडिसिविर इंजेक्शन की आवश्यकता सामान्य स्थिति में नहीं होती. होम आइसोलेशन में रखे गए मरीज भी आग्रह रख रहे हैं. कोर्ट के आगे एडवोकेट जनरल कमल त्रिवेदी ने कहा कि भारत में प्रतिदिन 175000 रेमेडिसिविर की आवश्यकता है. गुजरात सरकार 1 दिन में 30000 प्राप्त करती है.

राज्य सरकार के प्रयासों से जायडस ने रेमेडिसिविर इंजेक्शन के दामों में कटौती की है. जिससे सामान्य लोगों को इमरजेंसी में यह मिलती रहे. कमल त्रिवेदी ने कहा धन्वंतरि और संजीवनी रथ एंबुलेंस द्वारा डॉक्टर और हेल्थ वर्कर घर-घर जाकर टेस्टिंग और ट्रैकिंग योग्य रूप से कर रहे हैं. 141 निजी अस्पतालों को कोविड-19 अस्पताल के तौर पर तैयार किया गया है.

ये भी पढ़े: Delhi Breaking News: कोरोना से लड़ाई के लिए दिल्ली सरकार ने कसी कमर, अब लिए ये बड़े फैसले

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED