Logo
August 9 2020 11:38 AM

आप भी जरूर जानना चाहेंगे चाइनामैन के ये जबरदस्त FACTS

Posted at: Sep 23 , 2017 by Dilersamachar 5260

दिलेर समाचार,कोलकाता वनडे में हैट्रिक लेने के साथ ही चाइनामैन कुलदीप यादव सुर्खियों में हैं. कुलदीप ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में इसी साल कदम रखा था. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ धर्मशाला टेस्ट में उन्होंने डेब्यू किया. इसके साथ ही वे भारत के पहले चाइनामैन गेंदबाज बन गए, जिन्हें  टीम इंडिया का प्रतिनिधित्व करने का मौका मिला.
कानपुर का यह 22 वर्षीय गेंदबाज भारत की ओर से टेस्ट खेलने वाला 288वां प्लेयर बना. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उस निर्णायक टेस्ट में कुलदीप ने अपने चाइनमैन का कमाल दिखाते हुए पहली पारी में मेहमान टीम को चार झटके दिए, जो कंगारुओं पर जीत में निर्णायक साबित हुए थे.
वनडे में भी डेब्यू में कुलदीप को डेब्यू करने में देर नहीं लगी. वेस्टइंडीज के खिलाफ इसी साल 23 जून को उन्होंने अपना वनडे करियर शुरू किया. वे भारत के 217वें वनडे खिलाड़ी बने. अब तक कुलदीप ने 9 वनडे में हैट्रिक सहित 16 विकेट निकाले हैं.
कुलदीप के बारे में गावस्कर ने ऐसा कहा था
कुलदीप के लिए सुनील गावस्कर ने तो यहां तक कह डाला था कि अगर मैं चयनकर्ता होता, तो बिना एक भी फर्स्ट क्लास मैच खेले ही इसे टेस्ट टीम में चुन लेता. गावस्कर ही हैं जिन्होंने बहुत कम उम्र में सचिन तेंदुलकर की प्रतिभा को भी पहचाना था. उसके बाद मास्टर ब्लास्टर ने इंटरनेशनल क्रिकेट में कदम रखने के बाद क्या कमाल दिखाए वो किसी को बताने की जरूरत नहीं है.
सचिन का मिडिल स्टंप उखाड़ कर सुर्खियों में आए
अंडर-19 टीम के लिए 2012 में ऑस्ट्रेलिया गए कुलदीप जब भारत लौटे थे, तो उन्हें मुंबई इंडियंस टीम से जुड़ना था. नेट सेशन के दौरान सचिन तेंदुलकर ने किसी से कहा कि नए लड़के कुलदीप को भेजो, मैं देखना चाहता हूं कि वो कैसी गेंदबाजी करता है? कुलदीप ने पहली पांच गेंदे तो नॉर्मल चाइनामैन डिलीवरी फेंकी, लेकिन छठी गेंद पर जो हुआ वो देखकर ये दोनों ही खिलाड़ी हैरान रह गए. कुलदीप की गेंद पर तेंदुलकर का मिडिल स्टंप उखड़ गया. तेंदुलकर ने इस बल्लेबाज से जाकर कहा- 'वेल बोल्ड कुलदीप.' एक इंटरव्यू में कुलदीप ने ये बात खुद बताई थी.
सचिन ने कुलदीप को शाबाशी दी है-
विराट-कुंबले के बीच अनबन की शुरुआत कुलदीप से ही
दरअसल, टीम इंडिया के पूर्व कोच अनिल कुंबले और कप्तान विराट कोहली के बीच झगड़े की शुरुआत की वजह यही कुलदीप यादव बने थे. इसी साल फरवरी-मार्च में ऑस्ट्रेलिया के भारत दौरे पर कप्तान और कोच के बीच अनबन हुई थी. सीरीज के तीसरे टेस्ट में कुंबले चाहते थे कि कुलदीप को टीम में शामिल किया जाए, लेकिन कोहली ने तब इससे साफ इनकार कर दिया था.
यह विवाद धर्मशाला टेस्ट के दौरान हुआ था. विराट कोहली कंधे की चोट के कारण मैच का हिस्सा नहीं थे, और अजिंक्य रहाणे ने टीम की कप्तानी संभाली थी. उस मैच में कुलदीप यादव को मौका दिया गया था. जबकि कोहली इसके खिलाफ थे, वह अमित मिश्रा को खिलाना चाहते थे.

ये भी पढ़े: युवराज सिंह ने इस एक्ट्रेस के साथ लिए लेट फ्लाइट के उड़ान मज़े

 


Tags:

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED