Logo
April 23 2024 10:35 PM

तंबाकू से कैंसर ही नहीं होता, आंखों की रोशनी भी जाती हैः एम्स

Posted at: Sep 2 , 2017 by Dilersamachar 10090

दिलेर समाचार,एम्स के डॉक्टरों ने कहा है कि तंबाकू से न सिर्फ कैंसर होता है बल्कि लंबे समय तक इसका सेवन करने से आंखों की रोशनी भी जा सकती है। डॉक्टरों ने यह भी कहा कि इस विषय पर हुए कई अध्ययन से यह जाहिर हुआ है कि जो लोग धूम्रपान करते हैं उनमें धूम्रपान नहीं करने वालों की तुलना में मोतियाबिंद होने की आशंका बढ़ जाती है। पांच या 10 साल तंबाकू का सेवन करने से आंखों की नसें प्रभावित होती हैं जिससे आंखों की रोशनी जा सकती है।
एम्स में राजेंद्र प्रसाद नेत्र विज्ञान केंद्र के प्रमुख डॉ. अतुल कुमार ने कहा कि अक्सर ऐसे मामलों में आंखों की रोशनी वापस नहीं आती। लोग जानते हैं कि धूम्रपान और तंबाकू चबाने से हृदय रोग और कैंसर हो सकता है लेकिन तंबाकू से आंखों की रोशनी के जाने और आंखों की अन्य समस्याओं के बारे में व्यापक रूप से नहीं जाना जाता। उन्होंने बताया कि एम्स में सालाना आंखों की रोशनी जाने के कुल मामलों में करीब पांच फीसदी तंबाकू से हुए मामले होते हैं।
डॉ. कुमार ने कहा कि एम्स केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के साथ एक राष्ट्रीय दृष्टिहीनता सर्वेक्षण कर रहा है। इसका उद्देश्य देश में ऐसे दृष्टिहीन लोगों के बारे में आंकड़े जुटाना है। कम्युनिटी ओप्थलमोलॉजी के प्रभारी प्राध्यापक प्रवीण वशिष्ट के मुताबिक सर्वेक्षेण के लिए चुने गए 30 जिलों में 19 जिलों में आंकड़ा एकत्र करने का काम पूरा हो गया है। सर्वेक्षण अगले साल जून तक पूरा होने की उम्मीद है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के 2010 के आंकड़ों के मुताबिक भारत में विश्व के 20 फीसदी दृष्टिहीन लोग हो सकते हैं।

ये भी पढ़े: कल होगा मोदी मंत्रिमंडल का विस्तार...सुबह दस बजे शपथ ग्रहण समारोह...

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED