Logo
August 24 2019 04:35 AM

कोक से लेकर इन चीज़ों के हुए गलती से आविष्कार

Posted at: Aug 31 , 2017 by Dilersamachar 5584

दिलेर समाचार, कई बार हम कुछ करने जाते हैं और हो कुछ और ही जाता है, हमे लगता है कि हमसे गलती हो गई लेकिन इस गलती से कुछ ऐसे परिणाम सामने आते हैं जो हमारी सोच से भी ज़्यादा अच्छा होते हैं।

अगर आप मेरी बात नहीं समझे तो कोई बात नहीं, आज यहां मैं आपको उन चीज़ों के बारे में बताने जा रही हूं, जिनका अविष्कार ऐसे ही गलती से हुआ था। इन चीज़ो के नाम जानने के बाद न केवल आप मेरी बात समझेंगे बल्कि मेरी बातों से इत्तेफाक भी रखेंगे। 

गलती से हुई थी एक्स-रे की खोज

एक्स रे, जो आज मेडिकल जगत का एक अहम हिस्सा है, जिसकी मदद से शरीर के अंदर की खामियों को देखा जाता है। लेकिन आपको शायद नहीं मालूम होगा कि एक्स-रे मशीन का अविष्कार गलती से ही हुआ था। दरअसल, एक फेमस साइंस वैज्ञानिक 'विलहम रोएंटगन' कैथोडिक रेज ट्यूब बनाना चाह रहे थे। उनके शोध के दौरान अचानक एक लाइट चमकने लगी, तभी उन्होनें देखा कि अपारदर्शी कवर के बावजूद नीचे रखा पेपर दिखाई दे रहा था। इसे देखकर वो अचम्भित रह गए और ऐसे एक्स-रे का अविष्कार हुआ।

पोटैटो चिप्स का हुआ गलती से अविष्कार 

चाय हो या कॉफी, दोनों के साथ ही पोटैटो चिप्स बहुत ही स्वादिष्ट लगते हैं।हल्की-फुल्की भूख लगने पर भी चिप्स एक बेहतर विकल्प साबित होता है। लेकिन आपको शायद नहीं पता होगा कि पोटैटो चिप्स की खोज भी गलती से हुई है, हुआ कुछ यूं कि जॉर्ज क्रम नाम के शेफ अपने एक कस्टमर के लिए फ्रेंच फ्राई तैयार कर रहे थे। कस्टमर ने कहा कि फ्रेंच फ्राई थोड़ी पतली और कुरकुरी हो। जॉर्ज ने ऐसा ही किया और इस तरह से पोटैटो चिप्स बनी।

पेसमेकर की खोज भी हुई गलती से

पेसमेकर, जिसकी बदौलत कई दिलों की धड़कन वापस मिली हैं। इसका अविष्कार भी गलती से हुआ था। दरअसल इलेक्ट्रिक इंजीनियर 'जॉन होप्स' के प्रोजेक्ट पर कार्य कर रहे थे, इस दौरान उन्हें एहसास हुआ कि अगर दिल ठंड के कारण धड़कना बंद कर दे, तो कृत्रिम उत्तेजना पैदा करने से यह फिर से धड़कना शुरू कर देता है। इस प्रकार पेसमेकर अस्तित्व में आया।

पेनिसलीन का अविष्कार

वैज्ञानिक 'अलेक्जेंडर फ्लेमिंग' घाव को भरने वाली एक चमत्कारी दवा का अविष्कार करने की कोशिश कर रहे थे।लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिल रही थी, इसलिए गुस्से में उन्होनें एक्सपेरिमेंट की गई चीजों को बाहर फेंक दिया। कुछ दिनों बाद उन्होनें ध्यान दिया कि बाहर जहां वो चीज़े फेंकी थी, वहां के बैक्टिरिया मर गए थे। तब जाकर पेनिसिलीन का अविष्कार हुआ। 

यूं हुई 'इंक जेट' प्रिंटर की खोज

रोज़मर्रा की ज़िदंगी में प्रिंटर एक बहुत काम की चीज़ बन गया है। इसका अविष्कार भी एक केनन इंजीनियर द्वारा गलती से हुआ था। दरअसल एक केनन इंजीनियर ने गलती से अपने पेन के ऊपर गर्म आयरन रख दिया। कुछ देर के बाद उसके पेन से इंक निकलने लगी, जिसके बाद उसने इंक जेट प्रिंटर्स की खोज की।

ऐसे इजाद हुआ आपका चहेता कोकाकोला

कोकाकोला का टेस्ट सभी के दिल को लुभाता है। गर्मी के मौसम में तो कोकाकोला कुछ ज़्यादा ही पसंद आता है, आपको जानकर हैरानी होगी कि कोकाकोला की खोज भी एक संयोग ही थी। सिर दर्द के इलाज के लिए दवा बनाने के लिए एक फार्मासिस्ट ने कोला नट और कोला की पत्तियों का इस्तेमाल किया। इसके बाद उसने संयोगवश दोनों को कार्बोनेटेड वाटर यानी की सोडा वाटर के साथ मिला दिया। ऐसे बना कोकाकोला।

ऐसे हमारी ज़िदंगी का हिस्सा बना माइक्रोवेव

खाना गर्म करना हो या हल्का-फुल्का कुछ बनाना हो, सबसे पहले ख्याल आता है माइक्रोवेव का। माइक्रोवेव का आविष्कार पर्सी स्पेंसर ने गलती से किया था। वे नए वैक्यूम ट्यूब के जरिए रडार से जुड़े रिसर्च कर रहे थे। इस दौरान गलती से माइक्रोवेव का अविष्कार हुआ।

वियाग्रा के बनने के पीछ है ये कहानी

फाइजर के दर्द से छुटकारा दिलाने के लिए एक दवा बनाई। ये दवा दर्द का इलाज करने में तो असफल रही लेकिन पुरुषों की यौन शक्ति बढ़ाने में यह बहुत ही कारगर साबित हुई। इसे वियाग्रा के नाम से बाजार में उतारा गया।

ये भी पढ़े: Sarahah का इस्तेमाल तो जरूर किया होगा लेकिन क्या आप वाकिफ है इससे होने वाले खतरों से


Tags:

Related Articles

Popular Posts

Photo Gallery

Images for fb1
fb1

STAY CONNECTED